तदर्थ न्यायाधीशों अर्थ

Tadarth Nyayadheeshon Arth

Pradeep Chawla on 12-05-2019

तदर्थ न्यायाधीशों की नियुक्ति



मुख्य न्यायाधीश राष्ट्रपति की पूर्व सहमति से उच्चतम न्यायालय में न्यायाधीश के रूप में नियुक्त किये जाने की योग्यता रखने वाले किसी उच्च न्यायालय

के न्यायाधीश को सम्बद्ध उच्च न्यायालय के मुख्य न्यायाधीश से परामर्श

करके तब तदर्थ न्यायाधीश के रूप में नियुक्त कर सकता है, जब उच्चतम

न्यायालय के सत्र को आयोजित करने या चालू रखने के लिए न्यायाधीशों की

आवश्यकता हो (अनुच्छेद 127)। इस प्रकार नियुक्त किये गये न्यायाधीश को

उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीशों की सभी अधिकारिता, शक्तियाँ और विशेषाधिकार

तब तक प्राप्त होंगे, जब तक वह उच्चतम न्यायालय के न्यायाधीश के रूप में

कार्य करता है।



Comments Punam maurya on 18-04-2021

Kya tadarth newte ab hoga kya sir naylya newteek meill shkta hai

Abhishek on 18-02-2021

तादर्थ nayalaya kiske antargat aata hai

Bhupendra kumar meena on 02-06-2020

Ye kya HC aur chitrya naylyao m bhi appointment kiye jate h kya sir

rahul sharma on 14-05-2020

tadarth nyayadheesh adhikatam kitne samay tak kary kar sakta hai



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment