REET 2021 : राजस्थान में महावीर जयंती के दिन रीट परीक्षा के आयोजन को हाईकोर्ट में चुनौती, 25 मार्च को होगी सुनवाई

REET 2021 : rajasthan Me Mahavir Jayanti Ke Din REET Pariksha Ke Aayojan Ko HighCourt Me Chunauti , 25 March Ko Hogi Sunwayi

GkExams on 27-03-2021



आपको बता दें कि पिछले अनेक दिनों से जैन समाज रीट परीक्षा तारीख पर एतराज़ जता रहा है। जैन संगठन का कहना है कि इस दिवस परीक्षा होगी तो वो परीक्षा के केंद्र के लिए अपने विद्यालय नहीं देंगे। राज्य में अनेक विद्यालय चलाए जा रहे हैं। इन लोगों ने शिक्षा मन्त्री को ज्ञापन भी दिया किन्तु कोई फ़ैसला नहीं हुआ।


महावीर जयंती के दिन रीट परीक्षा 2021 आयोजित करने के विरुद्ध राजस्थान उच्च न्यायालय में याचिका दाखिल की गई है। याचिका अखिल भारतवर्षीय दिगंबर जैन तीर्थ क्षेत्र समिति व राजस्थान जैन सभा द्वारा की गई है। इस

मामले की सुनवाई पच्चीस मार्च को होगी। याचिका में कहा गया है कि राजस्थान बोर्ड (आरबीएसई) पच्चीस अप्रैल को रीट परीक्षा आयोजित करने जा रहा है। किन्तु उस दिन महावीर जयंती है। महावीर जयंती के दिन जैन धर्मावलंबी जैन मंदिरों में पूजा अर्चना करते हैं। जैन धर्म को मानने वाले जो रीट उम्मीदवार पच्चीस अप्रैल को पूजा से वंचित रह जाएंगे। इससे उनके संवैधानिक अधिकारों का हनन हो रहा है।

जरोली की

ओर से कहा गया है कि पच्चीस अप्रैल के अतिरिक्त कोई भी रविवार परीक्षा के लिए खाली नहीं है। सब रविवार में किसी न किसी एजेंसी की परीक्षा निर्धारित है। ऐसे में रीट 2021 का आयोजन पच्चीस अप्रैल 2021 को ही किया जाएगा। बोर्ड ने कोर्ट के आदेश के बाद पर लेवल जंगल के लिए भराए गए आवेदन की अन्तिम तिथि 20 फरवरी तय की थी। इस इम्तिहान के लिए अब तक 16.5 लाख से ज्यादा अभ्यर्थी आवेदन कर चुके हैं। रीट के जरिए राज्य में 31000 शिक्षकों की भर्ती होनी है।

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा

बोर्ड (आरबीएसई) के अध्यक्ष डॉक्टर डीपी जरोली ने साफ़ बोल दिया है कि रीट 2021 इम्तिहान अपने तय वक्त पच्चीस अप्रैल 2021 पर ही होगी। उम्मीदवार किसी भी भ्रांति की दशा में न रहें।

पात्रता नम्बरों

में 5 से 20 प्रतिशत तक की छूट
रीट में अनेक श्रेणी को पात्रता नम्बरों में छूट दी गई है। आदेश के के अनुसार रीट आरक्षित श्रेणी को पात्रता नम्बरों में 5 प्रतिशत से लेकर 20 प्रतिशत नम्बरों तक की छूट मिलेगी। रीट में विभिन्न श्रेणियों के लिए कम से कम उत्तीर्णांक इस तरह निर्धारित किए गए हैं।
सामान्य/अनारक्षित-60 नंबर (टीएसपी व नॉन टीएसपी)
अनुसूचित जनजाति (ST) -55 (नॉन टीएसपी),36 (टीएसपी)
अनुसूचित जाति (SC),OBC,एमबीसी व आर्थिक कमजोर जाति-55 नंबर (नॉन टीएसपी व टीएसपी)
संपूर्ण कैटेगरी की विधवा और परित्यक्ता महिलाएं और भूतपूर्व सैनिक-50 नंबर (टीएसपी व नॉन टीएसपी)
दिव्यांग-40 नंबर (टीएसपी व नॉन टीएसपी)
सहरिया जनजाति-36 नंबर (टीएसपी व नॉन टीएसपी)

जानें रीट से जुड़े बदलावों के

बारे में
-बीएसटीसी वाले ही सम्मिलित होंगे। B.Ed. वाले सम्मिलित नहीं। क्योंकि B.Ed. वालों को लेवल-1 का टीचर बन जाने के बाद 6 महीने का पुल Course करना होता है। प्रदेश में इसकी कोई संस्था नहीं।
-पहले रीट के लिए स्नातक में 50% नम्बरों के साथ B.Ed. जरूरी था। अब B.Ed. के साथ स्नातक या पीजी में किसी भी एक में 50% नंबर होने चाहिए।
-पहले भर्ती की मेरिट में लेवल-2 में रीट-आरटेट में नम्बरों का 70% व स्नातक के नम्बरों का 30% Weightage जोड़कर मेरिट बनाई जाती थी। अब टीचर भर्ती में लेवल-2 में रीट-आरटेट के नम्बरों का 90% व स्नातक के नम्बरों का 10% Weightage जोड़कर मेरिट बनाई जाएगी।
-पहले रीट में राजस्थान के जीके को प्राथमिकता नहीं थी। एनसीटीई के पाठ्यक्रम के आधार पर ही रीट का पाठ्यक्रम तय था। अब रीट में प्रदेश की भौगोलिक दशा,कौशल संस्कृति,इतिहास से जुड़े प्रश्न होंगे।
-वाणिज्य स्ट्रीम से बीए करने वाले भी रीट दे सकेंगे। इनको रीट लेवल-2 में सोशल स्टडीज विषय में सम्मिलित किया जाएगा।



Comments

आप यहाँ पर REET gk, 2021 question answers, महावीर general knowledge, जयंती सामान्य ज्ञान, रीट questions in hindi, परीक्षा notes in hindi, हाईकोर्ट pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment