अलबरूनी का जीवन परिचय

Albarooni Ka Jeevan Parichay

Pradeep Chawla on 20-10-2018

अबु रेहान मुहम्मद बिन अहमद अल-बयरुनी ( : ابوریحان محمد بن احمد بیرونی यानि अबू रयहान, पिता का नाम अहमद अल-बरुनी) या अल बेरुनी ( ) एक फ़ारसी विद्वान लेखक, वैज्ञानिक, धर्मज्ञ तथा विचारक था। अल बेरुनी की रचनाएँ में हैं पर उसे अपनी मातृभाषा फ़ारसी के अलावा कम से कम तीन और भाषाओं का ज्ञान था - , , । वो और की यात्रा पर 1017-20 के मध्य आया था। के , जिसने भारत पर कई बार आक्रमण किये, के कई अभियानों में वो सुल्तान के साथ था। अलबरुनी को का पहला जानकार कहा जाता था।[ ]

चाँद की विभिन्न अवस्था को दर्शाती अलबेरुनी की ये क़िताब दसवी-ग्यारहवीं सदी में लिखी गई थी। यहाँ सूरज को में आफ़ताब लिखा गया है

अलबरुनी ने 146 क़िताबें लिखीं - 35 खगोलशास्त्र पर, 23 ज्योतिषशास्त्र की, 15 गणित की, 16 साहित्यिक तथा अन्य कई विषयों पर।

दर्शन

अल-बरुनी चिकित्सा विशेषज्ञ था और भाषाओं पर भी अच्छा अधिकार रखता था। इसके साथ ही वह एक मशहूर गणितज्ञ, भूगोलवेत्ता, कवि, रसायन वैज्ञानिक और दार्शनिक भी था। उन्होने ही धरती की त्रिज्या नापने का एक आसान फार्मूला पेश किया। बरुनी ने ये भी साबित किया कि प्रकाश का वेग ध्वनि के वेग से अधिक होती है।



Comments Hema on 18-02-2020

Allbarin ka raster

al biruni kahan kahan Gaya on 04-01-2020

al biruni kahan kahan gaya

Nishant on 12-05-2019

अलबेरुनी का जीवनी परिचय दे

Sanjaa on 14-09-2018

Al biruni hat Barth day date



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment