सोनोग्राफी मशीन की कीमत

Sonography Machine Ki Keemat

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

GkExams on 11-01-2019

लैब्स एडवाइजर(LabsAdvisor) की तरफ से आपके लिए कई लैब के विकल्पों की पेशकश है। दिल्ली/NCR में अल्ट्रासाउंड स्कैन की कीमत आपके द्वारा चुनी गई लैब के आधार पर ₹ 300 से ₹ 2000 तक हो सकती है। आप नीचे दिए गए अल्ट्रासाउंड टेस्ट के नाम पर क्लिक कर सकते हैं। और अपने आस पास दिल्ली, नोएडा, गुड़गांव, फरीदाबाद और गाजियाबाद सहित अपने शहर में लैब का चयन कर सकते हैं। और उन लैब में अल्ट्रासाउंड की कीमत को भी जान सकते हैं।


हम आपके लिए 3D / 4D या डोप्लर अल्ट्रासाउंड स्कैन मशीने भी उपलब्ध।

नवीनतम कीमत का पता करने के लिए अल्ट्रासाउंड के नाम पर क्लिक करें।लैब्स एडवाइजर के द्वारा यूएसजी परीक्षण की लागत
Biophysical प्रोफ़ाइल अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 810
फॉलिक्युलर स्टडी सिंगल विजिट अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 600
फॉलिक्युलर स्टडी मल्टीप्ल विजिट अल्ट्रासाउंड की कीमत₹ 1,350
लोअर एब्डोमन अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 595
स्माल पार्ट्स अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 720
थाइरोइड अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 540
होल एब्डोमन विद टी वी एस अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 765
टी वी एस अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 595
होल एब्डोमन अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 450
के यू बी अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 450
लेवल 2 अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 1,350
सिंगल शोल्डर अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 750
होल एब्डोमन विद प्रेगनेंसी अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 1,120
हिप अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 750
अल्ट्रासाउंड एन टी स्कैन की कीमत ₹ 900
Twins लेवल 2 अल्ट्रासाउंड की कीमत ₹ 2,125

हमने दिल्ली में 30,000 से ज्यादा मरीजों की सेवा की है – आप हमारे साथ अपने अल्ट्रासाउंड टेस्ट को संतुष्टि के साथ बुक कर सकते हैं।अगर आप हमारी तरफ से कॉल वापसी चाहते हैं, तो कृपया नीचे दिए गए बटन पर क्लिक करके अपनी नाम और फोन नम्बर दें, हम आपको कुछ ही क्षणों में कॉल करेंगे ।

Call Me Back
गर्भवस्था में अल्ट्रासाउंड/ सोनोग्राफी स्कैन टेस्ट के उपयोग / Uses of Ultrasound Test in Pregnancy

गर्भावस्था में अल्ट्रासाउंड (Ultrasound in pregnancy) करवाने के अन्य कारण हो सकते हैं, जैसे प्रसव (Delivery) का समय जानना तथा गर्भस्थ शिशु की स्थिति जानने के लिए होता है । पहला अल्‍ट्रासाउंड जो किया जाता है वह शिशु की हार्ट बीट और भ्रूण को देखने के लिये किया जाता है। इससे यह सुनिश्चित किया जाता है कि शिशु स्वस्थ है या नहीं।

अल्ट्रासाउंड/सोनोग्राफी टेस्ट के प्रकार / Types of Ultrasound

  • डॉपलरअल्ट्रासाउंड (Doppler Ultrasound):- डॉपलर अल्ट्रासाउंड एक गैर इनवेसिव परीक्षण है। यह Tissues and blood vessels की स्थिति का अनुमान बताता है , जिससे रक्त कोशिकाओं में खून के बहाव की जानकारी मिलती है। इस टेस्ट से खून के थक्के, दिल या नसों की बीमारी आदि का पता चलता है।
  • प्रासविकअल्ट्रासाउंड (Obstetric Ultrasound):- प्रासविक अल्ट्रासाउंड वो प्रक्रिया है जो गर्भावस्था के दौरान किया जाता है। जिसकी मदद से प्रसव (Delivery) का समय, गर्भस्थ बच्चे का विकास,आयु व तंदरुस्ती आदि की स्थिति का पता चलता है।
  • 3D और 4D अल्ट्रासाउंड (3D & 4D Ultrasound):- 3D और 4D अल्ट्रासाउंड, टेस्ट को अधिक प्रभावशाली बनाता है। जहाँ 3D अल्ट्रासाउंड शरीर के भागो और गर्भ में पल रहे बच्चे की 3D फोटो को बनाता है वहीं 4D अल्ट्रासाउंड में यह तस्वीर ना होकर एक चलती फिरती वीडियो की तरह होता है। इसमें बच्चे की मुस्कान या जंभाई को देखा जा सकता है।
  • इकोकार्डियोग्रामअल्ट्रासाउंड (Echocardiogram Ultrasound):- इकोकार्डियोग्राम अल्ट्रासाउंड वह ध्वनि तरंग है, जिसमे दिल का अल्ट्रासाउंड किया जाता है। यह दिल की बीमारी का पता करने का सबसे व्यापक टेस्ट है। और यह हृदय वेसल्स की जांच भी करता है।
  • कैरोटिड अल्ट्रासाउंड (Carotid Ultrasound):- कैरोटिड अल्ट्रासाउंड, वैसेल्स में जमा हुए block को दिखाता है, जो गर्दन की धमनियों में मोम के जैसा जमा होता है। अगर धमनियों में block जमा हो तो गर्दन की नाड़ी असामान्य और रोगग्रस्त हो जाती है।

अल्ट्रासाउंड /सोनोग्राफी स्कैन टेस्ट के समय अपनाई जाने वाली बातें/ Instruction of During the Ultrasound

  • अल्ट्रासाउंड के समय पर मरीज को एक गाउन दिया जाता है और टेबल पर लेटने के लिए कहा जाता है।
  • शरीर के प्रभावित हिस्से पर जेल लगाया जाता है और एक वांड (जॉय स्टिक) जेल पर घुमाया जाता है। ये शरीर के अंदर की तस्वीरों को दिखाने में मदद करता है।
  • कुछ तस्वीर लेते वक्त मरीज को सांस रोक कर रखनी होती है।
  • जांच प्रक्रिया पूरी होने के बाद, डॉक्टर अल्ट्रासाउंड की रिपोर्ट को देखकर तय करते है कि जांच सही हुई है या नहीं। यदि नहीं तो दोबारा जांच करने के लिए कहते है।

अल्ट्रासाउंड /सोनोग्राफी स्कैन टेस्ट कब कराया जाता है?

अल्ट्रासाउंड किसी भी तरह की विकिरण उत्पन्न नहीं करता है जैसे एक्स-रे या सी टी स्कैन में होती है। इसलिए इसे किसी भी तरह के गर्भावस्था के दौरान भ्रूण की स्थिति की जाँच करने के लिए ज़्यादातर बोला जाता है। और यह किसी भी प्रकार की आंतरिक चोटों, गर्भाशय और अंडाशय के साथ समस्याओं की जांच करने के लिए प्रयोग किया जाता है।

लैब्स एडवाइजर (LabsAdvisor.com) के माध्यम से अल्ट्रासाउंड स्कैन बुक करने के लाभ
  • भारत के शहरों में अल्ट्रासाउंड न्यूनतम कीमत में बुक कर सकते हैं।
  • 300 से अधिक विभिन्न प्रकार के अल्ट्रासाउंड स्कैन उपलब्ध हैं।
  • 3D / 4D और कलर डोप्लर मशीन उपलब्ध हैं।
  • दिल्ली / एनसीआर में 60 से अधिक अल्ट्रासाउंड लैब हैं, ताकि आपको अपने आस-पास ही लैब मिल सके।
  • अल्ट्रासाउंड स्कैन के लिए लेडी रेडियोलॉजिस्ट वाली लैब उपलब्ध है।
  • डॉक्टरों द्वारा संचालित स्टैंडअलोन अल्ट्रासाउंड लैब।
  • 24 X 7 की सुविधा पर ऑनलाइन बुकिंग या समय की बचत के साथ हमारे ग्राहक सेवा अधिकारी के माध्यम से बुक करने की सुविधा।
  • हमारे द्वारा किए गए हर परीक्षण पर 3% कैश बैक प्राप्त करना।
  • सटीक रिपोर्ट प्राप्त होना और टेस्ट की अच्छी गुणवत्ता का आश्वासन मिलना।




Comments कमलाकर महादेव पाटील on 01-10-2019

I want prises of of new tomography machine



आप यहाँ पर सोनोग्राफी gk, question answers, general knowledge, सोनोग्राफी सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Total views 648
Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment