भारत की २२ भाषा की लिपि

Bharat Ki 22 Bhasha Ki Lipi

GkExams on 22-05-2019


भारतीय भाषा एवं उनकी लिपियों की सूची
भाषालिपिक्षेत्रप्रयोगकर्ता जनसंख्या
असमियाअसमिया लिपि मूलत: ब्राह्मी लिपि का ही एक विकसित रूप है।असम राज्य की राजभाषाएक करोड़ तीस लाख
बांग्लाबांग्ला ("বাংলা") लिपि मूलत: ब्राह्मी लिपि और असमिया लिपि का विकसित रूप है।यह बांग्लादेश और भारत के पश्चिम बंगाल, असम तथा त्रिपुरा राज्यों में बोली जाती है।20 करोड़ से अधिक
गुजरातीगुजराती ("ગુજરાતી") नागरी लिपि का नया प्रवाही स्वरूप नवीन गुजराती को इंगित करता है।गुजरात राज्य की राजभाषातीन करोड़ से अधिक
हिन्दीब्राह्मी लिपि, देवनागरी लिपि, नागरी और फ़ारसी लिपि,उत्तरी भारत, मॉरिशस व अन्य देश33.727 करोड़
कन्नड़कन्नड़ ("ಕನ್ನಡ") कन्नड़ लिपि का विकास अशोककी ब्राह्मी लिपि के दक्षिणी प्रकारों से हुआ है।कर्नाटक राज्य की राजभाषा470 लाख
कश्मीरीऐतिहासिक रूप से कश्मीरी भाषा को चार लिपियों में लिखा जाता है, शारदा, देवनागरी, फ़ारसी-अरबी और रोमन।कश्मीर की भाषा3,174,684
कोंकणीकोंकणी अनेक लिपियों में लिखी जाती रही है; जैसे - देवनागरी, कन्न्ड, मलयालम और रोमन।कोंकणी गोवा, महाराष्ट्र के दक्षिणी भाग, कर्नाटक के उत्तरी भाग, केरल के कुछ क्षेत्रों में बोली जाती है।1,522,684
मलयालममलयालम ("മലയാളം") में शलाका लिपिमलयालम भाषा मुख्यतः दक्षिण-पश्चिमी तटीय राज्य केरल में बोली जाती है, यह केरल और केंद्रशासित प्रदेश लक्षद्वीप की राजभाषा है; लेकिन सीमावर्ती कर्नाटक और तमिलनाडु के द्विभाषी समुदाय के लोग भी यह भाषा बोलते हैं।लगभग तीन करोड़ साठ लाख
मणिपुरीइस भाषा की अपनी लिपि है, जिसे स्थानीय लोग मेइतेई माएक कहते हैं।मुख्यतः पूर्वोत्तर भारत के लिए मणिपुर राज्य में बोली जाने वाली भाषा है। यह असम, मिज़ोरम, त्रिपुरा, बांग्लादेश और म्यांमार में भी बोली जाती है।लगभग लाख 80 हज़ार
मराठी"मराठी" भाषा को लिखने के लिए देवनागरी और इसके प्रवाही स्वरूप मोदी, दोनों लिपियों का उपयोग होता है।महाराष्ट्र की राजभाषा है। इसे बोलने का मानक स्वरूप पुणे (भूतपूर्व पूना) शहर की बोली है। यह भाषा गोवा, कर्नाटक, गुजरात में बोली जाती है। केन्द्रशासित प्रदेशों में यह दमन और दीव , और दादरा तथा नगर हवेली में भी बोली जाती है।लगभग करोड़
नेपाली"नेपाली"यह भाषा नेपाल के अतिरिक्त भारत के सिक्किम, पश्चिम बंगाल, उत्तर-पूर्वी राज्यों आसाम, मणिपुर, अरुणाचल प्रदेश, मेघालय तथा उत्तराखण्ड के अनेक लोगों की मातृभाषा है।160 लाख
उड़ियाउड़िया ("ଓରିୟା")उड़ीसा राज्य की राजभाषा310 लाख
पंजाबीपंजाबी ("ਪੰਜਾਬੀ")पंजाबी भाषा भारत तथा पाकिस्तान में बोली जाती है।लगभग ढाई करोड़
संस्कृत"संस्कृत"
सिंधीसिंधी भाषा मुख्यत: दो लिपियों में लिखी जाती है, अरबी-सिंधी लिपिभारत, पाकिस्तानलगभग 22 लाख
तमिलतमिल ("தமிழ்") ऐतिहासिक रूप से तमिल लेखन प्रणाली का विकास ब्राह्मी लिपि से वट्टे-लुटटु (मुड़े हुए अक्षर) और कोले-लुट्टु (लम्बाकार अक्षर) के स्थानीय रूपांतरणों के साथ हुआ।तमिलनाडु की राजभाषाविश्वभर में पाँच करोड़ से अधिक बोलने वालों में से लगभग 90% भारत में।
उर्दूउर्दू ("اردو") के लिए फ़ारसी-अरबी लिपि प्रयुक्त होती28,600,428भारत, पाकिस्तान
तेलुगुतेलुगु ("తెలుగు")आन्ध्र प्रदेश की सरकारी भाषा750 लाख
बोडोबोडो भाषा को भारत के उत्तरपूर्व, नेपाल और बांग्लादेश में रहने वाले बोडो लोग बोलते हैं।
डोगरीइसकी अपनी लिपि है, जिसे डोगरा अख्खर या डोगरे कहते हैं।जम्मू-कश्मीर राज्य की दूसरी मुख्य भाषालगभग 15 लाख
मैथिलीपहले इसे मिथिलाक्षर तथा कैथी लिपि में लिखा जाता था जो बांग्ला और असमिया लिपियों से मिलती थी पर कालान्तर में देवनागरी लिपि का प्रयोग होने लगा ।मैथिली भाषा उत्तरी बिहार और नेपाल के तराई के ईलाक़ों में बोली जाने वाली भाषा है।1 से 1.2 करोड़ लोग
संथालीझारखण्ड, असम, बिहार, उड़ीसा, त्रिपुरा, और पश्चिम बंगाल10 से 30 प्रतिशत


Pradeep Chawla on 12-05-2019



की मुख्य विशेषता यह है कि यहाँ विभिन्नता में एकता है। भारत में

विभिन्नता का स्वरूप न केवल भौगोलिक है, बल्कि भाषायी तथा सांस्कृतिक भी

है। एक रिपोर्ट के अनुसार भारत में 1652 मातृभाषायें प्रचलन में हैं, जबकि द्वारा 22 भाषाओं को की मान्यता प्रदान की गयी है। संविधान के अनुच्छेद 344 के अंतर्गत पहले केवल 15 भाषाओं को राजभाषा की मान्यता दी गयी थी, लेकिन के द्वारा को तथा 71वाँ संविधान संशोधन द्वारा , तथा को भी राजभाषा का दर्जा प्रदान किया गया। बाद में अधिनियम, 2003 के द्वारा संविधान की आठवीं अनुसूची में चार नई भाषाओं , , तथा

को राजभाषा में शामिल कर लिया गया। इस प्रकार अब संविधान में 22 भाषाओं को

राजभाषा का दर्जा प्रदान किया गया है। भारत में इन 22 भाषाओं को बोलने

वाले लोगों की कुल संख्या लगभग 90% है। इन 22 भाषाओं के अतिरिक्त भी सहायक राजभाषा है और यह , तथा की राजभाषा भी है। कुल मिलाकर भारत में 58 भाषाओं में स्कूलों में पढ़ायी की जाती है। संविधान की में उन भाषाओं का उल्लेख किया गया है, जिन्हें राजभाषा की संज्ञा दी गई है।













































भारत में 4 भाषा–परिवार

भाषा-परिवार

भारत में बोलने वालों का %

भारोपीय

73%

द्रविड़

25%

आस्ट्रिक

1.3%

चीनी–तिब्बती

0.7%







































भारतीय आर्यभाषा को तीन काल

नाम

प्रयोग काल

उदाहरण

1.प्राचीन भारतीय आर्यभाषा

1500 ई. पू.– 500 ई. पू.

वैदिक संस्कृत व लौकिक संस्कृत

2.मध्यकालीन भारतीय आर्यभाषा

500 ई. पू.– 1000 ई.

, , अपभ्रंश

3.आधुनिक भारतीय आर्यभाषा

1000 ई.– अब तक

हिन्दी और हिन्दीतर भाषाएँ – , , ,
, , , आदि।









































1.प्राचीन भारतीय आर्यभाषा

नाम

प्रयोग काल

अन्य नाम

वैदिक संस्कृत

1500 ई. पू.– 1000 ई. पू.

छान्दस् (यास्क, )

लौकिक संस्कृत

1000 ई. पू.- 500 ई. पू.

( )







































2.मध्यकालीन भारतीय आर्यभाषा

नाम

प्रयोग काल

विशेष टिप्पणी

प्रथम प्राकृत काल–

500 ई. पू.– 1 ली ई.

भारत की प्रथम देश भाषा, भगवान के सारे उपदेश पालि में ही हैं।

द्वितीय प्राकृत काल–

1 ली ई.– 500 ई.

भगवान महावीर के सारे उपदेश में ही हैं।

तृतीय प्राकृत काल– अपभ्रंश अवहट्ट

500 ई.– 1000 ई.

900 ई. – 1100 ई.



संक्रमणकालीन/
संक्रान्तिकालीन भाषा





































3.आधुनिक भारतीय आर्यभाषा (हिन्दी)

नाम

प्रयोग काल

प्राचीन हिन्दी

1100 ई. पू.– 1400 ई. पू.

मध्यकालीन हिन्दी

1400 ई. पू.- 1850 ई. पू.



1850– अब तक













भारतीय भाषा सूची



भारतीय भाषा सूची





भाषा



लिपि



क्षेत्र



प्रयोगकर्ता जनसंख्या









असमिया लिपि मूलत: का ही एक विकसित रूप है।



राज्य की राजभाषा



एक करोड़ तीस लाख









बांग्ला ("বাংলা") लिपि मूलत: और असमिया लिपि का विकसित रूप है।



यह और के , तथा राज्यों में बोली जाती है।



20 करोड़ से अधिक









गुजराती ("ગુજરાતી") नागरी लिपि का नया प्रवाही स्वरूप नवीन गुजराती को इंगित करता है।



राज्य की राजभाषा



तीन करोड़ से अधिक









, , नागरी और फ़ारसी लिपि,



उत्तरी भारत, मॉरिशस व अन्य देश



33.727 करोड़









कन्नड़ ("ಕನ್ನಡ") कन्नड़ लिपि का विकास की के दक्षिणी प्रकारों से हुआ है।



राज्य की राजभाषा



470 लाख









ऐतिहासिक रूप से कश्मीरी भाषा को चार लिपियों में लिखा जाता है, शारदा, , फ़ारसी-अरबी और रोमन।



की भाषा



3,174,684









कोंकणी अनेक लिपियों में लिखी जाती रही है; जैसे - , कन्न्ड, मलयालम और रोमन।



कोंकणी , के दक्षिणी भाग, के उत्तरी भाग, के कुछ क्षेत्रों में बोली जाती है।



1,522,684









मलयालम ("മലയാളം") में शलाका लिपि



मलयालम भाषा मुख्यतः दक्षिण-पश्चिमी तटीय राज्य केरल में बोली जाती है, यह और केंद्रशासित प्रदेश की राजभाषा है; लेकिन सीमावर्ती और के द्विभाषी समुदाय के लोग भी यह भाषा बोलते हैं।



लगभग तीन करोड़ साठ लाख









इस भाषा की अपनी लिपि है, जिसे स्थानीय लोग मेइतेई माएक कहते हैं।



मुख्यतः पूर्वोत्तर के लिए राज्य में बोली जाने वाली भाषा है। यह , , , और में भी बोली जाती है।



लगभग 11 लाख 80 हज़ार









"मराठी" भाषा को लिखने के लिए और इसके प्रवाही स्वरूप मोदी, दोनों लिपियों का उपयोग होता है।



की राजभाषा है। इसे बोलने का मानक स्वरूप (भूतपूर्व पूना) शहर की बोली है। यह भाषा , , में बोली जाती है। केन्द्रशासित प्रदेशों में यह , और में भी बोली जाती है।



लगभग 9 करोड़









"नेपाली"



यह भाषा के अतिरिक्त भारत के , , उत्तर-पूर्वी राज्यों , , , तथा के अनेक लोगों की मातृभाषा है।



160 लाख









उड़िया ("ଓରିୟା")



राज्य की राजभाषा



310 लाख









पंजाबी ("ਪੰਜਾਬੀ")



पंजाबी भाषा भारत तथा में बोली जाती है।



लगभग ढाई करोड़









"संस्कृत"



















सिंधी भाषा मुख्यत: दो लिपियों में लिखी जाती है, अरबी-सिंधी लिपि



,



लगभग 22 लाख









तमिल ("தமிழ்") ऐतिहासिक रूप से तमिल लेखन प्रणाली का विकास से वट्टे-लुटटु (मुड़े हुए अक्षर) और कोले-लुट्टु (लम्बाकार अक्षर) के स्थानीय रूपांतरणों के साथ हुआ।



की राजभाषा



विश्वभर में पाँच करोड़ से अधिक बोलने वालों में से लगभग 90% भारत में।









उर्दू ("اردو") के लिए फ़ारसी-अरबी लिपि प्रयुक्त होती



28,600,428



,









तेलुगु ("తెలుగు")



की सरकारी भाषा



750 लाख














बोडो भाषा को के उत्तरपूर्व, और में रहने वाले बोडो लोग बोलते हैं।














इसकी अपनी लिपि है, जिसे डोगरा अख्खर या डोगरे कहते हैं।



राज्य की दूसरी मुख्य भाषा



लगभग 15 लाख









पहले इसे मिथिलाक्षर तथा कैथी लिपि में लिखा जाता था जो बांग्ला और असमिया लिपियों से मिलती थी पर कालान्तर में का प्रयोग होने लगा ।



मैथिली भाषा उत्तरी और के तराई के ईलाक़ों में बोली जाने वाली भाषा है।



1 से 1.2 करोड़ लोग












, , , , , और



10 से 30 प्रतिशत



Comments Crazy on 20-09-2021

Bharat me kul kitni Lipiya hai

sonuThakur3 on 23-08-2020

Bharatiyo ki mula basha

Uma on 20-06-2020

Devnagri Lipi Mein likhi jane wali varnamala

Argdeep Roy on 01-06-2020

सवाल संथाली की लिपि क्या है?

Madhesi Madhwi on 10-04-2020

Telugu bhasa ki lipi kya hai?

Dolly agrawal on 28-12-2019

Uttar Bharat ki 3 lipi


Telgu bhasha ki lipi konsi hai on 11-07-2019

Telgu bhasha ki lipi konsi hai

kanchandixit on 19-06-2019

All things is wrong

Mahi 7class on 11-06-2019

22bhasa aur unki lipi jaldi batao

डम on 06-06-2019

संतरे की में इंग्लिश

Priya on 28-05-2019

Bharat ki sabhi bhasa aur unki lipiya

Manish singh on 19-05-2019

जर्मन का भाषा। फ्रेंच की लिपि। कश्मीरी के लिपि बताये।


Prashant on 14-05-2019

भाषाएँ और लिपि

Ritik Kumar gond on 14-05-2019

Mujhe chs ka Taiyri Karna hai

Jyoti on 12-05-2019

Delhi Ki lipi bataye

munendar on 12-05-2019

All language lipi , provide me

Abhi Meena on 08-05-2019

हिदी की सवैधानिक शि तिथि

हनी on 06-05-2019

फ़ारसी की लिपि क्या है


sunny sirohi on 18-04-2019

22 bhasha ki lipi

Amit Gupta on 18-04-2019

Bharat me tisara kon sa bhasha boli jati hai

Anisul on 17-04-2019

DUNIYA KE 22 BHASHA

Amit gola on 16-04-2019

22 भाषाओं की लिपियां

Rishav on 12-04-2019

Bhasha aur unki lipi

22 mantra prapt bhasha ki lipi on 11-04-2019

22 manyta prapt bhasha ki lipi

Bahalen bando on 01-12-2018

Devnagri hindi bhasa k alawa aur kaun si bhasa ki lipi h...... Meri exam h plz jaldi reply kijyega

8651155451 on 01-11-2018

भारत में कितनी लिपि हैं

alok on 18-09-2018

santhali ki lipi



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment