फ्रांस की क्रांति के परिणाम

France Ki Kranti Ke Parinnam

Pradeep Chawla on 24-10-2018

फ्रांस में सत्ता परिवर्तन हुआ। फ्रांस में बूर्बो वंश के स्थान पर आर्लियन्स वंश की स्थापना हुई। लुई फिलीप फ्रांस का शासक नहीं वरन् फ्रांसीसी जनता का शासक था। इस तरह फ्रांस में दैवीय सिद्धांत पर आधारित राजतंत्र नहीं वरन् जनता द्वारा स्वीकृत संविधान पर राजतंत्र कायम हुआ।


मध्यम वर्ग की विजय हुई। जुलाई क्रांति मध्य वर्ग की विजय थी जिसने संवैधानिक घोषणा पत्र के दोषों को दूर किया और कुलीन तथा धर्म गुरूओं का शासन समाप्त किया। इसी वर्ग ने 1789 की महान क्रांति का संचालन किया था और इसी वर्ग ने 1794 में मजदूरों के बढ़ते हुए प्रभाव से क्रांति की रक्षा की थी। 1815 से 1830 के बीच विशेषाधिकार वर्ग की चेष्ठा से इस वर्ग के हित पर खतरा उत्पन्न हो गया था। अतः मध्यम वर्ग पुनः अपने अधिकारों की रक्षा के लिए सक्रिय हुआ। उसने प्रतिक्रियावादी शासकों को भागने पर विवश किया और श्रमजीवी वर्ग को चुप करके शासन की बागडोर अपने हाथ में ले ली।


सारे यूरोप पर प्रभाव और को आघात पहुंचा। इस क्रांति ने यूरोप में व्याप्त लोकतांत्रिक आंदोलन को प्रोत्साहन दिया। लुई फिलिप को फ्रांस का वैध शासक स्वीकार किया गया यह मैटरनिख व्यवस्था की बहुत बड़ी पराजय थी।


क्रांति ने धार्मिक स्वतंत्रता, समानता का मार्ग प्रशस्त किया।





Comments Reshma on 18-11-2020

फ्रांस की

क्रांति के दो परिणाम बताइए

History on 29-07-2020

France ki kranti ke karna bataiye

Motaram panwar on 11-01-2020

फ्रांस की क्रांति के परिणाम बताओ

Himanshu yadav n on 05-01-2020

Phrase ki kranti ka urope par Kya prabhav. Pada



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment