भारत में फसल त्योहारों की सूची

Bharat Me Fasal Tyoharon Ki Soochi

Pradeep Chawla on 24-10-2018

फसल एवं त्योहार



बैसाखअक्ती इसी दिन से नई फसल वर्ष की शुरुआत होती है। बीज की तैयारी की जाती है। बीज निकालना और एक-दूसरे को बीज आदान-प्रदान करना।



जेठआ गया जेठ। इस महीने में खेत की सफाई की जाती है। उसके बाद धान बोवाई की जाती है।



आषाढ़-सावनहरेली का त्योहार - अन्न गर्भ पूजा के रुप में मानते हैं। छत्तीसगढ़ में इस त्योहार में मिट्टी के बैल बनाए जाते हैं तथा उनकी पूजा की जाती है।



सावन-भादोपोला - इस त्योहार को भी अन्न गर्भ पूजा के रुप में मनाते हैं। मिट्टी के बैलों को पूजा चढ़ाते हैं।





कुवारनवा खाई - इस महीने में नई फसल की कटाई की जाती है। नए अन्न की पूजा की जाता है। और उसके बाद ही उसेखाया जाता है। इसीलिये इसे कहते हैं, नवा खाई।



कार्तिकगौरा गौरी



अगहनजेठौनी - धान की मिंजाई करते हैं इस महीने में। गाँव के सभी लोग घर से धान की बाली लाते हैं और गाँव के देवता को चढ़ाते हैं। इसके बाद ही मिंजाई आरम्भ करते हैं।





पूष-माघछेर छेरा - धान की मिंजाई खत्म होने के बाद गाँव के बच्चे घर-घर जाते हैं और छेर छेरा गीत गा-गाकर अनाज बीज मांग कर इकट्ठे करते हैं। कटाई होती है उतेरा फसल की।



माघ-फागुनहोली - होली का त्योहार मनाते हैं। उतेरा फसल मिंजाई करते हैं।



चैतचैतरई - इस वक्त खेत की मरम्मत करते हैं। मेढ़ बनाने का कार्य करते हैं



Comments Fibrix on 30-06-2020

भारत के विभिन्न प्रांतों में फसलों से जुड़े कौन-कौन से त्योहार मनाए जाते हैं

Oshi on 04-04-2020

Faslo ke tyoharon bharat me

Sumit khatana gurjar on 28-01-2020

विभिन्न नृत्यों में भारत के विभिन्न राज्यों में मनाए जाने वाले त्योहारों की सूची बनाइए

थथततडफझैथतघच on 11-06-2019

थथततडफझैथतघच

harsh on 12-05-2019

भारत के विभिन्न राज्यों में कौन से फसलों के त्योहार मनाए जाते हैं उसकी सूची बनाइए तथा भारत के मानचित्र में दर्शाइए




Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment