देहली तरंग दैर्ध्य

Dehali Tarang Dairdhy

GkExams on 26-12-2018

भौतिकी में, कोई साइन-आकार की तरंग, जितनी दूरी के बाद अपने आप को पुनरावृत (repeat) करती है, उस दूरी को उस तरंग का तरंगदैर्घ्य (wavelength) कहते हैं। 'दीर्घ' (= लम्बा) से 'दैर्घ्य' बना है।


तरंगदैर्घ्य, तरंग के समान कला वाले दो क्रमागत बिन्दुओं की दूरी है। ये बिन्दु तरंगशीर्ष (crests) हो सकते हैं, तरंगगर्त (troughs) या शून्य-पारण (zero crossing) बिन्दु हो सकते हैं। तरंग दैर्घ्य किसी तरंग की विशिष्टता है। इसे ग्रीक अक्षर 'लैम्ब्डा' (λ) द्वारा निरुपित किया जाता है। इसका SI मात्रक मीटर है।


किसी तरंग के तरंगदैर्घ्य (λ), तरंग के वेग (v) तथा तरंग की आवृति (f) में निम्नलिखित सम्बन्ध होता है-





Comments Puchhe on 23-03-2021

Delhi tarang lambai kya hai

Shivam on 14-03-2021

Dehli tarangdairya ka matrak kya hai

Aartii on 02-01-2021

Delhi tarangdherya Kya h

Sawal on 28-12-2020

Nirodhi vibhav Kya hai

Jeevanand sahu on 07-10-2020

Delhi Tarang lambai Kise Kahate Hain

Akash on 24-09-2020

What are theasjod weblenght


Pankaj sahu on 02-03-2020

Dehli tarang lambai kya hai

Seema on 02-03-2020

Ye satik nhi lg rha
Direct and. Ni h

Diva on 02-03-2020

Delhi tarng lambai ki sidhi paribhasha

Mohnish on 04-02-2020

देहली तरंग लम्बाई क्या है

राजू on 01-02-2020

देहली तरंग लंबाई क्या है

Uday Kumar sahu on 26-01-2020

Dehli tarang lambai kise kahte hai


Rohit on 15-10-2018

किसी धातु के कार्य फलन तथा देहली तरंगदैर्ध्य मैं क्या संबंध है?



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment