विदिशा के पर्यटन स्थल

vidisha Ke Tourism Sthal

GkExams on 21-01-2019


ऐतिहासिक नगरी होने के कारण विदिशा की प्राचीन इमारते और स्थापत्य दर्शनीय हैं। इसके अतिरिक्त यहाँ प्राकृतिक स्थल और धार्मिक महत्व के स्थान भी देखने के योग्य हैं। विदिशा के निकटवर्ती छोटे छोटे नगर अपने में महत्वपूर्ण ऐतिहासिक धरोहर समेटे हुए हैं। अतः इतिहास में रुचि रखने वालों के लिए इनको देखना भी रुचिकर है। प्राकृतिक स्थलों में लुहांगी गिरिश्रेणी विदिशा नगर के मध्य रेलवे स्टेशन के निकट ही स्थित है जहाँ से रायसेन का किला, साँची की पहाड़ियाँ, उदयगिरि की श्रेणियाँ, वैत्रवती नदी व उनके किनारों पर लगी वृक्षों की श्रृंखलाएँ अत्यंत सुदर दिखती है। चरणतीर्थ में च्वयन ॠषि ने की तपस्थली तथा संगम दर्शनीय हैं। ऐतिहासिक भवनों में विदिशा का किला और विजय मंदिर, विदिशा पर्यटकों के लिए रोचक हैं। इसे अतिरिक्त ऐतिहासिक और पुरातात्विक महत्व के अनेक छोटे नगर विदिशा के पास बसे हुए है जो पर्यटकों को लुभाते हैं। इनमें बेसनगर, जिसे पाली बौद्ध ग्रंथों में वेस्सागर कहा गया है, भद्दिलपुर जो जैनियों के दसवें तीथर्थंकर भगवान शीतलनाथ की जन्मभूमि है, उदयगिरि की गुफाएँ जो 4वीं- 5वीं सदी पुरानी हैं पर्यटकों के आकर्षण का केन्द्र बनती हैं। कई इमारतें व उनसे जुड़ी ऐतिहासिक घटनाओं के समेटे सिरोंज, नंदवंशी अहीर ठाकुरों की भूमि लटेरी, परमारवंशीय राजा उदयदित्य के स्वर्णकाल का प्रतीक उदयपुरा, पहाड़ी की उपत्यका में बसा ग्यारसपुर, ऐतिहासिक नगर शम्शाबाद, बौद्ध स्तूपों के लिए जाना जाने वाला साँची, रंगाई-छपाई कार्य के लिए प्रसिद्ध गंज बासौदा, रमणीय सरोवर के निकट बसा बढ़ोह और सातखनी हवेली के लिए प्रसिद्ध मरखेड़ा विदिशा जिले के महत्वपूर्ण पर्यटन स्थल हैं।



Comments

आप यहाँ पर विदिशा gk, पर्यटन question answers, general knowledge, विदिशा सामान्य ज्ञान, पर्यटन questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment