संथाल विद्रोह के कारण

Santhal Vidroh Ke Karan

GkExams on 21-11-2018

वर्ष 1855 में बंगाल के मुर्शिदाबाद तथा बिहार के भागलपुर जिलों में स्थानीय जमीनदार, महाजन और अंग्रेज कर्मचारियों के अन्याय अत्याचार के शिकार संताल जनता ने एकबद्ध होकर उनके विरुद्ध विद्रोह का बिगुल फूँक दिया था। इसे संथाल विद्रोह या संथाल हुल कहते हैं। संथाली भाषा में 'हूल' शब्द का शाब्दिक अर्थ है-'विद्रोह'। यह अंग्रेजों के विरुद्ध प्रथम सशस्त्र जनसंग्राम था। सिधु-कान्हू, चाँद-भैरो भाइयों और फूलो-झानो जुड़वा बहनों ने संथाल हल का नेतृत्व, शाम टुडू (परगना) के मार्गदर्शन में किया। 1793 में लॉर्ड कार्नवालिस द्वारा आरम्भ किए गए स्थाई बन्दोबस्त के कारण जनता के ऊपर बढ़े हुए अत्याचार इस विद्रोह का एक प्रमुख कारण था।



Comments Sudhir on 21-10-2021

Santhal vidroh ka Pramukh Karan

Manoj on 19-08-2020

Hi

Jitendra Kumar on 03-02-2020

Ibn Battuta ne apni yatra ka vivran kis bhasha mein likha tha

Alka mishra... on 18-09-2018

संथाल विद्रोह के प्रमुख कारण क्या क्या रहा?



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment