हिन्दी व्याकरण- Hindi Bhasha Pady Aur Chhand

Q.122352: निम्नलिखित प्रश्न में से दिये गये पद्यांश में विद्यमान छन्द का निर्देश कीजिए-

प्रश्न-
सोवै कित चकोर ! तू सफल करै किन नैन ? चार दिना की चाँदनी फिरि अँधियारी रैन। फिर अँधियारी रैन सखे, लखि सोच करैगो। सजग रहे नहिं भूजि, काल कृत जाल परैगो। बरनै दीनदयाल लाल, यह लाल न खोवै। रोम-रोम प्रति सोम कला न लखत कित सोवै।
A
B
C
D
Previous Next
कृपया शेयर करें=>


सोवै कित चकोर ! तू सफल करै किन नैन ? चार दिना की चाँदनी फिरि अँधियारी रैन। फिर अँधियारी रैन सखे, लखि सोच करैगो। सजग रहे नहिं भूजि, काल कृत जाल परैगो। बरनै दीनदयाल लाल, यह लाल न खोवै। रोम-रोम प्रति सोम कला न लखत कित सोवै। - - Hindi Bhasha Pady Aur Chhand  हिन्दी व्याकरण in hindi,  छन्द Chaupai question answers in hindi pdf  Savaiya questions in hindi, Know About Doha हिन्दी व्याकरण online test हिन्दी व्याकरण notes in hindi quiz book    Kundaliyan


Comments।