परिवीक्षा काल नियम

परिवीक्षा Kaal Niyam

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

GkExams on 12-05-2019

परिवीक्षा काल

परिवीक्षा परीक्षण की अवधि है और इसका उद्देश्य किसी कर्मचारी को उचित या स्थायी रूप से पद धारण करने की उपयुक्तता का पता लगाना है और पुष्टि के समय उपयुक्तता का निर्णय लिया जाना चाहिए। एक संगठन के साथ नियमित कर्मचारी रोजगार और समाप्ति लाभ के अंधाधुंध समाप्ति के खिलाफ सुरक्षा सहित विभिन्न सुरक्षा का आनंद लेते हैं। हालांकि, कर्मचारी के असंतोषजनक प्रदर्शन के कारण प्रोबेशन अवधि के दौरान प्रोबेशन पर एक कर्मचारी को समाप्त किया जा सकता है और नियोक्ता को समाप्ति में उचित ठहराया जाएगा।



नियम और विनियम - प्रोबेशन अवधि से संबंधित

एक परिवीक्षाधीन की स्थिति न्यायिक मामलों और घोषणाओं में काफी स्पष्ट कर दी गई है। निम्नलिखित प्रोबेशनर की स्थिति और सेवा से उसकी समाप्ति पर सुप्रीम कोर्ट के संविधान बेंच द्वारा एक ऐतिहासिक निर्णय के अंश हैं:



प्रोबेशन पर सरकारी सेवा में स्थायी पद के लिए नियुक्ति का अर्थ है, जैसा कि एक निजी नियोक्ता द्वारा नियुक्त व्यक्ति के मामले में, कि नियुक्त नौकर को मुकदमा चलाया जाता है। परिवीक्षा की अवधि, कुछ मामलों में, एक निश्चित अवधि के लिए हो सकती है, यानी, छह महीने या एक वर्ष के लिए या इसे किसी भी अवधि के किसी भी विनिर्देश के बिना प्रोबेशन पर के रूप में व्यक्त किया जा सकता है। मास्टर और नौकर के सामान्य कानून के तहत परिवीक्षा पर ऐसा रोजगार समाप्त हो जाता है, यदि परिवीक्षा के दौरान या उसके बाद परीक्षण पर नियुक्त नौकर को अनुपयुक्त पाया जाता है और उसकी सेवा को नोटिस द्वारा समाप्त कर दिया जाता है।



इस प्रकार, जहां किसी व्यक्ति को परिवीक्षा पर सरकारी सेवा में स्थायी पद पर नियुक्त किया जाता है, उसके दौरान उसकी सेवा की समाप्ति की अवधि के दौरान या उसके अंत में उसकी सेवा समाप्त नहीं होती है और सरकारी कर्मचारी के लिए स्वयं ही सजा होगी , इसलिए नियुक्त किया गया है, किसी भी नियोक्ता द्वारा प्रोबेशन पर नियोजित नौकर के मुकाबले इस तरह के पद को जारी रखने का कोई अधिकार नहीं है। इस तरह की समाप्ति नौकर के किसी भी अधिकार को जब्त करने के लिए काम नहीं करती है, क्योंकि उसके पास ऐसा कोई अधिकार नहीं है और स्पष्ट रूप से दंड के माध्यम से रैंक में बर्खास्तगी, हटाने या कमी नहीं हो सकती है।



उपर्युक्त के अलावा, सुप्रीम कोर्ट ने एक अन्य आदेश के माध्यम से स्पष्ट किया है कि नियोक्ता द्वारा संक्षेप में नियोक्ता द्वारा संक्षेप में समाप्त किया जा सकता है:



इस बात का कोई संदेह नहीं हो सकता कि नियोक्ता किसी व्यक्ति की परिवीक्षा पर सेवाओं को शामिल करने का हकदार है। परिवीक्षा की अवधि के दौरान, भर्ती / नियुक्ति की उपयुक्तता को देखा जाना चाहिए। यदि उनकी सेवाएं संतोषजनक नहीं हैं जिसका अर्थ है कि वह नौकरी के लिए उपयुक्त नहीं है, तो नियोक्ता को सेवाओं के कारण के रूप में समाप्त करने का अधिकार है।



प्रोबेशन अवधि का विस्तार

नियमों की अनुपस्थिति में, यदि रोजगार का अनुबंध तय हो गया है या परिवीक्षा की एक विशेष अवधि है और परिवीक्षा अवधि की समाप्ति पर कर्मचारी अभी भी सेवाओं में जारी है तो प्रभाव यह है कि वह एक प्रोबेशनर के रूप में जारी है। प्रोबेशन अवधि से पहले जारी रखने वाला एक प्रोबेशनर स्वचालित रूप से स्थायी कर्मचारी नहीं बनता है और नियोक्ता को परिवीक्षाधीन अवधि तक विस्तार करने का अधिकार होता है जब तक कि प्रोबेशनर संतुष्ट होने के लिए उपयुक्त न हो। इस प्रकार, एक प्रोबेशनर प्रोबेशन पर तब तक होगा जब तक नियोक्ता द्वारा इसकी पुष्टि नहीं की जाती है।



प्रोबेशन अवधि के दौरान समाप्ति

जैसा ऊपर बताया गया है, एक प्रोबेशनर के पास नौकरी पर कोई ग्रहणाधिकार नहीं है, उसकी सेवा नियोक्ता के विवेकानुसार समाप्त की जा सकती है। यह सलाह दी जाती है कि प्रोबेशनर की सेवाओं को समाप्त करते समय, भाषा सरल, अस्पष्ट और गैर-कठोर होना चाहिए। यह बताने के लिए उपयुक्त होगा कि नियुक्ति के नियम और शर्त के अनुसार, परिवीक्षाधीन सेवाओं को तत्काल प्रभाव से समाप्त कर दिया जाएगा, या जैसा भी मामला हो।



Comments MADAN SINGH on 13-10-2019

ek saal 3rd grd me probetion nikl jane ke baad 2nd grd meslect hone pr pichle probetion period ka kya fayda le skte hai

MADAN SINGH on 13-10-2019

ek saal 3rd grd me probetion nikl jane ke baad 2nd grd meslect hone pr pichle probetion period ka kya fayda le skte hai

Dena bhay on 26-08-2019

Koi karmchari AGR probation period me suspend hu jata h tu kya use wapis bahal kr skte h kya or kya uska fexation hu sakta h kya

Saurabh Kumar rai on 25-08-2019

Ek Ladaka 1-01-2016 ko chakabandi vibhag me joining karata hai.1-12-2017 ko vah relive hokar 2-12-2017 ko vah gram vikas vibhag me joining karata hai.Ladake ka provision piriyad kab see Mana jayega.

Saurabh Kumar rai on 25-08-2019

Ek Ladaka 1-01-2016 ko chakabandi vibhag me joining karata hai.1-12-2017 ko vah relive hokar 2-12-2017 ko vah gram vikas vibhag me joining karata hai.Ladake ka provision piriyad kab see Mana jayega.

Jay prakash on 07-08-2019

दुबारा प्रोबेशन पहले से अर्जित चिकित्सा अवकाश ले सकते है क्या


Sitaram on 14-05-2019

Kya praviksha kal me prasuti avkash lene pr pravikdha kal bdegaa

bhawani singh jaipur on 12-05-2019

kya parivaksha kaal me kisi ldc ko maximum kitne charge diye ja sakte hai? or ye bhi bataye ki udc post vecent hone par uska karyabhar kisi accountant ko diya jha sakta hai?

Ramnarayan Choudhary on 12-05-2019

Gram Panchayat Khangta mr Mahipal Pichkiya Rojgar ke pad per Karyarat tha he aur vittiya aniyamitta me samil he uske virudh 25 FIR darj he.
probation confirm nahi hua he. vah kitne sal probation period me chalta rahega. uski seva santoshjanak nahi he.Isko kab tak terminate kiya jayega.

Babita chhabrwal on 12-05-2019

LDC pad par tankan prixa utrin nhi hone pr 5sal bad sthayikarn hota

Ramnarayan Choudhary on 12-05-2019

yadi Probation Karamchari ki seva Santoshjanak nahi he to kitne samay ke liye Probation Period badhaya ja sakta he.

Dinesh on 12-05-2019

kisi karmik ne 4 saal 3rd grade teacher ki post pr karirat rhaa or fir LECTURE me selection hone ke baad kiya probation time me PL or HPL add hogi ya nhi....?


Vijaypal Choudhary on 12-05-2019

Kya provisonel lecture ko hm v ras ke liye noc jari nahi hoti h

Vijaypal Choudhary on 12-05-2019

Noc rules provision period

सचिन शर्मा on 12-05-2019

परिवीक्षाकाल में ग्रीष्मावकाश प्रारंभ में अगर अंतिम कार्यदिवस में के कर्मचारी शाला में उपस्थित है तो क्या वो अवकाश उपरांत पहले दिन CL ले सकता है इस संबंध में कोई आदेश हो तो बताये


manisha on 13-04-2019

क्या परिवीक्षा काल में यदि प्रसूति हुई हो तो क्या परिवीक्षा का समय आगे बढ़ जायगा yadi probation kal me month ki maternity leave lee hai to kya probation period ki period badhega is bare me puri jankari please


Aayushi on 09-03-2019

Kya priviksha avadhi mai koi karmchaari kapne adhikari ki shikayaten kreeta hai ya rajya karmchaari banner tale dharna pradarsha karta hai jiske aadhar per us adhikari ko hata diya jata hai bad mn aisa pata chalta hai ki jhooti shikayaten ki gai thi to us privikshdin karmcharigan per kya karvanu ho sakti hai


Shailesh on 24-02-2019

क्या परिवीक्षा काल मे बिना वेतन दिए हटाया जा सकता है


शीला मिश्रा on 21-01-2019

क्या परिवीक्षा काल में यदि प्रसूति हुई हो तो क्या परिवीक्षा का समय आगे बढ़ जायगा

Chand on 15-12-2018

क्या प्रोबिशन में सीसीएल देय होती है

Vinye on 05-12-2018

Mera Sawal hai main do saal ki period mein Mere do saal complete hone Mein 16 Din the usme main 22 Din ki chutti ki uska Main Rog Praman Patra Lagaya uparjit avkash Diya usme main 22 tarikh ko joining 23 ko Wapas avkash ke chal gaya Isme Kya Mera niyamitikaran Nahi Hoga

Manish rathour on 26-11-2018

Mari joining sahayak adyapak pad per 6 september ko hui hai hum 31 december tak kitnay avkash lay saktay hai

Prahalad on 07-10-2018

Probetion period pura hojaye lekin probetion pura hone ka letter na Mila ho to kya adhikari employee ka noukri see sambandhit koi nuksan ker sakta h

Mithles on 19-09-2018

Ek Sal Ka probetion period ho or vo pura ho jaay lekin probetion pura hone ka letter na Mila ho to adhikari koi employee ka nuksan nokri ka ker salts h please battle

Mithles on 19-09-2018

Probetion period pura hojaye lekin probetion pura hone ka letter na Mila ho to kya adhikari employee ka noukri see sambandhit koi nuksan ker sakta h

Meethalal on 17-09-2018

सरजी मेरी प्रथम नियुक्ति तृतीय श्रेणी शिक्षक पद पर 21/09/2012 को हुईं और द्वितीय श्रेणी शिक्षक पद पर नियुक्ति 23/08/2016 को हुई हैं वर्तमान मूल वेतन 38000 है 23/08/2018 को द्वितीय श्रेणी शिक्षक पद पर स्थायीकरण कितने पर होगा कृपया मार्गदर्शन करें। मीठालाल मीना राउमावि मैत्रीवाड़ा जिला- जालोर।


Gaurav Kalani on 11-09-2018

एक राज्य सेवा से दूसरे राज्य सेवा में अगर आते हैं तो परिवीक्षा काल में इंक्रीमेंट लगता है या नहीं अगर लगता है तो कौन से रोलिंग या नियमों के अधीन


sachin on 05-09-2018

kya pariviksha kaal me kisi teacher ko school ka incharj banaya ja sakta hai
pls reply my whatsapp no - 8445182803



Labels: , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment