सूक्ष्म जीव संरचना

Sukshma Jeev Sanrachana

GkExams on 19-02-2019






जीवाणुओं का एक झुंड


वे जीव जिन्हें मनुष्य नंगी आंखों से नही देख सकता तथा जिन्हें देखने के लिए सूक्ष्मदर्शी यंत्र की आवश्यकता पड़ता है, उन्हें सूक्ष्मजीव (माइक्रोऑर्गैनिज्म) कहते हैं। सूक्ष्मजैविकी (microbiology) में सूक्ष्मजीवों का अध्ययन किया जाता है।


सूक्ष्मजीवों का संसार अत्यन्त विविधता से बह्रा हुआ है। सूक्ष्मजीवों के अन्तर्गत सभी जीवाणु (बैक्टीरिया) और आर्किया तथा लगभग सभी प्रोटोजोआ के अलावा कुछ कवक (फंगी), शैवाल (एल्गी), और चक्रधर (रॉटिफर) आदि जीव आते हैं। बहुत से अन्य जीवों तथा पादपों के शिशु भी सूक्ष्मजीव ही होते हैं। कुछ सूक्ष्मजीवविज्ञानी विषाणुओं को भी सूक्ष्मजीव के अन्दर रखते हैं किन्तु अन्य लोग इन्हें 'निर्जीव' मानते हैं।




GkExams on 19-02-2019


Comments Sudip kumar on 19-10-2020

मलेरिया रोग का कारण है

Amir hamja on 16-09-2020

, sukshm Jeev ke Kai Char upyog likhiye

Indresh k mishra on 18-09-2018

Sabse choti cell



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment