अर्थशास्त्र की प्रकृति एवं क्षेत्र

Arthshasatra Ki Prakriti Aivam Shetra

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

GkExams on 10-01-2019

अर्थशास्त्र की प्रकृति

हम अकसर यह चर्चा करते हैं की अर्थशास्त्र को विज्ञान के रूप में देखा जाये या कला कें रूप में यहाँ सर्वप्रथम इसे विज्ञान के रूप में मैंने दर्शाने की कोशिश की हैं।

अर्थशास्त्र-विज्ञान के रूप में

अर्थशास्त्र विज्ञान हैं
अगर हम अर्थशास्त्र का विश्लेषण करें तो हम पायगे की इसमें विज्ञान जैसी कई विशेषताएँ हैं उदाहरण कें लिए जब हम मांग के नियम के बारें में सोचे तो यह किसी वस्तु की कीमत और मांग के बीच में कारण और प्रभाव का सम्बन्ध बताता हैं। ठीक इसी प्रकार विज्ञान कारण और प्रभाव का सम्बन्ध बताता हैं। यहाँ कीमत कारण हैं और प्रभाव वस्तु की मांग हैं।
विज्ञान की तरह अर्थशास्त्र की अपनी विधि होती हैं अध्ययन करने के लिए।
लेकिन यह बात आवश्यक हैं की यह पूर्ण रूप से विज्ञान नहीं हैं क्योंकि
-एक विशेष स्थिति में अर्थशास्त्री एक सामान विचार नहीं रखते हैं।
-अर्थशास्त्र विषय में मानव व्यवहार देखा जाता हैं जोकि अधिकतर पूर्वानुमान पर आधारित होता हैं।
-मुद्रा जोकि अर्थशास्त्र में परिणाम मापने का तरीका हैं वह भी आश्रित चर हैं।
-अर्थशास्त्र चर के व्यवहार के बारे में सही अनुमान लगाना संभव नहीं हैं।

इस प्रकार से अर्थशास्त्र की विधि के कारण इसे विज्ञान के रूप में देखा जा सकता हैं,परन्तु पूर्ण रूप से इसे विज्ञान नहीं कह सकते।



Comments Adarsh kise kahte hai on 12-04-2019

Adarsh kise kahte hai

Pratimesh pandey on 18-11-2018

Kya aap hame arthshastra ki Prakrit yevam chhetr ke bare me jankqri de sakte hai



आप यहाँ पर अर्थशास्त्र gk, question answers, general knowledge, अर्थशास्त्र सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment