नमामि गंगा परियोजना झारखण्ड

Namami Ganga Pariyojana Jharkhand

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

GkExams on 14-01-2019

केन्द्रीय जल संरक्षण, नदी विकास तथा गंगा संरक्षण मंत्री उमा भारती और मुख्यमंत्री रघुवर दास ने आज साहेबगंज में करीब 250 करोड़ रुपये की लागत से शुरु होने वाली नौ परियोजनाओं का शुभारंभ किया।
साहेबगंज के रेलवे ग्राउंड में आयोजित समारोह में केन्द्रीय मंत्री उमा भारती और मुख्यमंत्री रघुवर दास ने संयुक्त रुप से बटन दबाकर आनलाईन योजनाओं का शिलान्यास किया। इस मौके पर उमा भारती ने मुख्यमंत्री रघुवर दास के कार्यशैली की जमकर तारीफ की। उन्होंने कहा कि नमामि गंगे प्रोजेक्ट में साहेबगंज को मॉडल बनाया गया है। उन्होंने समयबद्ध तरीके काम पूरा होने पर प्रशासन और सरकार की तारीफ की।
इस अवसर मुख्यमंत्री रघुवर दास ने कहा कि साहेबगंज राज्य के विकसित जिलों में शामिल होगा। उन्होंने कहा कि गंगापुल और बंदरगाह बनने के बाद यह शहर राज्य के साथ कई देशों से भी जुड़ेगा। उन्होंने यहां के लोगों को भरोसा दिलाया कि अगले महीने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के हाथों गंगा पुल का शिलान्यास किया जाएगा।समारोह में राजमहल विधायक अनंत ओझा बोरियो विधायक ताला मरांडी समेत कई विभागीय सचिव मौजूद थे। शहर के रेलवे ग्राउंड में आयोजित कार्यक्रम में भारी तादाद में पंचायत प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया।
इन परियोजनाओं के माध्यम से राज्य के 78 गांवों में एक साथ गंगा को साफ रखने की योजना बनायी गयी है। इस अभियान का मुख्य उद्देश्य गंगा को स्वच्छ बनाना और झारखंड को नमामि गंगे के तहत एक मॉडल राज्य बनाना है। परियोजना के तहत गंगा किनारे बसे सभी 78 गांवों को खुले में शौच से मुक्त बनाया जाएगा, इसके अलावा एक मॉडल स्ट्रेच के निर्माण के साथ ही गंगा को स्वच्छ बनाने के लिए प्रभावी प्रभावी, सुधार और सुविधाओं का विस्तार किया जाएगा। परियोजना के पूर्ण होने से गंगा के किनारे बसे करीब 45 हजार परिवारों के जीवन स्तर में सुधार होगा।

साहेबगंज में बंदरगाह के लिए स्वीकृति मिलीःसीएम
प्रधानमंत्री करेंगे गंगा नदी पर पुल का शिलान्यास
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की महत्वकांक्षी परियोजना ’नमामि गंगे’के अंतर्गत साहिबगंज जिले के गंगा तट पर अवस्थित 78 गांव में एक साथ गंगा को स्वच्छ रखने हेतु साहेबगंज में गंगा संरक्षण की विभिन्न योजनाओं का शिलान्यास आज मुख्यमंत्री झारखण्ड रघुवर दास एवं माननीय केंद्रीय मंत्री जल संरक्षण,नदी विकास एवं गंगा संरक्षण सुश्री उमा भारती द्वारा किया गया।
इस अवसर पर मुख्यमंत्री श्री रघुवर दास ने कहा कि करोडों लोगों की आस्था माँ गंगा को अविरल स्वच्छ निर्मल बनाए रखने के लिए केंद्र तथा राज्य सरकार कृतसंकल्पित है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के मूल वाक्य हम गंगा को मैला नहीं होने देंगे का अक्षरशः पालन करते हुए हम गंगा को न केवल प्रदूषित होने से बचाएँगे बल्कि गंगा तट पर निवास करने वाले लोगों को रोजगार भी पहुचाएंगे और गंगा को अपने प्राकृतिक स्वरुप में लाकर रहेंगे।
रघुवर दास ने कहा की नमामि गंगे परियोजना के सफल क्रियान्वयन के लिए झारखण्ड को मॉडल स्टेट बनाकर केंद्र सरकार ने हमें महती जिम्मेवारी हमें सौंपी है इसीलिए सभी साहिबगंज वासियों से अपील है कि सरकार की इस महतवपूर्ण परियोजना को धरातल पर उतारने में नमामि गंगा की पूरी टीम तथा जिला प्रशासन का भरपूर सहयोग दें। उन्होंने कहा कि जल्द ही साहिबगंज जिला पूरे देश के मानचित्र्ा पर अपनी एक अलग पहचान बनाएगा। उन्होंने कहा कि साहिबगंज में बंदरगाह बनाने के लिए केंद्र सरकार से स्वीकृति मिल चुकी है और एक सौ पंद्रह करोड़ की राशि भी भू अर्जन हेतु उपलब्ध कराई जा चुकी है। मई के आखिरी सप्ताह या जून में गंगा सेतु (मनिहारी कटिहार बिहार से साहिबगंज झारखण्ड को जोडनेवाली) का शिलान्यास भी प्रधानमंत्र्ाी के कर कमलों से संपन्न होगा। उन्होंने जानकारी दी कि मंडरो जीवाश्म पार्क के निर्माण पर पच्चीस करोड़ रुपये की राशि खर्च की जाएगी् साहिबगंज जिले में चार हजार डोभा का निर्माण पंद्रह जून तक कराया जायेगा और पुरे झारखण्ड में वितीय वर्ष 2016.17 में पांच लाख डोभा का निर्माण कराया जाएगा। मुख्यमंत्री ने इस अवसर पर केन्द्रीय मंत्री को उनके जन्मदिन की बधाई दी एवं उनके दीर्घायु होने की कामना की।
इस अवसर पर माननीय केंद्रीय मंत्री जल संरक्षण,नदी विकास एवं गंगा संरक्षण उमा भारती ने कहा कि एक अप्रैल को साहेबगंज की जनता से वादा किया था की नमामि गंगे परियोजना की शुरुआत 15 को की जाएगी परन्तु 6 दिन पहले ही अक्षय तृतीया के शुभ दिन गंगा संरक्षण की योजना का शिलान्यास कर अपना वादा पूरा किया। लोगों के सहयोग से ही यह योजना सफल हो पायेगी। इसिलए उन्होंने सभी उपस्थित लोगों से यह अपील की की धर्म , जाति का भेदभाव को भुलाकर आपसी समन्वय से गंगा को मूल स्वरुप में लाने में सहयोग करें. उन्होने कहा कि गंगोत्र्ाी से बंगाल की खाड़ी तक नमामि गंगे की इस परियोजना को जनांदोलन का रुप देकर पुरे समर्पण भाव के साथ कार्य करेंगे।
आज मुख्यमंत्री रघुवर दास एवं माननीया केन्द्रीय मंत्री जल संरक्षण, नदी विकास एवं गंगा संरक्षण उमा भारती द्वारा आज साहेबगंज में आयोजित नमामि गंगे कार्यक्रम के अन्तर्गत विभिन्न नदी घाट विकास योजनाओं, शवदाह गृह, ब्रिक मेकिंग यूनिट, एसटीपी के लगभग 280 करोड़ की योजनाओं का भी शिलान्यास किया। नमामि गंगे कार्यक्रम के अंतर्गत साहेबगंज गंगा नदी घाट परियोजना, राजमहल गंगा नदी घाट विकास परियोजना ,कन्हैया स्थान गंगा घाट, योगीचक गंगा घाट, गंगा प्रसाद पश्चिम-छोटी कोदजन्ना नदी घाट विकास परियोजना , साहिबगंज शहर का सिवरेज नेटवर्क और एस टी पी , समदानाला-फ्लाई ऐश ब्रिक मेकिंग यूनिट, कबूतरखोपी-शवदाह गृह, अरिज मखिमपुर (मंगल हाट)-शवदाह गृह का शिलान्यास किया गया। विदित हो कि गंगा नदी घाट विकास परियोजना के अंतर्गत गंगा नदी के किनारे सीढ़ी बायो डाईजेस्टर टॉयलेट, प्लेटफार्म (चबूतरा), महिलाओं के वस्त्र्ा बदलने हेतु कमरे का निर्माण इत्यादि कराया जायेगा।लाई ऐश ब्रिक मेकिंग यूनिट के द्वारा हल्के, मजबूत, सुन्दर ईटों का उत्पादन किया जाएगा शवदाह गृह में विद्य्नुत् तथा लकड़ी दोनों के द्वारा शव को जलाने की व्यवस्था होगी। सिवरेज नेटवर्क तथा एस टी पी पर लगभग 145 करोड़ रुपये का खर्च आएगा। सिवरेज नेटवर्क तथा एस टी पी पर लगभग 147 करोड़ पये का खर्च आएगा जिसमे लगभग 103 करोड़ की राशी केंद्र सरकार एवं 44 करोड़ की राशि राज्य सरकार के द्वारा वहां की जाएगी।
इस अवसर पर 9 ग्राम पंचायतो की मुखिया को तुलसी के पौधे माननीय केंद्रीय मंत्री द्वारा प्रदान किया गया। इस अवसर पर प्रधान सचिव नगर विकास अरुण कुमार सिंह प्रधान सचिव पी एच इ डी अमरेन्द्र प्रताप सिंह, मिशन डायरेक्टर नेशनल मिशन फॉर क्लीन गंगा रजत भार्गव, कंट्री हेड जैको सिल्लीएर्स, निदेशक, राजेश शर्मा सहित सभी 78 गाँव के प्रधान तथा जनप्रतिनिधि सहित विशाल जनसमूह उपस्थित था।





Comments

आप यहाँ पर नमामि gk, गंगा question answers, परियोजना general knowledge, झारखण्ड सामान्य ज्ञान, questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment