व्यक्तित्व मापन की प्रक्षेपण विधि

Vyaktitv Maapan Ki PraKshepan Vidhi

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 12-10-2018


प्रक्षेपण शब्द का सबसे पहले प्रयोग सिगमंड फ्रायड ने किया था|


प्रक्षेपण का अर्थ होता है अपने विचारों, बातों एवं कमियों को अन्य व्यक्तियों या पदार्थों के माध्यम से व्यक्त करना|

प्रक्षेपण वह प्रक्रिया है जिसमें प्रत्येक व्यक्ति के भावों, विचारों, भावनाओं, संवेगों, स्थाई भावों एवं आंतरिक भागों का अन्य व्यक्तियों या बाहरी जगत के माध्यम से सुरक्षात्मक रूप प्रस्तुत करता है|


वारेन के अनुसार- “ यह वह प्रवृत्ति हैं जिसमें व्यक्ति बाह्य जगत में अपने दमित मानसिक प्रक्रियाओं का प्रक्षेपण करता है”

प्रक्षेपण प्रविधियों के स्वरूप

इन प्रविधियों में सामान्य रूप से व्यक्ति के संभोग उद्दीपक स्थिति प्रस्तुत की जाती है तथा उसे ऐसे अवसर प्रदान किए जाते हैं कि वह अपने व्यक्तिगत जीवन से संबंधित छिपी हुई बातों को उन परिस्थितियों के माध्यम से प्रकट करें|


इन प्रविधियों का संबंध सामान्यतः अवचेतन मन में दमित इच्छाओं से होता है| प्रक्षेपण विधि के द्वारा अवचेतन में दबी हुई इच्छाओं को बाहर लाया जा सकता है|
प्रक्षेपण विधियां आंतरिक भावना तथा व्यक्तिगत संरचना का मापन करती हैं|

प्रक्षेपी विधियों की विशेषताएं

1 यह व्यक्ति के अंतर्मन में दबे हुए विचारों को प्रकट करने में सहायक होती हैं|
2 इनके द्वारा बाही पदार्थों के माध्यम से अप्रत्यक्ष रुप से विचारों, अभिवृत्ति , संवेगों, अभाव, अनुभव, भावनाओं वह गुणों का अध्ययन किया जाता है|
3 यह भी दिया अचेतन मन को समझने का एक मात्र साधन है|
4 इनकी स्थिति संदिग्ध होती हैं इसीलिए व्यक्ति को अनुमान लगाने का अवसर नहीं मिल पाता|


5 इनका प्रयोग सामान्य तथा असामान्य दोनों भारती के व्यक्तियों के लिए उपयुक्त हैं|

प्रक्षेपी विधियों के दोष

1 प्रक्षेपी वीधियो का मानवीकरण एवं रचनाएं एक दुर्लभ कार्य है|
2 इस तरह के परीक्षणों में समय व धन अधिक खर्च होता है|
3 इन वीडियो का प्रशासन, गण एवं ए या साधारण मनोवैज्ञानिक द्वारा संभव नहीं हो पाता है|
4 इन प्रविधियों का संबंध मुख्य रूप से व्यक्ति के अचेतन पक्ष से ही रहता है जबकि व्यक्तित्व चेतन तथा अचेतन मन से मिलकर बना होता है|
5 इनकी विश्वसनीयता और वैधता निर्धारित करना बहुत कठिन कार्य है|
6 यह प्रविधियां सामान्य व्यक्तियों की अपेक्षा सामान्य व्यक्तियों के व्यक्तित्व का मूल्यांकन करने में अत्यधिक उपयोगी साबित होती हैं|
7 अनुसंधान कार्यों की अपेक्षा के चिकित्सक क्षेत्रों में इसका व्यापक रूप से प्रयोग संभव होता है|



Comments Anand kumar on 08-11-2019

Parkshepan vidhi

Anand kumar on 08-11-2019

Parkshepan Vidhi

Anand kumar on 08-11-2019

E p q /e P i

Prakshepan vidhi kya hai on 06-09-2018

Pakshepan vidhi kya hai



Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment