मीराबाई की भक्ति भावना

Mirabai Ki Bhakti Bhawna

GkExams on 12-05-2019

6909 - मीराबाई की महानता और उनकी लोकप्रियता उनके पदों और रचनाओं की वजह से भी है। ये पद और रचनाएँ राजस्थानी, ब्रज और गुजराती भाषाओं में मिलते हैं। हृदय की गहरी पीड़ा, विरहानुभूति और प्रेम की तन्मयता से भरे हुए मीराबाई के पद अनमोल संपत्ति हैं। आँसुओं से भरे ये पद गीतिकाव्य के उत्तम नमूने हैं। मीराबाई ने अपने पदों में श्रृंगार रस और शांत रस का प्रयोग विशेष रूप से किया है। भावों की सुकुमारता और निराडंबरी सहज शैली की सरसता के कारण मीराबाई की व्यथासिक्त पदावली बरबस ही सबको आकर्षित कर लेती है। मीराबाई ने भक्ति को एक नया आयाम दिया है। एक ऐसा स्थान जहाँ भगवान ही इंसान का सब कुछ होता है। संसार के सभी लोभ उसे मोह से विचलित नहीं कर सकते। एक अच्छा-खासा राजपाट होने के बाद भी मीराबाई वैरागी बनी रहीं। उनकी कृष्ण भक्ति एक अनूठी मिसाल रही है।



Comments Ankit on 22-03-2021

Mira bai ki vhakti bhavna

Manoj on 15-03-2021

Mira ki bhakti bhav ki visheshta

Miraki bhakti bhavna on 17-10-2020

Mira ki bhakti bhavna

MEERA on 30-09-2020

मीरा की भक्ति भावना पर टिप्पड़िया लिखिए

Kavya on 25-12-2019

Mira bai ki bhkti bhavna answer

Rakhi on 08-12-2019

Mirabai ki bhakti bhavna


Jiya on 12-11-2019

Mirabai ki kavya ki visheshtaen

Saba anjum on 01-10-2019

Mira bai Ke Bhagti bhavna

Sonika mishra on 04-08-2019

Kya meera aur meera bhai ek hi veykhati hai

दीपान्शी on 12-05-2019

मीराबाई की भक्ती का वणन व पद

Rahul Kumar shaw on 11-04-2019

Mira bai ki bhakti bhawana

Vinod on 20-12-2018

Hari aap haro Jan ki pir dropati ki laj rakhi aap badayo chir is puri padawli ka arth chahiye mirabai ka h


Madhive jha on 22-09-2018

Meera ji ha shiet ko ko sa ha

MirA on 07-09-2018

Hi



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment