सागवान के पत्ते के फायदे

Sagwan Ke Patte Ke Fayde

GkExams on 12-11-2018

सागवान (Teak) विशेष रूप से मालाबार, गुजरात, ब्रहा देश में पाया जाता है. वैसे जंगलों और पहाडी इलाकों में भि होता है. इसके वृक्ष ऊंचे लगभग चालीस से पचास फीट तक होते हैं. इसकी लकड़ी काफी मजबूत होती है. इसकी छाया अत्यंत घनी और शीतल होती है. इस पेड़ की खाशियत है. इस पर पतझड़ का कोई असर नहीं होता है. ये हमेशा हरे भरे रहते हैं.

मजबूती के आधार पर इसकी लकड़ी सबसे मजबूत होती है. ये जितनी पुरानी होती है. उतनी ही मजबूत होती है. इसकी लकड़ी काफी मजबूत होती है. इसकी छाया अत्यंत घनी और शीतल होती है. इस पेड़ की खाशियत है. इस पर पतझड़ का कोई असर नहीं होता है. ये हमेशा हरे भरे रहते हैं.


इसके पत्ते बड़े होते हैं. इसके पत्तों का रस खून की तरह लाल होता है. इसकी लकड़ी पानी में रह कर भी सिकुडती नहीं है. अर्श, वायु, पित्त, अतिसार, कुष्ठ, प्रमेह कफ आदि में उपयोगी होता है.





Comments शना अंजुम on 24-01-2021

सागवन के पत्ते का इस्तेमाल

mahesh on 05-01-2021

dhanyavad

Dead on 09-01-2020

Sagwan patte ka upyog toh bataye hi nahi

Anchita on 04-01-2020

Sagwan Patti ke upyog toh bataye hi nahi

Anshika on 05-12-2019

Aapne toe shirf sagwan ke baare main bataya uski patiyo ko chodhke

Bhawani ram Bhawani ram Bhawani ram on 23-10-2019

Sagwan ke patte se kaun si dawai banti hai


Sagwan ke patyo ks use Sagwan ke patte on 26-02-2019

Uska use

ध्रुव द्विवेदी on 23-02-2019

क्या सागवान के पत्ते से दवाई बनती हैं।?

Sakshi sharma on 27-01-2019

Sangwan ke patte ka rakh



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment