थनैला रोग की होम्योपैथिक दवा

थनैला Rog Ki होम्योपैथिक Dawa

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 12-05-2019

थनेला रोग (Mastitis) दुधारू पशुओं को लगने वाला एक रोग है। थनैला रोग से प्रभावित पशुओं को रोग के प्रारंभ में थन गर्म हो जाता हैं तथा उसमें दर्द एवं सूजन हो जाती है। शारीरिक तापमान भी बढ़ जाता हैं। लक्षण प्रकट होते ही दूध की गुणवत्ता प्रभावित होती है। दूध में छटका, खून एवं पीभ (पस) की अधिकता हो जाती हैं। पशु खाना-पीना छोड़ देता है एवं अरूचि से ग्रसित हो जाता हैं।







यह बीमारी समान्यतः गाय, भैंस, बकरी एवं सूअर समेत तकरीबन सभी वैसे पशुओं में पायी जाती है, जो अपने बच्चों को दूध पिलातीं हैं। थनैला बीमारी पशुओं में कई प्रकार के जीवाणु, विषाणु, फफूँद एवं यीस्ट तथा मोल्ड के संक्रमण से होता हैं। इसके अलावा चोट तथा मौसमी प्रतिकूलताओं के कारण भी थनैला हो जाता हैं।











1. पशुओं के बांधे जाने वाले स्थान/बैठने के स्थान व दूध दुहने के स्थान की सफाई का विशेष ध्यान रखें।







2. दूध दुहने की तकनीक सही होनी चाहिए जिससे थन को किसी प्रकार की चोट न पहुंचे।







3. थन में किसी प्रकार की चोट (मामूली खरोंच भी) का समुचित उपचार तुरंत करायें।







4. थन का उपचार दुहने से पहले व बाद में दवा के घोल में (पोटेशियम परमैगनेट 1:1000 या क्लोरहेक्सिडीन 0.5 प्रतिशत) डुबो कर करें।







5. दूध की धार कभी भी फर्श पर न मारें।







6. समय-समय पर दूध की जाँच (काले बर्तन पर धार देकर) या प्रयोगशाला में करवाते रहें।







7. शुष्क पशु उपचार भी ब्यांने के बाद थनैला रोग होने की संभावना लगभग समाप्त कर देता है। इसके लिए पशु चिकित्सक से संपर्क करें।







8. रोगी पशुओं को स्वस्थ पशुओं से अलग रखें तथा उन्हें दुहने वाले भी अलग हों। अगर ऐसा संभव न हो तो रोगी पशु सबसे अंत में दुहें। 1



Comments Rakesh kumar on 15-11-2019

Mere pad gay hai or wah 30 din pahle bachcha do hai lekin 15/11/019 ko bayen said ka pichhla bhag ka than me sujan As Gaya hai yah kaun sa bimari hai or upchar Kiya hai

Ajay Kumar on 10-10-2019

Hamare cow ke ek agle than se dudh nahi aa rha aur dusra agla suja rahta hai jisko dabane se cow ko thoda dard hota hai

Sourabh Tomar on 01-08-2019

हमारी भैंस के अबकी बार एक थन में पसा कम है।

भैंस महीने की गर्भवती हैं। थन सुजा रहता है।

थन में दूध की धार आराम आराम से आती है।


अनिलकुमार on 10-06-2019

मेरे गायकोथनैलाहोगयाहै10दिनपहले बहुतदबाईदियालेकिनसुधारनहीहुआकृप्यादबाईबताऐ

Prem singh on 12-05-2019

गाय प्रथम बार ब्याई है जिसके एक साईड के (आगे और पीछे के) दो थानों में बिल्कुल दुध नहीं आ रहा है

Manish Kumar झर on 12-05-2019

गाय के थन मे थनैल हौने से थन बहुत हार्ड है दवा चलने के बाद भी अब नहीं घटता है


Tarun kumar on 12-05-2019

गाय के स्तन में गाठ व कडकपन को घाेलने की दवाई बताऊं

Vishnudev kumar on 06-02-2019

My cow is effected with thanaila rog

Nirdosh mittal on 26-12-2018

9414190061

निर्दोष मित्तल on 26-12-2018

थनैला रोग का पक्का इलाज संपर्क करे 9414190061

मुकेश शर्मा on 22-11-2018

मेरी दुधारू भैंस को थनैल रोग हो गया है दवा चल रही है पर आराम नही मिल रहा है 10 दिन हो गये है दवा बंद होने के दूसरे ही दिन पुनः सूजन आ जाती है थनैल ठन्डा रहता है


Ramkishor kumar on 25-09-2018

मेरा गाय 8महीना 20 दिन का गाभिन है और थान भी निकालना सुरु कर दिया है लेकिन 8 महीना पहले उसको थनेला होगया था मैंने हेमेओपथिक से ठीक कर लिया लकिन अभी उस थान में जयादा थान निकलना सुरु किया है जिसे थान टेढ़ा हो गया कौन सा दावा चलना चहिये जो थान एक सामान दिखे और जयादा निकल हुआ सही हो जाइए


Bajrang jangra on 19-09-2018

Sir ji. Meri gay ko thanla rog ki vajah se aage wala एक than ruk gaya hai. Kafi sari davai भी de di hai par than ka pavas chala gaya hai. Koi ilaj bataye



Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment