कल्पना चावला पर कविता

Kalpna Chawla Par Kavita

GkExams on 12-05-2019

कल्पना चावला पर कविता

‘कल्पना’

नहीं हकीकत थी वो

धरा पर नहीं

आकाश में घुमती थी वो

अपनी अथक मेहनत

और अपने बुलंद इरादों से

जमीं-आसमां एक कर गयी वो

अब बनकर एक नक्षत्र

रहने लगी हमसे बहुत दूर वो

आज भी सातों आसमान के पार से

अपनी जन्मभूमि को निहारती वो

जो जन्मी तो ‘भारत’ में

लेकिन भरकर बड़ी ऊंची उड़ान

पहुंच गयी थी विदेश में वो

आज भी दूर से हर बेटी को

खुद पर गर्व करने का

संदेश दे रही वो

कि कोई आम लडकी नहीं

देश की बेटी ‘कल्पना चावला’ थी वो

आज पुण्य तिथि पर...

उसको श्रद्धांजलि दे रहे हम लोग ॥



Comments He has born on 1july 1968 on 28-03-2021

From which University she given
aeronotrical engineering exam

A on 07-03-2021

Kalpna Chawla ka poem

Biography of MS Dhoni on 09-02-2020

Ffhk

Ankit kumar on 24-07-2019

Calpna chawla ka result of class 10th Aure unhone inter Kebaad koon koon si degree hasil ki aur 12th ka result

Divyanshu saini on 26-05-2019

Kalpna chawla ka janm kab hua ttha

कल्पना.चावला के कितने बच्चे थे on 19-05-2019

कल्पना.चावला के कितने बच्चे थे




Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment