भूमि अधिग्रहण हाथरस

Bhumi Adhigrahan Hathras

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

GkExams on 03-02-2019


यमुना एक्सप्रेस-वे चालू होने के बाद आगरा और मथुरा से लगे जिले के ग्रामीण अंचल में विकास की संभावना बढ़ जाएंगी। एक्सप्रेस वे की वजह से अब कालोनाइजरों और डवलपर्स के लिए हाथरस बिजनेस हब साबित हो सकता है। एक्सप्रेस-वे के चालू होने के बाद इस क्षेत्र में तेजी से विकास हो सकेगा। शहरीकरण की प्रक्रिया भी यहां जोर पकड़ सकती है। ऐसे में इस इलाके में जमीनों के रेटों में गर्मी आने के भी पूरे आसार हैं। जमीनों के रेट यहां ऊंचाई छू सकते हैं। एक्सप्रेस-वे चालू होने की खबर के बाद से ही भू माफिया और डवलपर्स इस क्षेत्र में जमीन की खरीद-फरोख्त को लेकर सक्रिय हो गए हैं। आने वाले दिनों में इस क्षेत्र में सबसे ज्यादा जमीन की खरीद-फरोख्त होने की संभावना से भी इंकार नहीं किया जा सकता। जानकारों की मानें तो डवलपर्स की प्लानिंग एक्सप्रेस वे से लगे इलाके में इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेज, होटल, रेस्तरां, मल्टीस्पेशिलिटी हॉस्पिटल और मॉडल सुविधाओं से लैस टाउनशिप बसाने की है। ठीक उसी तर्ज पर यह क्षेत्र विकसित हो सकता है, जैसे आगरा-दिल्ली हाइवे बनने के बाद इस रोड पर तेजी से विकास हुआ है। डवलपर्स का मानना है कि नोएडा-ग्रेटर नोएडा बसने के बाद अब डवलपर्स का पूरा रुझान इसी क्षेत्र की तरफ है। एक्सप्रेस-वे बनने से पहले ही डवलपर्स ने इस क्षेत्र पर अपनी नजरें जमा दी थीं। राज्य सरकार की तरफ से यमुना एक्सप्रेस वे औद्योगिक विकास प्राधिकरण का गठन इसी सोच का हिस्सा थी। हाथरस के 430 गांवों की जमीनों का इस प्राधिकरण के लिए अधिग्रहण करने की योजना थी। इन गांवों में भूमि अधिग्रहण के लिए प्राधिकरण की तरफ से अधिसूचना भी जारी कर दी गई थी। यह बात अलग है कि राजनीतिक विरोध के चलते यह प्राधिकरण विघटित हो गया और जमीन अधिग्रहण की प्लानिंग कैंसिल हो गई, लेकिन डवलपर्स अब अपने स्तर से एक्सप्रेस वे के आसपास के इलाकों में सीधे ही किसानों से जमीनों की खरीद-फरोख्त कर रहे हैं। बताते हैं कि सादाबाद से लेकर हाथरस और मुरसान तक के इलाकों में डवलपर्स ने काफी जमीन खरीद भी ली है। एक्सप्रेस वे चालू होने के बाद यह सिलसिला और तेज हो सकता है।



Comments D K VERMA on 12-05-2019

HATRAS MAI BHOOMIADHIGRAHAN KAB TAK HOGA

बी on 07-02-2019

भूमि अधिग्रहण भी हाथरस जिले की सादाबाद तहसील में होना चाहिये वो भी जल्द से जल्द सब लोग ज़मीन देने के लिये तैयार हे क्योंकि यहाँ का किसान आलू की बजह से पिटा हुआ पड़ा हे और ज़मीन देने को तैयार भी हे पर सरकार तो ज़मीन लेने को तैयार तो हो यहाँ पर कोई बिवाद भी नहीं होगा सब लोग चाहते हे कि परिवार में से ऐक ब्यक्ति को सरकारी नौकरी मिलनी चाहिये यहाँ का किसान वहुत घाटे में हे


संजीव कुमार on 16-08-2018

भूमि अधिग्रहण कब तक होगा जिला हाथरस तहसील हाथरस के कौन कौन से गांव इस अधिग्रहण में शामिल हैं।

Bumi.adhigahn hona chahiye on 16-08-2018

Bumi.adhigan hono.cahiy



Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment