प्रमुख सचिव राजस्व उत्तर प्रदेश

Pramukh Sachiv Rajaswa Uttar Pradesh

GkExams on 26-11-2018



श्री अरविन्द कुमारश्री अरविन्द कुमार प्रमुख सचिवकक्ष संख्या 123
श्री लाल बहादुर शास्त्री भवन,लखनऊ
2215061, 2238291, 2237410 (फैक्स)9454405001-psecup.home@nic.in



Comments MEGHRAJ SINGH on 26-08-2021

सेवा में

श्रीमान संयुक्त सचिव राजस्व भारत सरकार नई दिल्ली

माननीय राज्यपाल महोदय, राजभवन उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ

माननीय मुख्य मंत्री जी / मुख्य सचिव महोदय उत्तर प्रदेश सरकार लखनऊ

श्रीमान अपर मुख्य सचिव / प्रमुख सचिव/ सचिव महोदय

राजस्व एवं आपदा प्रवंधन विभाग उत्तर प्रदेश सरकार लखनऊ

श्रीमान आयुक्त एवं सचिव महोदय राजस्व परिषद् उत्तर प्रदेश शासन लखनऊ

पत्रांक संख्या - 2145/2021 दिनाँक: 26/08/2021

विषय - दिनांक 29-12-2020 को उ०प्र० तृतीय संशोधन नियमावली 2020 के क्रम में विशेष सचिव उ० प्र० शासन के आदेश का अनुपालन कराते हुए, मेरे दवारा प्रस्तुत वाद पत्र दिनांक 23-06-2021 को उ०प्र० रा0 संहिता तृतीय संशोधन पत्रांक सं० 1560/एक -1-2020 रा०-1 लखनऊ दि0 29-12-2020 संशोधित नियमावली के नियम 22 के 24(6) के तहत राजस्व न्यायालय कंप्यूटरीकृत प्रबन्धन प्रणाली में केश दर्ज कर अग्रिम कार्यवाही किये जाने मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश संख्या 1/2018/117 / पैतीस-2 -2018-3 /39(4)/18 का अनुपालन कृते हुए जांच किसी अन्य अधिकारी से निस्तारण कराये जाने वावत

संदर्भ:1- विशेष सचिव उ० प्र० (शिकायत संख्या 41016321000097 में) शासन राजस्व अनुभाग -1 पत्रांक संख्या 1601/एक -1-2020- रा०

2- उ०प्र० रा0 संहिता तृतीय संशोधन पत्रांक सं 1560/एक -1-2020 रा०-1 लखनऊ दि0 29-12-2020

3- दिनाँक 30-06-2021 IGRS शि० संदर्भ 40016321007325 के रीडर ज्ञानेंद्र बर्मा निस्तारण रिपोर्ट

4-दिनाँक 14-07-2021 IGRS शि० संदर्भ 40016321008052 के लेखपाल एवं राजस्व निरीक्षक निस्तारण रिपोर्ट

5-दिनाँक 25-08-2021 IGRS शि० संदर्भ 40016321009940 के लेखपाल एवं राजस्व निरीक्षक निस्तारण रिपोर्ट



महोदय,

आपके व्यस्त ध्यान को ध्यानोपार्जन करते हुए श्रद्धापूर्वक निवेदन है कि मेरे द्वारा दिनाँक 23-07-2021 को सभी प्रपत्रों एवं दिनाँक को 17-05-2021 न्यायालय शुल्क 1000 जमा रसीद संलग्न कर पत्रावली, मा० न्यायालय उपजिला अधिकारी तहसील सिकंदरा कानपुर देहात से संतुति करवाकर बाद पत्र रीडर महोदय को प्रस्तुत किया था, उस पत्रावली को उत्तर प्रदेश तृतीय संशोधित राजस्व नियमवाली 2020 के तहत अनुपालन नहीं हुआ है रीडर महोदय ने शि० संदर्भ 40016321007325 के रीडर ज्ञानेंद्र बर्मा निस्तारण रिपोर्ट दिनाँक 06/07/2021 के अनुसार राजस्व निरीक्षक को जांच हेतु भेज दी मेरे द्वारा ज्ञानेंद्र बर्मा के Whatapp Mob.- 9415418112 पर उक्त वर्णित शासनादेश भेज उनके मोबाइल नंबर 8707311148 से विस्तृत चर्चा आज तक पत्रावली दर्ज नहीं की गई |

वही जब शिकायत संख्या 40016321008052 इसकी रिपोर्ट लगवाने हेतु दर्ज की गई तो लेखपाल एवं राजस्व निरीक्षक द्वारा यह रिपोर्ट लगा दी की पत्रावली के जांचो परान्त पैमाइस के लिए गठित टीम के बाद ही रिपोर्ट लगाई जाएगी |

मेरे द्वारा दिनाँक 12 /08/2020 को शिकायत दर्ज की गई उसकी रिपोर्ट दिनाँक 25-08-2021 IGRS शि० संदर्भ 40016321009940 के लेखपाल एवं राजस्व निरीक्षक निस्तारण रिपोर्ट तृतीय राजस्व संहिता संशोधन नियामवली 2020 के अनुसार नियमावली 22 की में वर्णित धारा 24(6) के तहत राजस्व न्यायालय कम्प्यूटरीकृति प्रवंधन प्रणाली के तहत वाद दर्ज करा नोटिस जारी कर अग्रिम कार्यवाही की जाय |

इस पर कार्यवाही राजस्व न्यायालय उपजिला अधिकारी तहसील सिकंदरा कानपुर देहात ने तो नहीं की परन्तु लेखपाल ने रिपोर्ट लगा दी पानी अधिक भरा होने के कारण खेत की मिट्टी सुख नहीं पाई इसे में पैमाइस कर पाना सम्भव नहीं जब कि सत्य यह है कि जो खेत 5 से 7 फ़ीट खेतो जो बाँध के रूप में उनमें फसल बो दी गई परन्तु यह भ्रष्ट लेखपाल कृषि भूमि में सिविल वाद चलने की रिपोर्ट लगा देता (शिकायत संख्या 41016321000097 में) वही नक्शो की भौगोलिक स्थिति बदल कर रास्ताओ पर कब्जा करवा देता(शिकायत संख्या 40016321002612 में) यह जब तक रिश्वत नहीं ले लेता तक तक पैमाइस या रिपोर्ट नहीं लगाएगा यदि लगाएगा तो वह भी गलत |

न ही रीडर महोदय ने राजस्व परिषद् उ० प्र० अनुभाग -13 (न्याय ) संख्या 2589 / कार्ययोजना -13 (न्याय) लखनऊ दिनाँक 26-08 -2019 का भी पालन नहीं किया जा रहा विना मेरे वाद को दाखिल किये ही पत्रावली स्ताहानातरित कर दी गई |

उपजिला अधिकारी महोदय तहसील सिकंदरा कानपुर देहात के आदेश बाद भी रीडर महोदय दवारा पत्रावली राजस्व न्यायालय प्रकरण में राजस्व निरीक्षक कह रहे टीम गठित के बाद जांच होंगी टीम गठित तभी होगी जब बाद कंप्यूटरीकृत दर्ज नहीं होगा लेकिन रीडर महोदय उत्तर प्रदेश राजस्व सहिंता (तृतीय संशोधन) नियमावली 2020 नियम 22 को संशोधन के तहत 22 (9) स्तम्भ -2 के तहत जांच एक माह पूर्ण करेगा वह भी नहीं की गई | इसके अनुपालन कराये हेतु पत्रांक संख्या - 2143/2021 दिनाँक: 12/08/2021 के तहत इस प्रकरण को अधिकारी महोदय एवं अपर अधिकारी महोदय को संलग्न को सहित ईमेल किया परन्तु कोई कार्यवाही नहीं की गई |

यह तृतीय संशोधन नियमावली एवं महेंद्र सिंह विशेष सचिव उ० प्र० शासन राजस्व अनुभाग ने आदेश का अनुपालन नहीं किया गया तहसील सिकंदरा के राजस्व न्यालाय उपजिला अधिकारी महोदय दवारा अवमानना की गई है | प्रकरण उचित कार्यवाही हेतु पत्रावली सादर प्रेषित है ।

प्रार्थना

श्रीमान से विनम्र गुजारिश है कि उक्त प्रकरण पर संदर्भ पत्रों को संज्ञान में लेकर उचित कार्यवाहीउ० प्र० राजस्व संहिता 2006 की धारा 24(1) के तहत दिनाँक 23/06/2021 को प्रस्तुत पत्रावली के तहत उचित कार्यवाही हेतु सदर प्रेषित है | उ०प्र० राजस्व संहिता 2006 की धारा 24(9) के तहत जाँच पूर्ण होनी चाहिए जाँच पूर्ण होनी चाहिए परन्तु राजस्व निरीक्षक से कई बार मिले उसने भी जांच नहीं की |

प्रकरण की टीम गठित कर जांच करा दोषियों के विरुद्ध उचित कारवाही करे |

मुख्य सचिव उत्तर प्रदेश सरकार के आदेश संख्या 1/2018/117 / पैतीस-2 -2018-3 /39(4)/18 का अनुपालन तो दूर इसके उलंघन करने वाले जिसके विरुद्ध शिकायत वही जांच करने वाले अधिकारी को ससपेंड करते हुए इसका अनुपालन कराया जाय |

वर्तमान प्रावधानों के तहत उचित कार्यवाही कर अतिशीघ्र बाद पत्र का निदान कराया जाय ।

सादर धन्यवाद ।

प्रार्थी

मेघराज सिंह मानव अधिकार आर टी आई कार्यकर्ता

आशीष कुमार राजपूत अधिवक्ता

ग्राम बिलासपुर तहसील सिकंदरा कानपूर देहात

संलग्नक 1- उपरोक्तानुसार वर्णित सभी संदर्भ |

2-राजस्व परिषद् उ० प्र० अनुभाग -13 (न्याय ) संख्या 2589 / कार्ययोजना -13 (न्याय) लखनऊ दिनाँक 26-08 -2019 की सत्य प्रतिलिपि

प्रतिलिपि -

1- श्रीमान अधिकारी महोदय जनपद कानपुर देहात

2-श्रीमान अपर जिला अधिकारी वित्त एवं राजस्व जनपद कानपुर देहात

3-श्रीमान अपर जिला अधिकारी प्रशासन जनपद कानपुर देहात

आवश्यक कार्यवाही हेतु सूचनार्थ

4 - श्रीमान न्यायालय उपजिला अधिकारी महोदय / रीडरन्यायालय उपजिला अधिकारी

तहसील


Magan prajapati on 19-08-2021

MahoDay mere vipachhi ki zameen se pakka damar road nikla hai jo ki nakshe darj nahi hai aur vipachhi road ke is par kabja kar rha hai mere zameen ke samne kya kare kis adhikari ko prathana patr de krpya uchit margdarshan de
apki ati kripa hogi.

MOHD ARIF on 14-02-2021

EVER RES PECTED SIR ,
Its to request that my dues has not being cleared yet today :ie 14 th Feb 2021.
May i request yourhonour personally as per yourhonours permission may kindly be granted.
With Regards ,
MOHD ARIF, Rtd.H.C./UDC OFFICE OF A.D.M.L.A. 2nd N.M.P.LUCKNOW
MOB.NO.9140424760


Rakesh Kumar giri on 22-01-2021

महोदय
Nagar Panchayat बख्शी का तालाब के ग्राम चकागंजा गिरि मे रुकमणी बिहार आवास कालोनी अवैध रूप से बसाई जा रही जिसमें ग्राम समाज की भूमि जैसे नाली, चाकमर्ग, युवक मंगल दल, स्कूल, खेल मैदान, को को मिलाकर प्लाटिंग कर दिया जिसमें तहसील का पूरा सहयोग है कई बार शिकायत किया गया उल्टा गंव वालो को धमकी मिल रही।
कया यह जमीन कब्जे से मुक्त हो सकती है कान्हा शिकायत किया जाय।


Om prakash Singh on 02-12-2020

सेवा में

श्रीमान जिलाधिकारी महोदय तहसील सदर जनपद सुलतानपुर उत्तर प्रदेश

Subject

प्रार्थी के बुजुर्ग पिता को बहला-फुसलाकर दबंग भाइयों द्वारा अपनी गुन्डई के बल पर जबरन बेचवाए गए खेत का बैनामा(003480 हेक्टेयर ) निरस्त करवाया जाए अथवा क्रेता गुड्डा देवी से लिए गए रुपए पैसे में प्रार्थी को भी हिस्सा दिलवाए जाने के संबंध में

महोदय

सविनय निवेदन है कि प्रार्थी ग्राम रामपुर पोस्ट बिकना विकास खंड

दूबेपुर थाना धम्मौर परगना मीरानपुर तहसील सदर जनपद

सुल्तानपुर उत्तर प्रदेश 227408 का स्थाई निवासी है प्रार्थी के बुजुर्ग पिता श्री तेज बहादुर पुत्र स्वर्गीय चंद्रपाल सिंह जिसकी मानसिक व शारीरिक स्थिति अत्यंत ही दयनीय पागल है जिसकी देखरेख परवरिश इलाज प्रार्थी व प्रार्थी का परिवारवासी आज तक करते चले आ रहे हैं प्रार्थी के छोटे भाई प्रेमप्रकाश व ज्ञानप्रकाश सिंह जिस की दबंगई व राजनीतिक पकड़ है के बल पर राजस्व ग्राम भांई के पुशैनी पूर्वजों की जमीन खाता संख्या 254 के खसरा संख्या 698 का 003480 हेक्टेयर को गुड्डा देवी पत्नी राधेश्याम यादव निवासी झींगुरगंज मजरे दिखौली सुलतानपुर को लगभग दस लाख रुपए में बिना बडे भाई ओम प्रकाश सिंह के ना मौजूदगी में आनन फ़ानन में जबरन बेचवा दिए हैं जो कि सरासर अन्याय हो रहा है और मना करने पर हम सब को डराया धमकाया बहला फ़ुसलाकर कर बोले कि मैं बाद में रुपए पैसे दूँगा जबकि आज तक कोई भी रुपए पैसे नहीं दिया गया है और प्रार्थी को जबरन घर से बाहर ही निकाल दिया है

अतः श्रीमान जी से निवेदन है कि प्रार्थी के बुजुर्ग पिता से जबरन बेचवा दिए गए जमीन का बैनामा निरस्त करवाया जाए अथवा गुड्डा देवी से प्राप्त धनराशि में प्रार्थी को भी हिस्सा दिलवाया जाए ताकि उज्जवल भविष्य सुरक्षित रह सके

महती कृपा होगी



प्रार्थी

ओम प्रकाश सिंह पुत्र श्री तेज बहादुर सिंह

निवासी ग्राम रामपुर पोस्ट बिकना थाना धम्मौर तहसील व जनपद सुलतानपुर उत्तर प्रदेश 227408

Mob 6393644827


अखिलेश on 26-11-2020

महोदय यदि पोखरी के नंबर पर व नवीन परती पर फर्जी रिपोर्ट लगायी जाती है तो इसकी जानकारी किस अधिकारी महोदय को दी जाएँ


Arun singh on 18-11-2020

ऑनलाइन आवेदन किए जाने के पश्चात कितने कार्य ।दिवसों में निर्विवाद वरासत अंकित किए जाने का प्रावधान है

Anil kumar tiwari on 10-10-2020

महोदय, आप सभी अधिकारियों द्वारा अपने अधीनस्थ निचले अधिकारियों कर्मचारियों में कार्य प्रणाली में सुधार लाने हेतु तमाम आदेश निर्देश दिये जाते हैं परन्तु उनमे कोई सुधार/परिवर्तन नही हो रहा है। कष्ट इस बात का है कि हमारे जनपद अयोध्या में मृत हुए उनके आश्रितों की वरासत ऑनलाइन करने के पश्चात भी पैसे के चक्कर में 1माह से लेकर3माह के बीच ही हो पाती है।और पीड़ित के चक्कर लगाते हैं।ये मेरे जनपद अयोध्या के सारी तहसीलों की हालत है ।जिसका मैं स्वयं एक पीड़ित हूँ।महोदय इस बात की रिपोर्ट ऑनलाइन आवेदन तिथि से लेते हुए सभी तहसीलों से प्रगति आख्या मंगाई जाए सबसे ज्यादा खराब हालत बीकापुर तहसील,व सदर तहसील की है।
अनिल कुमार तिवारी
ग्राम बेलगरा तहसील बीकापुर
जनपद ,अयोध्या यू0पी
मो0 6394815120


Budha Devi on 12-09-2020

सेवा में
श्रीमान प्रमुख सचिव राजस्व उत्तर प्रदेश
महोदय जी
सविनय निवेदन है कि प्रार्थिनी बुद्धा देवी पत्नी स्व दशरथ राम ग्राम पोस्ट छोटा मिर्जापुर खुर्द जिला मिर्जापुर की मूल निवासिनी हूं | मैने दिनांक 5/9/90 को आराजी नंबर 185 मी रकबा 0.016 हे0 जमीन बैनामा लिया है मकान बनाकर आबाद हूं नामांकन की प्रक्रिया में धारा 166/167 से बाधित होने के कारण 30/6/92 को उत्तर प्रदेश राज्य सरकार दर्ज हो गया पुन: प्रार्थना पत्र भी 20/1/12 को निरस्त हो गया | पुन: प्रार्थना पत्र से 28/2/18 को नाम दर्ज हो गया 7/2/19 को आपत्ति हुई और 27/2/20 को आपत्ति निरस्त हो गई और 27/2/20 कोही खतौनी से मेरा नाम भी निरस्त हो गया |
अतः श्रीमान जी से निवेदन है की धारा 168 के अंतर्गत 166/167 से बाधित जमीनों को 20 % या 30% राजस्व शुल्क जमा कर नामांतरण की प्रक्रिया के लिए आदेशित करें जिससे भविष्य में कोई अप्रिय घटना ना होने पाए (सपा शासन में यह आदेश आया था) 30 वर्षों से मैं दौड़ते दौड़ते थक गई हूं|
नाम बुद्धा देवी
पत्नी स्वर्गीय दशरथ
ग्राम व पोस्ट मिर्जापुर खुर्द तहसील चुनार जिला मिर्जापुर
mob. 7706060716


Neeraj gautam on 26-08-2020

Good

Pravesh kumar tripathi on 26-07-2020

सेवा में,
श्रीमान जिलाधिकारी महोदय जौनपुर
महोदय जी ,
सविनय निवेदन है कि प्रार्थी प्रवेश कुमार त्रिपाठी पुत्र स्वर्गीय वीरेंद्र त्रिपाठी ग्राम पनौली परगना अंगुली तहसील शाहगंज जिला जौनपुर का निवासी है। ग्राम पनौली में प्रार्थी के पिता का मनराजी बनाम अर्जुन लाल तथा वीरेंद्र देव त्रिपाठी बनाम अर्जुन आदि में सुलहनामा के आधार पर 298 बटा 1 में 16 डिसमिल में 8 डिसमिल प्राप्त हुआ था। जिसके आधार पर वीरेंद्र देव त्रिपाठी अपने भाई रविंद्र त्रिपाठी के साथ का काबिज दाखिल चले आ रहे हैं ,तथा उनकी मृत्यु के पश्चात् उनके उत्तराधिकारी प्रार्थी व उसके भाई तथा माता इसमें काबिज दाखिल होकर लगातार इस्तेमाल करते चले आ रहे हैं। सुलहनामा न्यायालय सहायकबंदोबस्त अधिकारी की प्रमाणित प्रति की छायाप्रति प्रार्थना पत्र के साथ संलग्न है ।प्रार्थी के विपक्षी विजय राज यादव आदि प्रार्थी द्वारा अपनी अविवादित आबादी में कराए जा रहे सीढ़ी निर्माण में बिलावजह अवरोध उत्पन्न कर रहे हैं तथा उक्त आबादी भूमि को भूमिधरी आबादी जिसकी खाता संख्या 391ग ,407क है तथा जिसका प्रकीर्णवाद संख्या 26/11 विरेन्द्र बनाम राम अवध , विशेष जज (E.C.Act) जौनपुर में चल रहा हैं का भाग बताकर जबरन अवरोध उत्पन्न कर रहे हैं। श्रीमान जी आबादी जिसकी खाता संख्या 391ग ,407क है तथा जिसका प्रकीर्णवाद संख्या 26/11 विरेन्द्र बनाम राम अवध , विशेष जज (E.C.Act) जौनपुर में चल रहा है तथा जिसका कमीशन रिपोर्ट मय नजरी नक्शा मे विवादित स्थल को A B C D A से प्रदर्शित किया गया है। उक्त कमीशन मय नजरी नक्शा में विवादित स्थान A B C D A से एकदम अलग उत्तर तरफ प्रार्थी द्वारा सीढ़ी निर्माण कार्य कराया जा रहा है जिसे विपक्षीगढ़ विजय राज यादव पुत्र स्वर्गीय राम अवध यादव व उसके हिली मिली मददगार अनधिकृत रूप से विवादित मुकदमाधीन संपत्ति का भाग बताकर अवरोध उत्पन्न कर रहे हैं । जबकि उन्हें इस बाबत अधिकार प्राप्त नहीं है और न ही उसका प्रार्थी के हिस्से की आबादी भूमि से किसी भी प्रकार का वास्ता सरोकार ही है । प्रार्थी के14 दिनों में सीढ़ी का 3/4 कार्य पूरा हो चुका है । 16-06- 2020 को मैंने थाना खुटहन में विजय राज यादव के खिलाफ एप्लीकेशन दिया। दिनांक 17-06-2020 को दोनों पक्ष SHO खुटहन(श्री रणजीत उपाध्याय जी) के समक्ष उपस्थित हुए दोनों पक्षों की बात सुनने के बाद विजय राज यादव के पास ठोस सबूत व कारण न होने के कारण SHO खुटहन ने उनको समझाया। विजय राज यादव के न मानने पर मैंने एसडीएम शाहगंज से खुटहन SHO के लिए जांच का आदेश करवाया ।21-06-2020 को सिपाही हरिशंकर यादव जी ने दोनों पार्टियों के सामने स्थलीय निरीक्षण किया और मेरे निर्माण कार्य को सही बताया। मेरे आग्रह करने पर एसएचओ खुटहन ( रणजीत उपाध्याय जी) ने स्वयं स्थलीय निरीक्षण किया। मैंने सारा पेपर उनके समक्ष रखा । SHO खुटहन ने मेरे निर्माण कार्य को सही बताते हुए विपक्षी को समझाया तथा उसके सामने मुझे निर्माण कार्य जारी करने का मौखिक आदेश दिया। लेकिन अगले दिन मनबढ़ एवं दबंग विजय राज यादव मेरे मिस्त्रियों से दबंगई दिखाते हुए उन्हें काम पर आने से मना कर दिया। तथा मेरे साथ मारपीट करने पर आमादा है। मैं SHO उपाध्याय जी के पास जाकर इस बात की सूचना दी और उनसे पुलिस सहायता मांगी ताकि मैं अपना निर्माण कार्य शांतिपूर्वक करा सकूँ।इस पर SHO खुटहन ने मुझे कोई जबाब नहीं दिया। श्रीमान जी मैं मारपीट नहीं करना चाहता लेकिन SHO खुटहन मेरी सहायता नहीं कर रहे हैं और न ही मनबढ़ एवं दबंग व्यक्ति विजय राज यादव के ऊपर कोई कार्यवाही कर रहे हैं ।श्रीमान जी मैं एक निजी विद्यालय मे शिक्षक हूँ। tution , coaching द्वारा बडी मेहनत से पैसा बचा कर अपनी पैत्रिक आबादी मे सीढ़ी निर्माण कर रहा हूँ, लेकिन दबंग व मनबढ़ पडोसी जबरदस्ती विवादित बता कर अवरोध उत्पन्न कर रहा हैं।
विपक्षीगढ़ विजय राज यादव विना किसी आधार के गलत तरीके से प्रार्थी के सीढ़ी निर्माण में अवरोध उत्पन्न कर रहे हैं ।विपक्षी विजय राज यादव मनबढ़ व दबंग किस्म के व्यक्ति हैं तथा अपनी बिरादरी का समूह बनाकर मारपीट करने पर आमादा हैं।श्रीमान जी मैं मारपीट नहीं करना चाहता। मेरी कोई अपूर्णनीय क्षति न हो ,अतः उन्हें रोका जाना न्यायहित मे आवश्यक है ।
इसके संदर्भ में प्रार्थी द्वारा दिनांक 17 -06-2020 को मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत किया गया था जिसकी संदर्भ संख्या 40019420031602 है जिसमें हल्का लेखपाल श्री दिनेश कुमार यादव ने मेरे द्वारा प्रस्तुत प्रमाणों व कागजातों की अनदेखी करते हुए विपक्षियों के प्रभाव में आकर गलत रिपोर्ट लगाकर फर्जी ढंग से शिकायत का निस्तारण कर दिया ।
श्रीमान जी इसी प्रकरण के संबंध में मैंने एसडीएम शाहगंज से दिनांक 23 - 06 -2020 को लेखपाल साहब के लिए आदेश करवाया था ।आदेश में एसडीएम साहब ने स्पष्ट लिखा है कि लेखपाल पैमाइश करके सरहद स्पष्ट करें। लेकिन लेखपाल महोदय दिनेश कुमार यादव जी ने मेरे बार बार आग्रह करने पर भी अपने कार्य काल मे पैमाइश नहीं किया।उस आदेश को दरकिनार करते हुए , बिना पैमाइश किए हुए गलत रिपोर्ट लगाकर फर्जी तरीके से मामले का निस्तारण कर दिया ।
अतः श्रीमान जी से प्रार्थना है कि प्रार्थी द्वारा प्रस्तुत कागजात के आधार पर उच्च अधिकारी द्वारा जांच कराकर उचित विधिक कार्यवाही करने की कृपा करें।
संलग्नक-
1. विवादित जमीन का खतौनी जिसमें नंबर (खाता संख्या) दिया गया है।
2. कमीशन द्वारा दिया गया नजरी नक्शा मय रिपोर्ट ।
3. तीसरा चकबंदी अधिकारी द्वारा जारी सुलहनामा की प्रमाणित प्रति की छाया प्रति
4. संदर्भ संख्या 40019420031602 में लगाई गई गलत रिपोर्ट की छाया प्रति

प्रार्थी
प्रवेश कुमार त्रिपाठी
ग्राम पनौली, जौनपुर
मो.न.7238816028


Pravesh kumar tripathi on 26-07-2020

सेवा में,
श्रीमान राजस्व सचिव महोदय उत्तर प्रदेश सरकार लखनऊ
महोदय जी ,
सविनय निवेदन है कि प्रार्थी प्रवेश कुमार त्रिपाठी पुत्र स्वर्गीय वीरेंद्र त्रिपाठी ग्राम पनौली परगना अंगुली तहसील शाहगंज जिला जौनपुर का निवासी है। ग्राम पनौली में प्रार्थी के पिता का मनराजी बनाम अर्जुन लाल तथा वीरेंद्र देव त्रिपाठी बनाम अर्जुन आदि में सुलहनामा के आधार पर 298 बटा 1 में 16 डिसमिल में 8 डिसमिल प्राप्त हुआ था। जिसके आधार पर वीरेंद्र देव त्रिपाठी अपने भाई रविंद्र त्रिपाठी के साथ का काबिज दाखिल चले आ रहे हैं ,तथा उनकी मृत्यु के पश्चात् उनके उत्तराधिकारी प्रार्थी व उसके भाई तथा माता इसमें काबिज दाखिल होकर लगातार इस्तेमाल करते चले आ रहे हैं। सुलहनामा न्यायालय सहायकबंदोबस्त अधिकारी की प्रमाणित प्रति की छायाप्रति प्रार्थना पत्र के साथ संलग्न है ।प्रार्थी के विपक्षी विजय राज यादव आदि प्रार्थी द्वारा अपनी अविवादित आबादी में कराए जा रहे सीढ़ी निर्माण में बिलावजह अवरोध उत्पन्न कर रहे हैं तथा उक्त आबादी भूमि को भूमिधरी आबादी जिसकी खाता संख्या 391ग ,407क है तथा जिसका प्रकीर्णवाद संख्या 26/11 विरेन्द्र बनाम राम अवध , विशेष जज (E.C.Act) जौनपुर में चल रहा हैं का भाग बताकर जबरन अवरोध उत्पन्न कर रहे हैं। श्रीमान जी आबादी जिसकी खाता संख्या 391ग ,407क है तथा जिसका प्रकीर्णवाद संख्या 26/11 विरेन्द्र बनाम राम अवध , विशेष जज (E.C.Act) जौनपुर में चल रहा है तथा जिसका कमीशन रिपोर्ट मय नजरी नक्शा मे विवादित स्थल को A B C D A से प्रदर्शित किया गया है। उक्त कमीशन मय नजरी नक्शा में विवादित स्थान A B C D A से एकदम अलग उत्तर तरफ प्रार्थी द्वारा सीढ़ी निर्माण कार्य कराया जा रहा है जिसे विपक्षीगढ़ विजय राज यादव पुत्र स्वर्गीय राम अवध यादव व उसके हिली मिली मददगार अनधिकृत रूप से विवादित मुकदमाधीन संपत्ति का भाग बताकर अवरोध उत्पन्न कर रहे हैं । जबकि उन्हें इस बाबत अधिकार प्राप्त नहीं है और न ही उसका प्रार्थी के हिस्से की आबादी भूमि से किसी भी प्रकार का वास्ता सरोकार ही है । प्रार्थी के14 दिनों में सीढ़ी का 3/4 कार्य पूरा हो चुका है । 16-06- 2020 को मैंने थाना खुटहन में विजय राज यादव के खिलाफ एप्लीकेशन दिया। दिनांक 17-06-2020 को दोनों पक्ष SHO खुटहन(श्री रणजीत उपाध्याय जी) के समक्ष उपस्थित हुए दोनों पक्षों की बात सुनने के बाद विजय राज यादव के पास ठोस सबूत व कारण न होने के कारण SHO खुटहन ने उनको समझाया। विजय राज यादव के न मानने पर मैंने एसडीएम शाहगंज से खुटहन SHO के लिए जांच का आदेश करवाया ।21-06-2020 को सिपाही हरिशंकर यादव जी ने दोनों पार्टियों के सामने स्थलीय निरीक्षण किया और मेरे निर्माण कार्य को सही बताया। मेरे आग्रह करने पर एसएचओ खुटहन ( रणजीत उपाध्याय जी) ने स्वयं स्थलीय निरीक्षण किया। मैंने सारा पेपर उनके समक्ष रखा । SHO खुटहन ने मेरे निर्माण कार्य को सही बताते हुए विपक्षी को समझाया तथा उसके सामने मुझे निर्माण कार्य जारी करने का मौखिक आदेश दिया। लेकिन अगले दिन मनबढ़ एवं दबंग विजय राज यादव मेरे मिस्त्रियों से दबंगई दिखाते हुए उन्हें काम पर आने से मना कर दिया। तथा मेरे साथ मारपीट करने पर आमादा है। मैं SHO उपाध्याय जी के पास जाकर इस बात की सूचना दी और उनसे पुलिस सहायता मांगी ताकि मैं अपना निर्माण कार्य शांतिपूर्वक करा सकूँ।इस पर SHO खुटहन ने मुझे कोई जबाब नहीं दिया। श्रीमान जी मैं मारपीट नहीं करना चाहता लेकिन SHO खुटहन मेरी सहायता नहीं कर रहे हैं और न ही मनबढ़ एवं दबंग व्यक्ति विजय राज यादव के ऊपर कोई कार्यवाही कर रहे हैं ।श्रीमान जी मैं एक निजी विद्यालय मे शिक्षक हूँ। tution , coaching द्वारा बडी मेहनत से पैसा बचा कर अपनी पैत्रिक आबादी मे सीढ़ी निर्माण कर रहा हूँ, लेकिन दबंग व मनबढ़ पडोसी जबरदस्ती विवादित बता कर अवरोध उत्पन्न कर रहा हैं।
विपक्षीगढ़ विजय राज यादव विना किसी आधार के गलत तरीके से प्रार्थी के सीढ़ी निर्माण में अवरोध उत्पन्न कर रहे हैं ।विपक्षी विजय राज यादव मनबढ़ व दबंग किस्म के व्यक्ति हैं तथा अपनी बिरादरी का समूह बनाकर मारपीट करने पर आमादा हैं।श्रीमान जी मैं मारपीट नहीं करना चाहता। मेरी कोई अपूर्णनीय क्षति न हो ,अतः उन्हें रोका जाना न्यायहित मे आवश्यक है ।
इसके संदर्भ में प्रार्थी द्वारा दिनांक 17 -06-2020 को मुख्यमंत्री पोर्टल पर शिकायत किया गया था जिसकी संदर्भ संख्या 40019420031602 है जिसमें हल्का लेखपाल श्री दिनेश कुमार यादव ने मेरे द्वारा प्रस्तुत प्रमाणों व कागजातों की अनदेखी करते हुए विपक्षियों के प्रभाव में आकर गलत रिपोर्ट लगाकर फर्जी ढंग से शिकायत का निस्तारण कर दिया ।
श्रीमान जी इसी प्रकरण के संबंध में मैंने एसडीएम शाहगंज से दिनांक 23 - 06 -2020 को लेखपाल साहब के लिए आदेश करवाया था ।आदेश में एसडीएम साहब ने स्पष्ट लिखा है कि लेखपाल पैमाइश करके सरहद स्पष्ट करें। लेकिन लेखपाल महोदय दिनेश कुमार यादव जी ने मेरे बार बार आग्रह करने पर भी अपने कार्य काल मे पैमाइश नहीं किया।उस आदेश को दरकिनार करते हुए , बिना पैमाइश किए हुए गलत रिपोर्ट लगाकर फर्जी तरीके से मामले का निस्तारण कर दिया ।
अतः श्रीमान जी से प्रार्थना है कि प्रार्थी द्वारा प्रस्तुत कागजात के आधार पर उच्च अधिकारी द्वारा जांच कराकर उचित विधिक कार्यवाही करने की कृपा करें।
संलग्नक-
1. विवादित जमीन का खतौनी जिसमें नंबर (खाता संख्या) दिया गया है।
2. कमीशन द्वारा दिया गया नजरी नक्शा मय रिपोर्ट ।
3. तीसरा चकबंदी अधिकारी द्वारा जारी सुलहनामा की प्रमाणित प्रति की छाया प्रति
4. संदर्भ संख्या 40019420031602 में लगाई गई गलत रिपोर्ट की छाया प्रति

प्रार्थी
प्रवेश कुमार त्रिपाठी
ग्राम पनौली, जौनपुर
मो.न.7238816028


Devendra pal singh on 20-07-2020

महोदय कृपया सूचित करने की कृपा करें कि धारा 52 से पहले राजस्व विभाग द्वारा पट्टी किए जा सकते हैं या नहीं

Sweta on 23-06-2020

महोदय जनपद मैंनपुरी में गाटा संख्या 566/0.380हे का फर्जी आवंटन राजकुमार पुत्र रामशरन व राजवती पत्नी राजकुमार निवासी बीलो को मनमानी तरीके से आवंटन कर दिया है
Sir क्या माननीय सिविल न्यायालय में विचाराधीन वाद संख्या 367/19 कमलेश वनाम राजकुमार विचाराधीन है फिर भी आवंटन करता ने तहसील कमियो की मिलीभगत से असंकमणी से संकमणी भूमि घोषित करा ली जो गलत है अत त्रि मान जी से नि


Uttamkumar on 06-06-2020

NUttamkumar

Sudhir Kumar Sharma on 01-04-2020

Sir Gunnor tehseel mein parmatma swaroop naam k biyakti ne fargi basiyat banba kar tehseel mein kanooni karwai kar rha h ye bat Gunnor tehseel mein sab adhikari jante h Fir bhi uski help karte h jab ki Mukadma no 24/2020 Gunnor thane mein h Plz sir Gunnor tehseel mein adhikriyon ko samjhao achhe se janch karbayein


bhagwati prasad on 29-03-2020

Upper mukhya Sachiv rajaswa ki adhyakshata me jo committee gathit hoyi hai uska phone number kya hai?

राजु on 27-01-2020

मेरे एकतनहा गाटा नंबर में 21/05/2019 को कब्जा करा दिऐ विपक्षी के सहमति से राजस्व विभाग की टीम मुकामी पुलिस की मौजुदगी मे सीमाकान किया गया है ‌उकत मे अवैध अतिक्रमण कब्ज है महोदय पुलिस व उपजिलाधिकारी कब्जा को नही हटवा सकते है
महोदय न्याय करे


Pintu on 21-01-2020

मामला_- क्या चकमर्ग पर लेखपाल द्वारा अवैध कब्जा करवाया जा सकता है लेखपाल विकास गौतम ग्राम परसौरी केराकत जौनपुर उ प्र द्वारा पैमाईश करके चकमार्ग150/0.0240 क पैसा लेकर गलत सीमांकन कर के अवैध कब्जा करवाना चाहता है इसके लिए कई बार प्राथना पत्र दिया जा रहा है कि चाकमर्ग का सीमांकन करवाया जाए लेकिन कहीं सुनवाई नहीं हो रही है


Lokesh on 15-01-2020

Sarkari jameen per 50 sal ka kabja hataya ja sakta hai.

अपर मुख्य सचिव राजस्व विभाग उत्तर प्रदेश on 30-12-2019

अपर मुख्य सचिव राजस्व विभाग उत्तर प्रदेश

Ravi verma on 29-11-2019

राजस्व विभाग मंत्रालय का पता

Shashi kant Shashi kant on 28-10-2018

Mahuday rajsuwa vibhag me c sangrh ssevakno ka jo niymitikarn ka mamla manniy haghi cort ke aadesh kke bad bhi poora nahi huaa he krapa kar ke ise poora karayne aap kki ati krpa hogi

Rajan on 27-08-2018

Parmukh sachiv chkbandi



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment