Rajasthan GK Rajasthan Ke Kaunse Towns Ka Sadharan Dharatal Uske Paas Ki Nadi Ke Pete Ke Str Se Niche Hai -

Q.20119: राजस्थान के कोनसे कस्बे का साधारण धरातल उसके पास की नदी के पेटे के स्तर से नीचे है -
A
B
C
D
Previous Join Telegram Next
कृपया शेयर करें=>


राजस्थान के कोनसे कस्बे का साधारण धरातल उसके पास की नदी के पेटे के स्तर से नीचे है - - The average surface of Konesi town in Rajasthan is below the level of the river belt near him? - Rajasthan Ke Kaunse Towns Ka Sadharan Dharatal Uske Paas Ki Nadi Ke Pete Ke Str Se Niche Hai - Rajasthan GK in hindi,  Samanya Gyan Jodhpur question answers in hindi pdf  Balotra questions in hindi, Know About Hanumangarh Junction Rajasthan GK online test Rajasthan GK notes in hindi quiz book    Pali

Anonymous on 01-01-1900

A c wrong

Anonymous on 01-01-1900

ISKA ANSWAER A HOGA

Anonymous on 01-01-1900

answer is hanuman garh

Anonymous on 01-01-1900

hanumgarh

Anonymous on 01-01-1900

A answer right h

GkExams on 09-09-2020

मान्यता है कि सरस्वती के किनारे एक घना वन था, उसका नाम काम्यक वन था। पांडव वनवास के लिये हस्तिनापुर से पश्चिम की ओर एक समतल जल रहित रास्ते से गये थे। महाभारत में भी सरस्वती के मरुप्रदेश में विलीन हो जाने का उल्लेख है। हनुमानगढ़ जिले में घग्घर को नाली कहा जाता है। यहाँ पर एक दूसरी धारा जिसे नाईवाला कहते हैं, घग्घर में मिल जाती है, जो असल में सतलज का प्राचीन बहाव क्षेत्र है। यह सरस्वती नदी का पुराना हिस्सा था। तब तक सिंधु में मिलने के लिये सतलज में व्यास का समावेश नहीं हो पाया था। हनुमानगढ़ के दक्षिण पूर्व की ओर नाली के दोनों किनारे ऊंचे-ऊंचे दिखायी देते हैं। यही कारण है कि आज भी हनुमानगढ़ जंक्शन कस्बे का सामान्य धरातल नदी के पेटे के स्तर से नीचे है। (आर.ए.एस. प्रारंभिक परीक्षा 2007, राजस्थान के कौनसे कस्बे का साधारण धरातल स्तर उसके पास की नदी के पेटे के स्तर के नीचे है- पाली/हनुमानगढ़ जंक्शन/टोंक/बालोतरा?) सूरतगढ़ से तीन मील पहले ही एक और सूखी हुई धारा आकर घग्घर में मिलती है। यह सूखी धारा वास्तव में दृशद्वती है। सूरतगढ़ से आगे अनूपगढ़ तक तीन मील की चौड़ाई रखते हुए नदी के दोनों किनारे और भी ऊंचे दिखायी देते हैं जिनके बीच में गंगनहर की सिंचाई से खूब हरा-भरा भाग है। यहीं पर अनेक गाँव बसे हैं। बीकानेर जिले में पहुँच कर घग्घर जल रहित हो जाती है किंतु वर्षा होने से ऊपरी क्षेत्र से जल प्राप्त हो जाता है। दृशद्वती हिमालय की निचली पहाड़ियों से कुछ दक्षिण से निकलती है। पंजाब में इसे चितांग बोलते हैं। भादरा में फिरोजशाह की बनवाई हुई पश्चिम यमुना नहर, दृशद्वती के कुछ भाग में दिखायी पड़ती है। भादरा के आगे नोहर तथा दक्षिण में रावतसर के पास इसके रेतीले किनारे दिखते हैं। आगे अनुपजाऊ किंतु हरा-भरा क्षेत्र है।



Comments।