राजस्थान सामान्य ज्ञान-राजस्थानी चित्रकला आमेर शैली उणियारा शैली डूंगरपूर उपशैली देवगढ़ उपशैली Gk ebooks


Rajesh Kumar at  2018-08-27  at 09:30 PM
विषय सूची: राजस्थान सामान्य ज्ञान Rajasthan Gk in Hindi >> राजस्थानी चित्रकला राजस्थान की चित्रकारी >>> राजस्थानी चित्रकला आमेर शैली उणियारा शैली डूंगरपूर उपशैली देवगढ़ उपशैली

राजस्थानी चित्रकला आमेर शैली उणियारा शैली डूंगरपूर उपशैली देवगढ़ उपशैली

आमेर शैली 
अन्य देशी रियासतों से आमेर का इतिहास अलग रहा है। यहाँ की चित्रकारी में तुर्की तथा मुगल प्रभाव अधिक दिखते है जो इसे एक स्वतंत्र स्थान देती है।




उणियारा शैली
अपनी आँखों की खास बनावट के कारण यह शैली जयपुर शैली से थोड़ी अलग है। इसमें आँखे इस तरह बनाई जाती थी मानो उसे तस्वीर पर जमा कर बनाया गया हो।


डूंगरपूर उपशैली 

इस शैली में पुरुषों के चेहरे मेवाड़ शैली से बिल्कुल भिन्न है और पगड़ी का बन्धेज भी अटपटी से मेल नहीं खाता। स्त्रियों की वेषभूषा में भी बागड़ीपन है।


देवगढ़ उपशैली
देवगढ़ में बडी संख्या में ऐसे चित्र मिले हैं जिनमें मारवाड़ी और मेवाड़ी कलमों का समावेश है। यह भिन्नता विशेषत: भौगोलिक स्थिति के कारण देखी गई है।



सम्बन्धित महत्वपूर्ण लेख
ढूँढ़ाड शैली / जयपुर शैली
अलवर शैली
राजस्थानी चित्रकला आमेर शैली उणियारा शैली डूंगरपूर उपशैली देवगढ़ उपशैली
राजस्थानी चित्रकला की विशेषताएँ
राजस्थानी चित्रकला का आरम्भ
मारवाड़ी शैली
किशनगढ़ शैली
बीकानेर शैली
हाड़ौती शैली/बूंदी व कोटा शैली

Rajasthani ChitraKala Amer Shaili Uniyaara Dungarpur Upshaili Devagadh Anya Deshi Riyasaton Se Ka Itihas Alag Raha Hai Yahan Ki Chitrakari Me Turkey Tatha Mugal Prabhav Adhik Dikhte Jo Ise Ek Swatantr Sthan Deti Apni Ankhon Khas Banavat Ke Karan Yah Jaipur Thodi Isme Ankhein Is Tarah Banai Jati Thi Mano Use Tasveer Par Jama Kar Banaya Gaya Ho Purushon Chehre Mewad Bilkul Bhinn Aur Pagdi Bandhej Bhi Atpati Mail Nahi Khata Stri


Labels,,,