फलीदार फसल के उदाहरण

Falidaar Fasal Ke Udaharan

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 18-10-2018


हरी खाद प्रयोग में कठिनाईयाँ[]

  • (क) फलीदार फसल में पानी की काफी मात्रा होती है परन्तु अन्य फसलों में रेशा काफी होने की वजह से मुख्य फसल (जो हरी खाद के बाद लगानी हो) में नत्रजन की मात्रा काफी कम हो जाती है।
  • (ख) चूँकि हरी खाद वाली फसल के गलने के लिए नमी की आवश्यकता पड़ती है तथा कई बार हरी खाद के पौधे नमी जमीन से लेते हैं जिसके कारण अगली फसल में सूखे वाली परिस्थितियाँ पैदा हो जाती हैं।

हरी खाद के व्यावहारिक प्रयोग[]

  • (क) उन क्षेत्रों में जहाँ नत्राजन तत्व की काफी कमी हो।
  • (ख) जिस क्षेत्रों की मिट्टी में नमी की कमी कम हो।
  • (ग) हरी खाद का प्रयोग कम वर्षा वाले क्षेत्रा में न करें। इन क्षेत्रों में नमी का संरक्षण मुख्य फसल के लिए अत्यन्त आवश्यक है। ऐसी अवस्था में नमी के संरक्षण के अन्य तरीके अपनायें।
  • (घ) जिनके तने तथा जड़ें काफी मात्रा में पानी प्राप्त कर सकें।
  • (ङ) ये वे फसलें होनी चाहिए जो जल्दी ही जमीन की सतह को ढक लें। चाहे जमीन रेतीली या भारी या जिसकी बनावट ठीक न हो में ठीक प्रकार बढ़ सकें।
  • (च) जब ऊपर बतायी बातें फसल में विद्यमान हों तो फलीदार फसल का प्रयोग अच्छा होता है क्योंकि उन फसलों से नत्राजन भी प्राप्त हो जाती है



Comments Falidar on 20-09-2019

Falidar fasle ke eudharan

aditya singh on 16-08-2019

kali mutti wal khetra

फलीदार फसल कौन सा है on 18-07-2019

दाल

Shivani pandey on 12-05-2019

Falidar fasle ka nam

Vikas on 17-01-2019

Nirman me se kon c fasal falidar hai

VINOD on 12-01-2019

Calendar fasal kon se hai


Jimmy on 05-10-2018

G

Avdhesh kumar on 04-10-2018

Til falidar fasal hai ki nahi

Kavita meena on 04-10-2018

Falidar fasal konsi he 1til 2gehu 3dal4makka



Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment