मीराबाई की पदावली का अर्थ

Mirabai Ki Padavali Ka Arth

Pradeep Chawla on 31-08-2018


हरि बिन कूण गती मेरी।
तुम मेरे प्रतिपाल कहिये मैं रावरी चेरी।।
आदि अंत निज नाँव तेरो हीयामें फेरी।
बेर बेर पुकार कहूं प्रभु आरति है तेरी।।
यौ संसार बिकार सागर बीच में घेरी।
नाव फाटी प्रभु पाल बाँधो बूड़त है बेरी।।
बिरहणि पिवकी बाट जोवै राखल्यो नेरी।
दासि मीरा राम रटत है मैं सरण हूं तेरी।।1।।
शब्दार्थ /अर्थ :- कूण = कौन क्या। हीयामें फेरी = हृदय में याद करती रहती हूं।
आरति =उत्कण्ठा, चाह। यौ = यह। पाल बांधो = पाल तान लो।
बेरी =नाव का बेड़ा। नेरी =निकट।



Comments mahfooz Ahmad on 26-03-2021

मीरा संसार की तुलना किससे की है अगर क्यो

Mere main baso nandlal on 03-02-2020

Mere main baso nandlal

Deepa Kumari ram on 16-01-2020

जागो बंसीवारे ललना, जागो मोरे प्यारे।।टेक।।
रजनी बीती भोर भयो है, घर घर खूले किंवारे।
गोपी दही मथत सुनियत है, कँगना के झनकारे।
उछो लाल जी भोर भयो है, सुन रन ठाढ़े द्वारे।
ग्वाल बाल सब करत कुलाहल, जय जय सबद उचारे।
माखन रोटी हाथ में लीनी, गउधन के रखवारे।
मीराँ के प्रभु गिरधरनागर, सरण आयाँ कूँ तारे।।
Meaning in hindi please


Dipali on 03-01-2020

Mere to giridhar gopaal dusro na koi................. Dasi mira lal giridhar tari ab mohi

सुभाष on 21-11-2019

मीराबाई की भक्ति में ऐसा क्या था जो उन्हें और भक्तों से अलग करता है

Akash on 02-09-2019

Bhakti padavali ki puri Kahani arth sahit


Pdawli6ka hindi arth on 24-07-2019

Pdawli6ka hindi arth

harsh on 10-07-2019

Mai Re Mai To Leo Govind Mall Koi Kahe achi Ne Koi Aaye Chupke Liyo Re budget Dhol Koi Kahe Mogo Mogo Koi Kahe sogo Liyo Re Tarazu toll Koi Kahe karo Koi Kare varo Leo Anmol Amol Mall Yahi khushab Jagat hai isliye Rahi Aankh Khol mirakuru Prabhu Darshan Diye Purab German ko call Ka Sandal Vyakhya

Guru on 05-04-2019

Shri krishan ji na kon sa parvat dharn kiya dha

Rohit Gupta on 23-08-2018

Bso mere nainan me nandlal pad
do

Vijay Kumar on 18-08-2018

Sir ji hame poore pado ka arth de do



Labels: , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment