क्लोरोफार्म के बारे में

Chloroform Ke Bare Me

GkExams on 12-05-2019

क्लोरोफॉर्म

Chloroform displayed.svg

Chloroform 3D.svg

आईयूपीएसी नाम क्लोरोफॉर्म

प्रणालीगत नाम ट्राईक्लोरोमीथेन

अन्य नाम फॉर्माइल ट्राईक्लोराइड, मीथेन ट्राईक्लोराइड, मीथाइल ट्राईक्लोराइड, मीथेनाइल ट्राइलक्लोराइड, टीसीएम, फ़्रेऑन २०, आर-२०, यू.एन.-१८८८

पहचान आइडेन्टिफायर्स

सी.ए.एस संख्या [67-66-3][CAS]

पबकैम 6212

EC संख्या 200-663-8

केईजीजी C13827

रासा.ई.बी.आई 35255

RTECS number FS9100000

SMILES

[दिखाएँ]

InChI

[दिखाएँ]

कैमस्पाइडर आई.डी 5977

गुण

आण्विक सूत्र CHCl3

मोलर द्रव्यमान ११९.३८ ग्राम/मोल

दिखावट रंगहीन तरल

घनत्व १.४८ ग्रा./से.मी३

गलनांक

-६३.५ °सें.



क्वथनांक

६१.२ °से.



जल में घुलनशीलता ०.८ ग्रा./१०० मि.ली (२०°से)

रिफ्रेक्टिव इंडेक्स (nD) १.४४५९

ढांचा

आण्विक आकार टेट्राहेड्रल

खतरा

Main hazards घातक (Xn), Irritant (Xi), कार्सि. श्रेणी.२बी

NFPA 704

NFPA 704.svg0 0

R-फ्रेसेज़ आर-२२, आर-३८, आर-४०, आर-४८/२०/२२

S-फ्रेसेज़ (एस२), एस३६/३७

स्फुरांक (फ्लैश पॉइन्ट) अ-ज्वलनशील

यू.एस अनुज्ञेय

अवस्थिति सीमा (पी.ई.एल) ५० पीपीएम (२४० मि.ग्रा/मी.३) (OSHA)

जहां दिया है वहां के अलावा,

ये आंकड़े पदार्थ की मानक स्थिति (२५ °से, १०० कि.पा के अनुसार हैं।

ज्ञानसन्दूक के संदर्भ

क्लोरोफ़ॉर्म (अंग्रेज़ी:Chloroform) या ट्राईक्लोरो मिथेन (अंग्रेज़ी:Trichloro methane) एक कार्बनिक यौगिक है, जिसका रासयनिक सूत्र CHCl3 है। यह एक रंगहीन और सुगंधित तरल पदार्थ होता है जिसे चिकित्सा क्षेत्र में किसी रोगी को शल्य क्रिया किए जाने के लिए मूर्छित[1] करने हेतु निष्चेतक[2] के रूप में प्रयोग किया जाता था। [3][4] निश्चेतना विज्ञान (एनेस्थीसिया) के अंतर्गत निष्चेतक देने वाले डॉक्टर के तीन महत्वपूर्ण प्रयोजन होते हैं, जिनमें पहला, शल्य-क्रिया के लिए रोगी को मूर्छा की स्थिति में पहुंचाकर उसे पुन: सकुशल अवस्था में लाना होता है। इसके बाद दूसरा काम रोगी को दर्द से छुटकारा दिलाना तथा तीसरा काम शल्य-चिकित्सक की आवश्यकतानुसार रोगी की मांसपेशियों को कुछ ढीला करने का प्रयास करना होता है। आरंभिक काल में एक ही निष्चेतक यानि ईथर या क्लोरोफॉर्म से उपरोक्त तीनों काम किये जाते थे, किंतु क्लोरोफॉर्म की मात्रा के कम या अधिक होने से रोगी पर सुरक्षापूर्वक वांछित परिणाम नहीं मिल पाते थे, जिस कारण से चिकित्सा विज्ञान में अनेक शोध जारी रहे और आज इस क्षेत्र में हुई प्रगति से संतुलित निष्चेतक के माध्यम से रोगियों को भिन्न-भिन्न औषधियों के प्रभाव से आवश्यकतानुरूप वांछित परिणाम मिलते हैं।[2]





वर्तमान चिकित्सा में इसका प्रयोग बंद कर दिया गया है। आज क्लोरोफॉर्म का प्रयोग रसायन और साबुन इत्यादि बनाने में किया जाता है। इसका निर्माण इथेनॉल के साथ क्लोरीन की अभिक्रिया कराने के बाद होता है। यह विषैला होता है और इस कारण इसे सावधानीपूर्वक प्रयोग किया जाना चाहिए। क्लोरोफॉर्म के अधिक निकटस्थ प्रयोग रहने से शरीर के कई अंगों पर बुरा असर पड़ सकता है।



Comments Kaushal Kumar on 17-01-2022

ALL INDIA CASH ON DELIVERY AVAILABLE



CHOLOROM SPRAY AND LIQUID

CONTACT MR KAUSHAL KUMAR

8210619070

8210619070



100ML 1000 COD

200ML 1800 COD

250ML 2000 COD

500ML 4000 COD

Harsh attri on 30-09-2019

Chloroform ki kitni Matra m kitni der tak aadmi behosh Rh Sakta h

Ranveer on 12-05-2019

chloroform ka asar kitni der tak rehta hai

Adarsh jaiswal on 23-12-2018

Chloroform banane ki prayogshala vidhi

Dada on 15-08-2018

Cloroform dawai kis liye hoti h



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment