मोहनजोदड़ो किस नदी के तट पर स्थित था

Mohanajodadao Kis Nadi Ke Tat Par Sthit Tha

GkExams on 02-07-2022


सही उत्तर : सिन्धु नदी के


आपकी बेहतर जानकारी के लिए बता दे की यह नगर अवशेष सिन्धु नदी के किनारे सक्खर ज़िले में स्थित है। मोहन जोदड़ो शब्द का सही उच्चारण है 'मुअन जो दड़ो'। ध्यान रहे की यह सिंधु नदी भारतीय उपमहाद्वीप में भारत-गंगा के मैदान की मुख्य नदियों में से एक है। और यह भारतीय राज्य जम्मू और कश्मीर और पाकिस्तान की लंबाई के साथ अरब सागर तक बहती है।


Mohanajodadao-Kis-Nadi-Ke-Tat-Par-Sthit-Tha


सिंघु घाटी सभ्यता की खोज (mohenjo daro mystery) राखालदास बनर्जी ने 1921 ई. में की। भारतीय पुरातत्व सर्वेक्षण के महानिदेशक जान मार्शल के निर्देश पर खुदाई का कार्य शुरु हुआ। और यहाँ पर खुदाई के समय बड़ी मात्रा में इमारतें, धातुओं की मूर्तियाँ, और मुहरें आदि मिले थे।


भारत का इतिहास सिंधु घाटी सभ्यता से प्रारंभ होता है जिसे हम "हड़प्पा सभ्यता" के नाम से भी जानते हैं। यह सभ्यता लगभग 2500 ईस्वी पूर्व दक्षिण एशिया के पश्चिमी भाग मैं फैली हुई थी,जो कि वर्तमान में पाकिस्तान तथा पश्चिमी भारत के नाम से जाना जाता है।


यह अब तक ज्ञात सभी सभ्यताओं में सबसे प्राचीन है। इसकी खोज 1921 में हुई। इसका विकास सिंधु और घघ्घर/हकड़ा (indus valley civilization map) के किनारे हुआ। बताया जाता है की हड़प्पा, मोहनजोदड़ो, कालीबंगा, लोथल, धोलावीरा और राखीगढ़ी इसके प्रमुख केन्द्र थे।


सिंधु घाटी सभ्यता (Indus Valley Civilisation) के बारें में :




यह सभ्यता त्रिभुजाकार क्षेत्र में फैली हुई थी तथा इसका क्षेत्रफल 12,99,600 वर्ग किमी. था। सबसे पहले 1826 ई. में चाल्स मर्सन को हड़प्पा से बड़ी संख्या में ईंटें प्राप्त हुई थी। 1856 ई. में करांची और लाहौर के बीच रेल मार्ग बनाने के लिए ईंटों की आवश्यकता हुई, परिणामस्वरूप हड़प्पा के खंडहर की खुदाई की गई।


खुदाई करते समय ही यहां एक प्राचीनतम स्थल होने का आभास हुआ। इसके बाद विद्वानों ने हड़प्पा को सिंधु घाटी सभ्यता की प्रथम राजधानी कहा है। इन सबके अलावा यहां से प्राप्त बर्तनों पर मानव आकृतियां भी प्राप्त हुई हैं। ध्यान रहे की ऋग्वेद में हड़प्पा सभ्यता को "हरियूपिया" कहा गया है।


हड़प्पा सभ्यता का अंत कैसे हुआ?




बताया जाता है की इस सभ्यता का अंत बाढ़ के प्रकोप से हुआ। ये भी सच है की सिंधु घाटी सभ्यता नदियों के किनारे-किनारे विकसित हूई, इसलिए बाढ़ आना स्वाभाविक था, अतः यह तर्क सर्वमान्य हैं। लेकिन कुछ विद्वान मानते है कि केवल बाढ़ के कारण इतनी विशाल सभ्यता समाप्त नहीं हो सकती।


वैसे हड़प्पा सभ्यता के अंत के कई कारण बताये जाते है, जो निम्नलिखित है....


  • क्षेत्र में वनोन्मूलन
  • जलवायु परिवर्तन
  • आसपास की नदियों का सूखना
  • शासकों का नियंत्रण खोना
  • आर्यों का आक्रमण
  • भू-भाग का अति प्रयोग




  • सम्बन्धित प्रश्न



    Comments shashank on 04-10-2021

    sindhu sabhayta kis nadi ke kinare sthit hai

    Namonarayan meena on 12-05-2019

    Rajasthan me sagvan ke ban nimnlikhit me se kis jile me paye jate ha

    Ajay on 14-02-2019

    Mohanjodhro kis nadi ke kinare h




    आप यहाँ पर मोहनजोदड़ो gk, नदी question answers, general knowledge, मोहनजोदड़ो सामान्य ज्ञान, नदी questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

    Labels: , , , , ,
    अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




    Register to Comment