DeerghNikaay (दीर्घनिकाय) Meaning In English

दीर्घनिकाय का अन्ग्रेजी में अर्थ

दीर्घनिकाय (DeerghNikaay) = Longevity



त्रिपिटकदीघनिकाय (संस्कृत:दीर्घनिकाय) बौद्ध ग्रंथ त्रिपिटक के सुत्तपिटक का प्रथम निकाय है। दीघनिकाय में कुल ३४ सुत्त सूत्र है। यह लम्बे सूत्रों का संकलन है। इन सुत्रों के आकार दीर्घ (लम्बा) हैं इसी लिए इस निकाय को दीघनिकाय (पालि दीघ=दीर्घ) कहा गया है। दीघनिकाय तीन वग्गों (वर्गों) में विभक्त है-पहले वग्ग में 13 सुक्त हैं, दूसरे में 10 हैं और तीसरे में 11। इस प्रकार इस निकाय में कुल 34 सुत्त हैं। पहले वग्ग का मुख्य विषय शील है। इसलिए उसका नाम सीलक्खंधवग्ग रखा गया है। दूसरे वग्ग में महापरिनिब्बान, महासतिपठ्ठान जैसे बड़े बड़े सुत्त संग्रहीत हैं। इसलिए उसका नाम महावग्ग रखा गया है। तीसरे वग्ग का नामकरण उसके पहले सुत्त के अनुसार हुआ है। भगवान् बुद्ध ने निर्वाणप्राप्ति के लिए मध्यम मार्ग का उपदेश दिया है। यह अष्टांगिक मार्ग है। इसमें शील, समाधि और प्रज्ञा का समावेश है इसलिए अनेक स्थलों पर उन्होंने आर्यमार्ग का उपदेश शील, समाधि और प्रज्ञा के रूप में ही दिया है। दीघनिकाय के अनेक सुत्तों से भी यह बात स्पष्ट हो जाती है। ब्रह्मजाल सुत्त में उस समय प्रचलित 62 दृष्टियों अर्थात् दार्शनिक मतवादों का विस्तृत वर्णन है। अन्य कई एक सुत्तों में भी उनका वर्णन संक्षेप में आया है। बुद्ध के समकालीन छ: तीर्थंकरों के सिद्धांतों का उल्लेख सामंञ्ञफल सुत्त में आया है। उन तीर्थंकरों में भगवान महावीर भी थे। इनके निर्वाण और शिष्यों में धर्म संबंधी मतभेद की चर्चा पासादिक और संगीतिपरियाय सुत्तों में आई है। उस समय भारत में प्रचलित अनेक धार्मिक संप्रदायों में कठिन तपस्या का अभ्यास साधना का एक प्रमुख अंग था। भगवान बुद्ध उस पद्धति के समर्थक नहीं थे। कस्सपसीहनाद और उदुबरिकसीहनाद आदि सुत्तों में उन तपस्याओं और तत्संबंधी भगवान के विचारों पर प्रकाश पड़ता है। पशुबलि द्वारा यज्ञ करना उस समय प्रचलित कर्मकांड का एक विशेष अंग रहा है। कूटदंत सुत्त में उन्होंने अहिंसात्मक यज्ञानुष्ठान का उपदेश दिया है। बुद्धकालीन भारतीय समाज चतुर्वर्णी व्यवस्था पर स्थित था। भगवान बुद्ध जन्मना उच्च नीच के भी बड़े विरोधी थे। आचरण को ही इसकी कसौटी मानते थे। जातिवाद का विवेचन त्रिपिटक के अनेक स्थलों पर आया है। दीघनिकाय के अंबट्ठ सोगदंड और अग्गम्म सुत्तों में भी इस विषय की चर्चा और तत्संबंधी बुद्ध के विचार आए
Hindi Dictionary. Devnagari to roman Dictionary. हिन्दी भाषा का सबसे बड़ा शब्दकोष। देवनागरी और रोमन लिपि में। एक लाख शब्दों का संकलन। स्थानीय और सरल भाषा में व्याख्या।

Tags: DeerghNikaay meaning in English. DeerghNikaay in english. DeerghNikaay in english language. What is meaning of DeerghNikaay in English dictionary? DeerghNikaay ka matalab english me kya hai (DeerghNikaay का अंग्रेजी में मतलब ). DeerghNikaay अंग्रेजी मे मीनिंग. English definition of DeerghNikaay. English meaning of DeerghNikaay. DeerghNikaay का मतलब (मीनिंग) अंग्रेजी में जाने। DeerghNikaay kaun hai? DeerghNikaay kahan hai? DeerghNikaay kya hai? DeerghNikaay kaa arth. Hindi to english dictionary(शब्दकोश).दीर्घनिकाय को अंग्रेजी में क्या कहते हैं.
Advertisements
इस श्रेणी से मिलते जुलते शब्द:

ये शब्द भी देखें:

synonyms of DeerghNikaay in Hindi DeerghNikaay ka Samanarthak kya hai? DeerghNikaay Samanarthak, DeerghNikaay synonyms in Hindi, Paryay of DeerghNikaay, DeerghNikaay ka Paryay, In “gkexams” you will find the word synonym of the DeerghNikaay And along with the derivation of the word DeerghNikaay is also given here for your enlightenment. Paryay and Samanarthak both reveal the same expressions. What is the synonym of DeerghNikaay in Hindi?

Keywords:-

दीर्घनिकाय का पर्यायवाची, synonym of DeerghNikaay in Hindi, दीर्घनिकाय का पर्यायवाची शब्द क्या है, DeerghNikaay Paryayvachi Shabd, DeerghNikaay ka Paryayvachi, DeerghNikaay synonyms, दीर्घनिकाय का समानार्थक, DeerghNikaay ka Samanarthak, DeerghNikaay ka Paryayvachi kya hai, DeerghNikaay पर्यायवाची शब्द, DeerghNikaay synonyms in hindi, DeerghNikaay ka Paryayvachi in hindi

Tags:-

DeerghNikaay Paryayvachi Shabd, DeerghNikaay ka Paryayvachi, दीर्घनिकाय पर्यायवाची शब्द, DeerghNikaay synonyms in hindi

पिछला शब्द अगला शब्द
Comments।