अवशेषी अंग की परिभाषा

Avsheshi Ang Ki Paribhasha

GkExams on 12-05-2019

अवशेषी अंग…..वो अंग जो बेकार हैं…जिनकी उपयोगिता मनुष्य के लिए अब समाप्त हो चुकी हैं|


रही होगी कभी, हमारे पूर्वजों में। कालान्तर में प्रकृति को लगा होगा कि ये सब अंग बेकार हैं इसलिए अब इन अंगों का आयात-निर्यात बंद कर दो। जैसे डाक विभाग ने टेलीग्राम बंद कर दिया।


एक दो नहीं पूरे दस अंग हैं, जो अवशेषी हैं मानव शरीर में।


पहला है अपेंडिक्स।


जानते होंगे आप। तब काम आता था जब हमारे पूर्वज घास फूंस खाया करते होंगे। घास फूंस के पाचन में सहायता करता था। अब तो यह डॉक्टरों की सहायता करता है, मानव के पेट में इंफेक्टिड होकर। निकालने के एवज में डॉ साहब की नई कार की कई ईएमआई चली जाती हैं।


दूसरा है साइनस। बेकार है, कुछ काम का नहीं है, सिवाय सिर में दर्द करने के।


तीसरा है अक्कल दाढ़। जब निकलती है तो जान निकाल देती है। दांतों के डॉक्टर्स की कमाई का जरिया है, और कुछ नहीं।


चौथा है पूंछ की हड्डी। कुदरत ने मानव को पूंछ लगाकर भेजना बंद कर दिया, मगर आज भी ज्यादातर भरतवंशी पूंछ हिलाते नज़र आते हैं। शायद पुरातन काल की यादें अभी भी अवचेतन मन में अवशेष हैं।


पांचवा है कान की मांसपेशी। मानव में इसकी उपयोगिता तभी समाप्त हो गई थी जब से दीवारों के भी कान होने लगे।


छटा है रोंगटे खड़े करने वाली अररेक्टर पिली। पहले काम में आती रही होंगी – जैसे सीही अपने रोंगटे खड़े करके शत्रु को डरा देती है। जब से मानव ने दूसरों को डराना चालू किया तो उसमें यह अवशेषी अंग होकर रह गई।


सातवां है टॉन्सिल्स। ये भी डॉक्टर्स के बहुत काम का है, और हमारे किसी काम का नहीं।


आठवां है नरों में निप्पल्स। दूध पिलाने का काम मादा के हिस्से में आते ही नरों में यह अवशेषी हो गए। मानव क्या….. सभी स्तनधारियों में।


नौंवा है पामर ग्रास्प रिफ्लेक्स। तब काम में आता था जब माता अपने बच्चे को अपने बदन से चिपका कर चलती रही होगी। कभी नवजात बच्चे की हथेली पर अपनी अंगुली रखकर देखना। मजबूती से पकड़ लेगा आपको। इतनी मजबूती से कि अगर आप उसे एक अंगुली के सहारे उठाना चाहो तो उठा लोगे। कभी उसे अपनी छाती से लगाकर उसके पैरों पर गौर करना। आपको जकड लेंगे। यह व्यवस्था लगभग छह माह तक कायम रहती है। यही पामर ग्रास्प रिफ्लेक्स है।


और दसवां है निकटिटेटिंग मेम्ब्रेन। उस समय काम में आती थी जब मानव के पूर्वज जलचर थे। बाद में थलचर होते ही इसका काम खत्म और इसका दर्ज़ा अवशेषी। आजकल निकटिटेटिंग मेम्ब्रेन की जगह ले ली है बेशर्मी के परदे ने। जब हमारे पूर्वज पानी में रहते थे तो एक पारदर्शक झिल्ली उनकी पुतली पर चढ़ जाती थी, जिसकी वजह से वो पानी के अंदर साफ़ साफ़ देख भी पाते थे, और आँख भी बच जाती थी। इसी को निकटिटेटिंग मेम्ब्रेन कहते हैं।

अवशेषी अंग की परिभाषा



Comments Alsaba shah on 18-12-2020

Avasheshi ang ko udaharan sahit samjhaiye

Avsesi ang kise kehte hai on 03-02-2020

Avsesi ang kise kehte hai

Jyoti yaduvanshi on 27-12-2019

Ple jo parts the vo ab q nhi rhe

Rahul kumar on 13-12-2019

Appendix ka dard Kyon Hota Hai Karan

Shashank rajpoot on 24-11-2019

Avsheshi Ang Kise Kahate Hain

अनिल गुर्जर on 28-08-2019

निमिलक छद अवशेषी अंग का सम्बंध किस अंग से है?
1 Small Intestine
2 large Intestine
3 Eye
4 Appendix


Tabshum on 17-07-2019

Name of100Vestigial organ

दीपू यादव on 08-07-2019

पिन्ना किस अवशोषी अंग को कहते है? समझाइए।

Balkishan on 12-05-2019

Avasheshi tantra ki paribhash



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment