भाई-बहन के पवित्र प्रेम का त्योहार रक्षा बंधन कल जानिए कब है मुहूर्त


Rajesh Kumar at  2017-08-06  at 10:23:13

भाई-बहन के पवित्र प्रेम का त्योहार रक्षा बंधन कल

भाई-बहन के पवित्र प्रेम का त्योहार रक्षा बंधन सात अगस्त को है। इस बार रक्षाबंधन में सुबह में भद्रा व इसके बाद से चंद्रग्रहण का साया है। वाराणसी पंचांग के अनुसार भद्रा मान्य है, जबकि मिथिला पंचांग के अनुसार भद्रा मान्य नहीं है। मैथिली पंडित कपिलदेव मिश्र ने कहा कि सात को सूर्योदय के बाद से ही बहनें राखी बांध सकती हैं। सूर्यास्त से पूर्व तक राखी बांधी जा सकती है। उन्होंने कहा कि भद्रा में राखी बांधने से राजा का नाश होता है। यहां प्रजातांत्रिक व्यवस्था है, ऐसे में इसका कोई औचित्य नहीं है। वहीं वाराणसी पंचांग के जानकार डॉ सुनील बर्म्मन के अनुसार सुबह 10.30 बजे के बाद से रक्षा बंधन शुरू हो जायेगा. सूतक काल में भी राखी बंधाने में कोई दोष नहीं है। इसी दिन रात में खंडग्रास चंद्र ग्रहण भी है, जो रात्रि 10.53 से 12.48 तक रहेगा. चंद्र ग्रहण से नौ घंटे पूर्व सूतक लग जायेगा, जो दोपहर 1.53 बजे से शुरू हो जायेगा. इससे पूर्व भद्रा का प्रभाव रहेगा. ग्रहण के दौरान पूजा-पाठ नहीं होगा. पूर्णिमा रविवार रात्रि 9.57 बजे से शुरू हो रहा है, जो सोमवार रात्रि 11.02 बजे तक है।


Bhai - Bahan Ke Pavitra Prem Ka Tyohar Raksha Bandhan Kal Sat August Ko Hai Is Baar Rakshabandhan Me Subah Bhadra Wa Iske Baad Se Chandragrahan Saaya Varanasi Panchang Anusaar Many, Jabki mithila Nahi maithili Pandit KapilDev Mishra ne Kahaa Ki Sunrise Hee Behnein Rakhi Bandh Sakti Hain Suryast Poorv Tak Bandhi Jaa Unhonne Bandhne Raja Nash Hota Yahan Prajatantrik Vyavastha Aise Iska Koi AuChity Wahin Jankaar Dr. Sunil बर्म्मन 10 30 Baje Shuru Ho Jayega Sootak Kaal Bhi Bandhane Dosh Isi Din Raat KhandGras Chandr Grahan Jo Ratri 53 12 48 Rahega 9 Ghante Lag Dopahar 1 Isse Prabhav Dauran Pooja Path Hoga Purnima Raviwar 57 Raha Somwar 11 02

Labels,,,