अर्थशास्त्र की प्रकृति

Arthshasatra Ki Prakriti

Gk Exams at  2020-10-15

GkExams on 10-12-2018

अर्थशास्त्र-विज्ञान के रूप में

अर्थशास्त्र विज्ञान हैं
अगर हम अर्थशास्त्र का विश्लेषण करें तो हम पायगे की इसमें विज्ञान जैसी कई विशेषताएँ हैं उदाहरण कें लिए जब हम मांग के नियम के बारें में सोचे तो यह किसी वस्तु की कीमत और मांग के बीच में कारण और प्रभाव का सम्बन्ध बताता हैं। ठीक इसी प्रकार विज्ञान कारण और प्रभाव का सम्बन्ध बताता हैं। यहाँ कीमत कारण हैं और प्रभाव वस्तु की मांग हैं।
विज्ञान की तरह अर्थशास्त्र की अपनी विधि होती हैं अध्ययन करने के लिए।
लेकिन यह बात आवश्यक हैं की यह पूर्ण रूप से विज्ञान नहीं हैं क्योंकि
-एक विशेष स्थिति में अर्थशास्त्री एक सामान विचार नहीं रखते हैं।
-अर्थशास्त्र विषय में मानव व्यवहार देखा जाता हैं जोकि अधिकतर पूर्वानुमान पर आधारित होता हैं।
-मुद्रा जोकि अर्थशास्त्र में परिणाम मापने का तरीका हैं वह भी आश्रित चर हैं।
-अर्थशास्त्र चर के व्यवहार के बारे में सही अनुमान लगाना संभव नहीं हैं।

इस प्रकार से अर्थशास्त्र की विधि के कारण इसे विज्ञान के रूप में देखा जा सकता हैं,परन्तु पूर्ण रूप से इसे विज्ञान नहीं कह सकते।



Comments आशीष भादे on 12-02-2021

अर्थशास्त्र की प्रकृति एवं क्षेत्र पर चर्चा कीजिए

Pinki on 30-11-2020

Artsastr ki prakrti ki vivechna kijiye

Guru on 19-10-2019

WAyasti arthshashtra ko mulbhoot awdharday

khushi on 24-09-2018

samasti ki parkarti kya h pls bathe mujhe answer Hal krna h



Labels: , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment