उत्तर प्रदेश के लोकायुक्त की सूची

Uttar Pradesh Ke Lokayukt Ki Soochi

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 12-05-2019

वीरेन्द्र सिंह (लोकायुक्त

वीरेंद्र सिंह (लोकायुक्त) को 16 दिसंबर, 2015 को उत्तर प्रदेश का लोकायुक्त नियुक्त किया गया था, भारत की सर्वोच्च न्यायालय ने वह भारत का पहला लोकायुक्त था जिसे भारत की सर्वोच्च न्यायालय ने नियुक्त किया है। वह न्यायमूर्ति एन.के. के उत्तराधिकारी हैं।


Pradeep Chawla on 12-05-2019

वीरेन्द्र सिंह (लोकायुक्त

वीरेंद्र सिंह (लोकायुक्त) को 16 दिसंबर, 2015 को उत्तर प्रदेश का लोकायुक्त नियुक्त किया गया था, भारत की सर्वोच्च न्यायालय ने वह भारत का पहला लोकायुक्त था जिसे भारत की सर्वोच्च न्यायालय ने नियुक्त किया है। वह न्यायमूर्ति एन.के. के उत्तराधिकारी हैं।



Comments Up ka lokayukt kaun hai on 12-05-2019

Up ka lakayukt kaun hai

Rahul pal on 12-05-2019

Present m lokpal kon h

Praveen singh on 12-05-2019

Lokayukt ka karyakaal kitne varsh ka hota hai

Mahesh on 12-05-2019

Uttar Pradesh ke lokayuct ( Bharstachar virodhi pradhikran ka pad ...me sreejit kiya gya

जगत बहादुर सिंह on 12-05-2019

हमारी ग्राम पंचायत में भ्रष्टाचार बहुत हुवा है जब कि कोई भी जिले का अधिकार हमारी शिकायतों पर हमें सही जबाब नही देता जिला स्तरीय टीम द्वारा जाच में पहले अनिमियता परलछित हुई बाद में शिकायत निराधार तब हैम क्या लोकायुक्त से शिकायत कर सकते है


स्वमी चरण पुत्र सुल्तान सिंह on 12-05-2019

लोकायुक्त से शिकायत करने में कोई शुल्क भी जमा करना पड़ता है कृपया बताएं भूमि सम्बन्ध शिकायत पर कितना शुल्क जमा करना पड़ता है


स्वमी चरण पुत्र सुल्तान सिंह on 12-05-2019

लोकायुक्त से शिकायत करने में कोई शुल्क भी जमा करना पड़ता है कृपया बताएं भूमि सम्बन्ध शिकायत पर कितना शुल्क जमा करना पड़ता है


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अ


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अ


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


संजय कुमार श्रीवास्तव ग्राम मलौली पोस्ट सोहगौरा जि on 04-10-2018

हम प्रार्थी द्वारा अपने ग्राम प्रधान के खिलाफ शौचालय में अनियमितता व विगत आठ वर्षो में कोई भी विकास कार्य न करने ग्राम पंचायत हर कार्य किसी दुसरे व्यक्ति के द्वारा किये जाने व सभी सरकारी दस्तावेजों पर व अभिलेखों पर प्रधान के जगह अपने खुद हस्ताक्षर किया जाता है प्रधान के पैड पर उक्त व्यक्ति का मोबाइल नंबर अंकित है व तीन माह पहले पंचायत के खाते से ग्राम प्रधान सचिव सुधीर श्रीवास्तव द्वारा आठ लाख रुपये निकाल कर आधा आधा बन्दरबाट कर
कर लिया गया जिसके सन्दर्भ में एक शिकायती पत्र दिनांक 24-8-2018 को माननीय मुख्यमंत्री जी को स्पीड पोस्ट से दिया गया था पुनः एक शिकायती पत्र माननीय जिलाधिकारी महोदय के जनसुनवाई के समक्ष प्रस्तुत होकर दिनांक 6-9-2018 को दिया गया जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी को जांच के लिए प्रेषित कर दिया गया जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा खण्ड विकास अधिकारी कौडीराम ब्लाक पर जांच कर आख्या के लिए प्रेषित कर दिया गया 13-9-2018 को ग्राम विकास अधिकारी द्वारा द्वारा ग्राम मलौली का स्थलीय निरीक्षण किया गया और ग़लत आख्या सम्बन्धित अधिकारी को प्रस्तुत किया गया दुर्भाग्य इस बात का है कि जो व्यक्ति उक्त प्रकरण में दोषी है उसी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त किया गया यह एक भरष्टाचार व वित्तीय अनियमितता है लेकिन पंचायत से सम्बन्धित किसी अधिकारी द्वारा न तो कोई जांच किया गया और ना ही कोई विधिक कार्यवाही की गई और दोषी सचिव सुधीर श्रीवास्तव को जांच अधिकारी नियुक्त कर दिया गया यह एक भरष्टाचार है इस प्रकरण पर जांच कर उचित कार्रवाई करने का कष्ट करें प्रार्थी आप श्री मान जी का आभारी रहेगा । सादर (संजय कुमार श्रीवास्तव,मलौली ।।।


मनीष कुमार पटेल on 01-09-2018

मेरे माता जी के हत्या की पुलिस मुल्ज़िम से पैसा लेकर सारी झूठी रिपोट लगा दी सर जी कोई सुझाव दीजिये ताकि हमें न्याय मिल सके


Jayprakashmishra on 26-08-2018

Meri gram panchyat me bhrstachar ho raha gram pradha,or sachiv ki mili bhagat se panchyat nidhi ka durupyog kiya ja raha h adhikari prakarad ko gambhirta se nahi lete or nahi nispach janch karte h mere pas sabhi sabut h,



Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment