वनों से प्रत्यक्ष लाभ

Vanon Se Pratyaksh Labh

GkExams on 12-11-2018


भारतीय वनों का महत्त्व

वनों से हमें अनेक प्रकार के प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष लाभ हैं -

(क) प्रत्यक्ष लाभ

1. भोजन - वन से भोजन के लिए कंद-मूल, फल-फूल की प्राप्ति होती है, जो कई आदिम जातियों के लिए आज भी भोजन प्राप्ति का एकमात्र साधन है ।

2. फर्नीचर एवं जलावन के लिए लकड़ी - वनों से हमें प्रतिवर्ष 4000 से अधिक प्रकार की लकड़ी प्राप्त होती है, जिनमें 500 से अधिक मूल्यवान लकडि़याँ हैं, जैसे - सखुआ, सागवान, शीषम, देवदार, चंदन इत्यादि । इससे हमें ईंधन या जलावन की लकड़ी भी प्रचुर मात्रा में प्राप्त होती है ।

3. उद्योगों के लिए कच्चा माल - कागज, दियासलाई, कत्था, रबर, कृत्रिम रेषम, बीड़ी इत्यादि विभिन्न उद्योग-धंधों के लिए कच्चा माल मिलता है ।

4. पशुओं के लिए चारा - वनों में चरने वाले पशुओं को वनों से चारा प्राप्त होता है ।

5. काष्ठकोयला की प्राप्ति - यह जलावन के अतिरिक्त शक्तिसाधन के रूप में उपयोगी सिद्ध हुआ है। भद्रावती का लौह-इस्पात कारखाना काष्ठकोयला का मुख्य रूप से उपयोग करता है ।

6. जड़ी-बूटी आदि की प्राप्ति - इससे जड़ी बूटी, मधु तथा फल-मूल की प्राप्ति होती है ।

7. रेषम की प्राप्ति - अण्डी तथा शहतूत पर रहने वाले रेषम के कीड़ों से रेषम मिलता है ।

8. लाह की प्राप्ति - पलास, कुसुम आदि पर पनपने वाले लाह के कीड़ों से लाह प्राप्त होती है, जिसके उत्पादन पर भारत का एकाधिकार है ।

9. लोगों के आजीविका का साधन - लकड़ी काटने, चीरने, ढ़ोने, सामान तैयार करने आदि से बहुत से लोगों को आजीविका मिल जाती है ।

10. आय की प्राप्ति - सरकार को इससे अरबों रूपए की वार्षिक आय के रूप में होती है।

11. आश्रय प्रदान - कई जनजातियों तथा जीव-जन्तुओं को यह आश्रय प्रदान करता है ।




Comments विवेक पाल on 19-02-2021

Van Manoranjan ke sadhan kis Prakar Se Hain

Bhugol Laghu uttariy prashn on 04-11-2019

Tar
ash cyborgian rail marg ko ek Rekha Manchitra dwara pradarshit kijiye

Nisha Tiwari on 21-04-2019

Lah aur lakh me kya antar hai ????



आप यहाँ पर वनों gk, प्रत्यक्ष question answers, general knowledge, वनों सामान्य ज्ञान, प्रत्यक्ष questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment