पूजा मे 1 या 3 अगरबत्ती जलाना शुभ है या अशुभ

Pooja Me 1 Ya 3 AgarBatti Jalana Shubh Hai Ya अशुभ

Pradeep Chawla on 12-05-2019

सनातन हिन्दू धर्म में अगरबत्ती का प्रयोग वर्जित है। दाह संस्कार में भी बांस नहीं जलाते। फिर बांस से बनी अगरबत्ती जलाकर भगवान को कैसे प्रसन्न कर सकते हैं? शास्त्रों में बांस की लकड़ी जलाना मना है। अगरबत्ती जलाने से पितृदोष लगता है। शास्त्रों में पूजन विधान के समय कहीं भी अगरबत्ती का उल्लेख नहीं मिलता सब जगह धुप ही लिखा है। अगरबत्ती रसायन पदार्थों से बनाई जाती है, भला केमिकल या बांस जलने से भगवान खुश कैसे होंगे? पुराने लोग कहते आएं हैं कि बांस को जलाने से वंश जलता है। धूप सकारात्मकता से युक्त होती है, ऊर्जा का सृजन करती है, जिससे स्थान पवित्र हो जाता है व मन को शांति मिलती है। इनसे नकारात्मक ऊर्जा से युक्त वायु शुद्ध हो जाती है इसलिए प्रतिदिन धूप जलाना अति उत्तम और बहुत ही शुभ है।











एक शोध में पता चला है कि अगरबत्ती एवं धूपबत्ती के धुएं में पाए जाने वाले पॉलीएरोमैटिक हाइड्रोकार्बन (पीएएच) की वजह से पुजारियों में अस्थमा, कैंसर, सरदर्द एवं खांसी की गुंजाइश कई गुना ज्यादा पाई गई है। खुशबूदार अगरबत्ती को घर के अंदर जलाने से वायु प्रदूषण होता है विशेष रूप से कार्बन मोनोऑक्साइड। अगर आप नियमित पूजा करती हैं और अगरबत्‍ती जलाती हैं तो ये आदत बदल दें और केवल घी या तेल का दिया ही जलाएं। बंद कमरे में अगरबत्ती न जलाएं। इससे धुएं की सान्द्रता बढ़ जाती है और फेफड़ों पर ज्यादा असर होता है।











जिस समय यवनों ने भारत पर आक्रमण किया तो उन्होंने देखा हिन्दू सैनिक युद्ध से पहले पूजा-पाठ करते थे। जिसमें धूप-दीप जलाकर अपने इष्ट को प्रसन्न कर उन पर टूट पड़ते थे। यवनों को हार का सामना करना पड़ता था, ये सब देख कर औरंगजेब जैसे आक्रमणकारियों ने हमारे पूजा स्थलों को तोड़ना शुरू किया ताकि हिंदुओ को अपने इष्ट से शक्ति प्राप्त न हो और उनकी युद्ध में हार हो जाए। मंदिर तोड़े जाने से हिंदू सेना और भड़क उठती अपनी पूरी ताकत लगाकर यवनों को हरा देती। ये देख कर यवन सेना के बुद्धिजिवियों ने सोचा की हिन्दुओं के भगवान बहुत शक्तिशाली हैं, पूजा-पाठ करने से हिन्दुओं को शक्ति प्रदान कर देते हैं। जिस कारण हमारी सेना हार जाती है, तब उन्होंने हमारे धर्म ग्रन्थों का अध्यन किया तो शास्त्रो में पाया कि हिंदू धर्म में बांस जलाना वर्जित है।



Comments Shiva Mishra on 17-11-2021

Teen agarbatti kyo jalaya jata hai

BHABHUTRAMKHAWA on 12-10-2021

POOJA MA KANATENE AGRABIT JALNE HA

Naresh prasad on 06-10-2021

Puja karte samay agarbati ya dhup dahina dahina side se ya baya side se dikhana chahiye

Omkar patel on 31-07-2021

इस ््
पूजा में अगरबत्ती जलाने से क्या पाप लगता है

Krishanpal on 19-05-2021

Pooja me ketni agrbatti jalana chyey

Damodar on 28-01-2021

स्नान करके फूल क्यों नहीं तोड़ा जाता है स्नान करने की पहले ही फूल तोड़ने को बताया जाता है


Siddhanshu Gaurav on 14-11-2020

3 agarbatti q nhi jalana chahiye

Subham on 08-06-2020

Teen agarbati jalana chahiye ki nahi

Pavanprajapati on 20-09-2019

पूजा में कितनी अगरबत्ती जलाना शुभ है

Kkd on 14-09-2019

God ka samana single agerbati ku ni jalta

राजेश कुमार on 21-07-2019

हमे पूजा में कितने अगरबत्ती जलाना चाहिए

pramod on 12-05-2019

agarbatti Sam and bisam me


Poonam on 06-04-2019

Pooja mein kitni agarbatti jalaani chahiye?

पण्डित विकाश भट्ट on 04-04-2019

पूजा में कितनी अगरबत्ती लगाना शुभ है

Saurabh on 07-09-2018

Kitni agarbatti jalana subh hota hai

Mr Dilip kumar on 22-08-2018

Kya agerbatti ek ya teen jalani chahiye ya phir jalani hi nahi chahiye.

Babeeta on 16-08-2018

Pooja karte samay kitne agarbatti jalana subh hai?



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment