ग्लिसरीन और फिटकरी

Glycrin Aur Fitkari

GkExams on 31-05-2020



  1. फिटकरी क्‍या है – What is Alum

    फिटकरी गंध रहित, रंगहीन और पारदर्शी पदार्थ है जो क्रिस्‍टलीय ब्‍लॉक या दानेदार पाउडर के रूप में पाया जाता है, जिसमें हल्का मीठा, कसैला स्‍वाद (astringent taste) होता है।


    ऐलम को भारतीय क्षेत्रीय बोली के अनुसार फिटकरी के नाम से पुकारा जाता है, जिसे पोटेशियम ऐलम या पोटेशियम एल्‍यूमिनियम सल्‍फेट जैसे कई नामों से भी जाना जाता है। आयुर्वेद में फिटकरी को फितकारी या सौराष्‍ट्री भी कहा जाता है। आयुर्वेद समेत यूनानी चिकत्‍सा पद्यतियों में फिटकरी का व्यापक उपयोग किया जाता है।


    यूनानी दवाओं में फिटकरी का प्रयोग विभिन्न उपचारों के लिए किया जाता है क्योंकि इसके गुण बाँधने वाला (astringent), दर्द हटाने वाला (Analgesic), होमियोस्टैटिक, ज्वर हटाने वाला (Antipyretic), डिटर्जेंट, संक्षारक, उत्तेजक और चिड़चिड़ाहट को दूर करने में मदद करते हैं। ऐसा भी माना जाता है कि फिटकरी के हमारे स्‍वास्‍थ्‍य के लिए फायदे बहुत अधिक और नुकसान बहुत ही कम हैं।


    फिटकरी का फॉर्मूला – Alum formula


    पोटेशियम एलम के लिए रासायनिक सूत्र KAl(SO4)2.12H2O है। यह पोटेशियम एल्‍यूमीनियम सल्‍फेट का हाइड्रेटेड रूप है और इसका नाम पोटेशियम एल्‍यूमीनियम सल्‍फेट डोडकाहाइड्रेट (potassium aluminium sulphate dodecahydrate) है।


    फिटकरी (पोटाश ऐलम) की विशेषताएं – Characteristics Of Potash Alum


    पोटाश ऐलम चट्टानों (rocks) में स्‍वाभाविक रूप से पाया जाता है जहां चट्टानों में पोटेशियम और सल्‍फाइड खनिज मौसम के संपर्क में आते हैं। ऐलम क्रिस्‍टल रूप में रंगहीन होता है। 100 प्रतिशत शुद्ध फिटकरी पूरी तरह से पारदर्शी होता है और पूरी तरह से पानी में घुलनशील होता है। गर्म करने पर यह छिद्र युक्त हो जाता है।


    फिटकरी के गुण – Alum properties


    एंटीसेप्टिक, बाँधने वाला, एंथोमोरेगैजिक (antihemorrhagic) और एंटीबैक्‍टीरियल गुण फिटकरी में अच्छी मात्रा में उपस्थित होते हैं जो कई त्वचा समस्याओं के इलाज के लिए इसे बहुत प्रभावकारी बनाते हैं। आयुर्वेद और चीनी दवाओं में पुराने समय से ही फिटकरी का उपयोग किया जा रहा है क्योंकि इसमें कई अद्भुत औषधीय गुण हैं।


    फिटकरी के प्रकार – Types of Alum


    फिटकरी (potash alum) को सही ढंग से पहचानने के लिए आमतौर पर पाए जाने वाले अन्‍य विभिन्न प्रकार के ऐलम को जानना अच्छा होता है।


    1. पोटेशियम ऐलम (Potassium alum)
    2. अमोनियम ऐलम (Ammonium alum)
    3. सोडियम ऐलम (sodium alum)
    4. क्रोम ऐलम (chrome alum)
    5. एल्‍यूमिनियम सल्‍फेट (Aluminum sulfate)
    6. सेलेनेट ऐलम (selenate alum)


    फिटकरी के फायदे – Fitkari ke fayde


    हमारे दैनिक जीवन में फिटकरी बहुत उपयोगी है। यह हमें सौंदर्य देखभाल से लेकर गंभीर या हल्की चोटों तक बहुत सी स्‍वास्‍थ्‍य समस्याओं को दूर करने में मदद करता है। इसलिए हर घर में फिटकरी जरूर होना चाहिए। इस लेख के माध्यम से आप जानेंगे फिटकरी से प्राप्त होने वाले लाभों के बारे में।


    अक्‍सर फिटकरी के माध्यम से पानी की अशुद्धियों को फिल्‍टर (filter impurities) करने और इसे साफ करने के लिए उपयोग किया जाता है। हालांकि इसका यही एक मात्र उपयोग नहीं है क्योंकि इसका उपयोग कई सौंदर्य और स्‍वास्‍थ्‍य कार्यों के लिए किया जाता है। यह मांसपेशीय ऐंठन को दूर करने और मुंहासों से निपटने जैसे कई स्‍वास्‍थ्‍य लाभ प्रदान करता है। आइए जाने फिटकरी किस तरह से हमें फायदे पहुंचाती है।


    आंख के फोड़े के लिए फिटकरी के अचूक उपाय – Alum for Eye Abscess


    आंखों के फोड़ों की समस्या को दूर करने के लिए फिटकरी बहुत उपयोगी होती है। आंख के फोड़ों के इलाज के लिए थोड़े पानी के साथ चंदन और फिटकरी का पेस्‍ट बनाएं। इस पेस्‍ट (paste) का इस्तेमाल करने पर यह बहुत ही प्रभावी होता है। इसका उपयोग करने से फोड़ा उसी दिन फूट जाता है जिससे आंखों को आराम मिलता है। सबसे अच्छी बात यह है कि इसे कई सालों तक सुरक्षित रखा जा सकता है और जरूरत पड़ने पर फिटकरी का उपयोग फिर से किया जा सकता है।


    मुंह की सफाई के लिए फिटकरी के फायदे – Fitkari ke fayde for mouth wash


    मुंह की गंदी बदबू (foul breath) के मुख्य कारणों में से एक निश्चित रूप से बैक्‍टीरिया की उपस्थिति होती है, जो अक्‍सर विषाक्त पदार्थ और एसिड बनाते हैं। एलम माउथवाश के साथ मुंह की सफाई करने से बैक्‍टीरिया के विकास को रोका जा सकता है। इस प्रकार आप फिटकरी का उपयोग करके मुंह से आने वाली बदबू को दूर कर सकते हैं।


    फिटकरी का पानी पीने के फायदे ऐंठन को दूर करे – Fitkari ka pani pine ke fayde for muscle Cramps


    मांसपेशीय ऐंठन को कम करने के लिए एक प्राकृतिक उपचार के रूप में फिटकरी का उपयोग किया जाता है। इसके लिए फिटकरी और हल्दी को मिलाकर सेवन करना लाभकारी होता है। फिटकरी में खून को पतला करने वाले गुण होते हैं और साथ ही हल्दी के एंटीसेप्टिक गुण आपस में मिलकर मांसपेशीय दर्द को कम करने में मदद करते हैं।


    फटी एड़ियों के लिए फिटकरी लगाने के लाभ – Alum for Cracked Heels


    फटी एड़ियों का उपचार फिटकरी पाउडर के द्वारा किया जा सकता है। बस इस उपाय के लिए एक छोटे बर्तन में फिटकरी को गर्म किया जाता है। जब हम इसे गर्म करते हैं तो यह पिघलने या तरल होने के साथ फोम भी बनाता है। जब यह पूरी तरह से वाष्पित (evaporates) हो जाता है तो इसे ठंडा होने के लिए छोड़ दें। फिर इसके टुकड़ों को बारीक पाउडर बना कर नारियल के तेल के साथ मिलाकर पैरों में लगाया जाता है। ध्‍यान रहे कि फिटकरी बारीक पाउडर के रूप में हो नहीं तो इसे पैरों में लगाना मुश्किल हो सकता है। यह उपाय आपकी फटी एड़ियों (cracked heels) को राहत प्रदान करने का सबसे अच्छा उपचार है।


    फिटकरी का उपयोग रोके रक्‍त स्राव को – Fitkari Ka Upyog for cuts


    कुछ अध्ययनों से पता चलता है कि फिटकरी में रक्तस्राव को कम करने की क्षमता होती है। आप चोट लगने पर बहते हुए खून को रोकने के लिए फिटकरी का उपयोग कर सकते हैं। लेकिन यहां याद रखें कि यदि आपकी चोट या कट बहुत गहरा है और फिटकरी के उपयोग से खून का बहना बंद नहीं हो रहा है तो आपको तुरंत ही किसी चिकित्सक की सहायता लेनी चाहिए। ऐसी स्थिति पर एल्‍यूम अवशेष (alum residue) पर निर्भर नहीं रहना चाहिए।


    फिटकरी के लाभदायक गुण पेचिश के इलाज में – Alum Treats dysentery


    शोधकर्ताओं का दावा है कि फिटकरी पाउडर पेचिस (dysentery) के इलाज में मदद करता है। जब तक आप बेहतर महसूस न करें तब तक केवल फिटकरी पाउडर से बनी हुई चाय का सेवन करें। हालांकि इसका ज्यादा उपभोग नहीं करना चाहिए।


    में कसाव लाने के लिए फिटकरी का उपयोग – Alum for Tightens the


    ऐलम के टुकड़ों में दीवारों (Vagina walls) को कसने वाले गुण होते हैं। लेकिन यह बहुत समय तक उपयोग करने के लिए असु‍रक्षित है, क्‍योंकि यह ऊतकों को नुकसान पहुंचा सकते हैं और साथ ही उन्‍हें सूखा भी कर सकते हैं।


    फिटकरी पाउडर के साथ अपनी को कड़ा बनाने के लिए एक बड़े टब में पानी के साथ फिटकरी को मिलाएं। आप इस टब में बैठ जाएं और सुनिश्चित करें कि आपकी इस पानी में पूरी तरह से डूबी है। आप तरल फिटकरी का उपयोग स्‍पंज के साथ भी कर सकते हैं। स्‍पंज की सहायता से आप अपनी को साफ करें और फिटकरी (alum) वाले पानी से धो लें।


    फिटकरी युक्त पानी में आप टेम्पोंन को डुबा कर कुछ देर के लिए इस टेम्पोंन को अपनी में रख सकती हैं।


    आप अपनी को साफ (vaginal clean) करने के लिए भी फिटकरी का उपयोग कर सकती हैं।


    फिटकरी के फायदे बढ़ती उम्र को रोकने के लिए – Alum for Prevents pre-mature ageing


    बहुत से लोगों को पता नहीं है कि फिटकरी में एंटी एजिंग (anti-ageing) गुण होते हैं, इसलिए यह समय से पहले आने वाले बुढ़ापे के लक्षणों को रोकने में मदद करता है और त्वचा को नरम, चमकदार और मनोहर (delightful) बनाता है।


    फिटकरी का इस्तेमाल सिर के जूँ के इलाज में – Alum for Lice Treatments


    बालों की जूँ को खत्म करने के लिए फिटकरी का उपयोग किया जा सकता है। जूँ के उपचार के लिए फिटकरी पाउडर में थोड़ी मात्रा में चाय के पौधे के तेल के साथ (tea tree oil) पानी मिलाया जाता है। इस मिश्रण को थोड़ी देर के लिए अपने सिर पर लगाएं। यह आपके सिर से जूँ को खत्म करने में आपकी मदद करेगा।


    बालों को हटाने के लिए फिटकरी का उपयोग – Phitkari uses for hair removal


    पारंपरिक रूप से बालों को हटाने के लिए फिटकरी का उपयोग किया जाता है। पुराने समय में महिलाएं अपने होंठों के ऊपर के बालों की तरह चेहरे के अवांछित बालों को हटाने (hair removal) के लिए फिटकरी का उपयोग करती थी। इसके लिए आपको करना चाहिए।


    ½ चम्मच फिटकरी पाउडर में 1 चम्मच गुलाब जल मिला कर मिश्रण तैयार करें। आवश्यकता पड़ने पर फिटकरी पाउडर और गुलाब जल को निश्चित अनुपात में समायोजित करें। गुलाब जल और फिटकरी का अनुपात लगभग 1:2 होना चाहिए। इस मिश्रण का उपयोग आप उस जगह पर कर सकते है जहां से आप बालों को हटाना चाहते हैं। इस मिश्रण को लगाने के बाद 20 मिनिट के लिए छोड़ दें। यदि आपको लगता है कि मिश्रण जल्दी सूख गया है तो इसकी नमी बनाए रखने के लिए आप इसमें गुलाब जल का छिड़काव कर सकते हैं। आप इस उपचार को अपने हाथ और पैरों के बालों को हटाने के लिए भी कर सकते हैं। उपयोग किये जाने वाले स्‍थान को मॉइस्‍चराइज रखने के लिए नारियल तेल का इस्तेमाल किया जा सकता है। इस मिश्रण को आंखों के आसपास उपयोग न करें।


    फिटकरी का उपयोग त्वचा को गोरा बनाने के लिए – Phitkari for skin whitening


    त्वचा को गोरा बनाने के लिए फिटकरी पाउडर का उपयोग करने के सबसे अच्छे तरीकों में से एक फेस पैक के रूप में इसका इस्तेमाल करना है। जबभी त्वचा को गोरा करने की बात आती है, तो मेरा मतलब है कि काले धब्बे और निशान को हल्का करना और आपकी त्वचा को टोन और चिकनी बनाना है।


    त्वचा whitening का मतलब है कि हम जिस त्वचा के साथ पैदा हुए हैं उसका रंग बदलना असंभव और अनावश्यक है क्योंकि प्रत्येक त्वचा का रंग अपने आप में खूबसूरत होता है।


    जब हम नियमित रूप से फिटकरी से बना फेस पेक चेहरे पर लगाते हैं, तो यह हमारी त्वचा के लिए कुछ अद्भुत चीजें करता है: यह मुँहासे जैसी त्वचा की समस्याओं का इलाज करता है क्योंकि इसमें एंटी बैक्टीरियल गुण होते हैं।


    यह मुँहासे के निशान, काले धब्बे को भी हल्का करता है और ब्लैकहेड को भी बनने से रोकता है। यह हमारी त्वचा को कसने के साथ मामूली कट और स्क्रैप (scrapes) भी ठीक करता है। लेकिन जब हम त्वचा whitening के लिए एलम पाउडर का उपयोग करते हैं तो हमें कुछ चीजों को याद रखना होगा।


    त्वचा पर फिटकरी का उपयोग करने के साइड इफेक्ट्स – Side Effects Of Using Alum On Skin


    एलम पाउडर त्वचा पर सूख सकता है इसलिए फिटकरी फेस पैक का उपयोग करने के बाद हमेशा मॉइस्चराइज़र का उपयोग करना चाहिए। फिटकरी से भी हल्का घर्षण होता है, इसलिए चेहरे के पैक को हटाते समय हमेशा सादे पानी का उपयोग करके इसे धीरे-धीरे धो लें। यदि आपकी त्वचा संवेदनशील है तो यह विशेष रूप से महत्वपूर्ण है।


    स्किन लाइटनिंग के लिए एलम का उपयोग कैसे करें?


    * डार्क स्पॉट्स के लिए फिटकरी और रोज़ वॉटर फेस पैक,
    * फिटकरी और ग्लिसरीन टोनर,
    * मुँहासे के निशान हटाने के लिए आलम और मुल्तानी मिट्टी फेस पैक


    अपनी पसंदीदा पसंद का चयन करें और इसे अच्छे परिणाम देखने के लिए नियमित रूप से साप्ताहिक या दो बार उपयोग करें


    फिटकरी का अचूक उपचार पिंपल के लिए – Alum for Treating Pimples


    मुँहासे त्वचा की सबसे आम समस्या है और इनसे बचना असंभव है। पिंपल और इनसे होने वाली सूजन को कम करने के कई घरेलू इलाज उपलब्ध हैं। फिटकरी पाउडर के शीतलन गुणों के साथ-साथ चेहरे के मुंहासों को खत्म (eliminate pimples) करने के लिए चेहरे का मास्‍क भी तैयार किया जा सकता है।


    फिटकरी के फायदे फोर स्किन – fitkari ke fayde for skin


    आंतरिक और बाहरी कारकों (internal and external factors) की वजह से त्‍वचा लचीलापन खो सकती है जो रेखाओं और झुर्रियों का कारण होती है। यह आपके समय से पहले बुढ़ापे का संकेत दिखाते हैं। फिटकरी के जीवित एजेंट (surviving agents) आपकी झुर्रियों को कम करने में मदद करते हैं।


    पानी को साफ करने के लिए फिटकरी के उपयोग – Alum for Water Purification


    पानी को शुद्ध (water therapy) करने के लिए फिटकरी का उपयोग किया जाता है। गंदे पानी को साफ करने के लिए प्रति लीटर पानी में लगभग 1 ग्राम फिटकरी पाउडर मिलाएं। यह पानी में उपस्थित गंदे कणों को अलग कर आपको साफ पानी प्राप्त करने में मदद करता है। इसलिए जब भी कभी आप कैंपिंग यात्रा पर जाए तो अपने साथ फिटकरी साथ में जरूर रखें।


    फिटकरी के लाभदायक गुण एथलीट फूट के इलाज में – Alum for athlete’s foot


    ऐलम पाउडर एथलीट फुट (athlete’s foot) संक्रमण को दूर करने का सबसे अच्छा घरेलू उपाय है। इसके लिए आप गर्म पानी में 2 बड़े चम्‍मच फिटकरी पाउडर मिलाएं और इस गर्म पानी में अपने पैरों को 20 मिनिट तक डुबो कर रखें। पैरों के सूखने और ठीक होने तक सिंथेटिक कपड़े न पहनें। एथलीट पैर को जल्‍दी ठीक करने के लिए रोजाना इस उपचार को जारी रखें।


    शेविंग के लिए फिटकरी का उपयोग – Alum for Shaving


    सदियों से दाढ़ी बनाते समय फिटकरी का उपयोग किया जा रहा है। एक बार जब आप इसका उपयोग करना शुरू कर देते हैं तो निश्चित रूप से शेव के बाद किये जाने वाले सभी महंगे खर्चो से छुटकारा मिल सकता है। पहली बार संभवतः यह आपको पसंद नहीं (possibly not like) आएगा, हालांकि यदि आप इसका लगातार उपयोग करते हैं तो यह आपकी त्वचा के लिए फायदेमंद होता है। शेविंग के तुरंत बाद गीले चेहरे पर फिटकरी को लगाएं। आप या तो इसे धो सकते हैं या इसे कुछ देर के लिए त्वचा पर लगें रहने दे सकते हैं। पोटाश एलम का उपयोग रक्त का थक्का ज़माने के लिये किया जाता है। दाढ़ी बनाने के बाद इसे चेहरे पर रगड़ा जाता है। जिससे ब्लेड के लगने या कट जाने के कारण निकलने बाले ब्लड को रोका जा सके।


    फिटकरी के नुकसान – fitkari ke Nukshan


    फिटकरी का उपयोग करने से कुछ दुष्‍प्रभाव हो सकते हैं जो इस प्रकार हैं :


    * पोटेशियम ऐलम (potassium alum) त्वचा को कमजोर कर सकता है।
    * फिटकरी खाने के नुकसान : फिटकरी का ज्यादा सेवन करने से पुरुषों में और फ्रक्‍टोज (semen and fructose) का स्तर प्रभावित हो सकता है।
    * लंबे समय तक फिटकरी का अधिक मात्रा में सेवन कैंसर और अल्‍जाइमर (cancer and Alzheimer’s) आदि का कारण हो सकता है।
    * ऐलम का अधिक उपयोग आपके लिए कई समस्याएं पैदा कर सकता है जैसे कि पेचिश, त्वचा का सूखापन (Dry skin) आदि।
    * यदि आपकी त्वचा नाजुक (delicate skin) है तो यह त्वचा में चकते, लाली जैसी परेशानी को बढ़ा सकता है।







GkExams on 31-05-2020

फिटकरी लाल व सफेद दो प्रकार की होती है। दोनों के गुण लगभग समान ही होते हैं। सफेद फिटकरी का ही अधिकतर प्रयोग किया जाता है। यह संकोचक अर्थात सिकुड़न पैदा करने वाली होती है। शरीर की त्वचा, नाक, आंखे, मूत्रांग और मलद्वार पर इसका स्थानिक (बाहृय) प्रयोग किया जाता है। रक्तस्राव (खून बहना), दस्त, कुकरखांसी तथा दमा में इसके आंतरिक सेवन से लाभ मिलता है।



दाढ़ी बनाने, बाल काटने के बाद फिटकरी रगडे़ या पानी में गीला कर दाढ़ी पर लगायें। इससे दाढ़ी की त्वचा सुन्दर और स्वस्थ होती है। जहां पर चींटिया व दीमक हो वहां पर सरसों का तेल लगाकर फिटकरी को डालने से चींटियां व दीमक वहां नहीं आती है।




टांसिल का बढ़ना:

  • टांसिल के बढ़ने पर गर्म पानी में चुटकी भर फिटकरी और इतनी ही मात्रा में नमक डालकर गरारे करें।
  • गर्म पानी में नमक या फिटकरी मिलाकर उस पानी को मुंह के अन्दर डालकर और सिर ऊंचा करके गरारे करने से गले की कुटकुटाहट, टान्सिल (गले में गांठ), कौआ बढ़ना, आदि रोगों में लाभ होता है।
  • 5 ग्राम फिटकरी और 5 ग्राम नीलेथोथे को अच्छी तरह से पकाकर इसके अन्दर 25 ग्राम ग्लिसरीन मिलाकर रख लें। फिर साफ रूई और फुहेरी बनाकर इसे गले के अन्दर लगाने और लार टपकाने से टांसिलों की सूजन समाप्त हो जाती है।


फिटकरी के लाभदायक गुण (benefits of alum) यहीं तक सीमित नहीं हैं। इसके और भी कई हैरान कर देने वाले फायदे हैं। फिटकरी के फायदे जानकर निश्चित ही आप आश्चर्यचकित हो जाएंगे।

  • चोट लग जाने पर
  • चेहरे की झुर्रियां दूर करने में
  • पसीने की बदबू दूर करने के लिए
  • माउथवॉश के लिए
  • फटी एड़ियों का उपचार
  • दूर होगी मौसमी समस्या
  • यूरिनरी ट्रैक्ट इन्फेक्शन




Comments Kamlesh Kumar on 24-03-2020

fitakarri dettol water or glycerin ko milane se kya senetizer banta hai

aditi on 28-11-2019

glycerine and fitkari ka mixture lagane se kya fayeda hota hain



आप यहाँ पर ग्लिसरीन gk, फिटकरी question answers, general knowledge, ग्लिसरीन सामान्य ज्ञान, फिटकरी questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment