हीराकुंड बांध उड़ीसा

Hirakund Bandh Odisha

GkExams on 27-12-2018


हीराकुण्ड बाँध में पर निर्मित एक है। यह से 15 किमी दूर है। इस बाँध के पीछे विशाल जलाशय है। यह भारत में शुरू की गयी कुछ आरम्भिक परियोजनाओं में से एक है। इसका निर्माण 1948 से शुरू हुआ और 1953 में बनकर पूर्ण हुआ तथा ये वर्ष 1957 में पूरी तरह से कार्य करने लग गया | 1957 में महानदी पर निर्मित यह बाँध संसार के सबसे लंबे बांधों में से एक है। इसकी कुल लम्बाई 26 किमी0 है। बाईं ओर लामडूंगरी पहाड़ी से लेकर 4.8 किमी0 दूर चंदीली पहाड़ी तक मुख्य बाँध है। इसके दोनों तरफ दो अवलोकन मीनार हैं ;गाँधी मीनार व नेहरू मीनार। इसके जलाशय की तट रेखा 639 किमी0 लम्बी है। इस बाँध को बनाने में इस्तेमाल हुए मृदा , कंक्रीट व अन्य सामग्री से कश्मीर से कन्याकुमारी तथा अमृतसर से डिब्रूगढ़ तक करीब आठ मीटर चौड़ी सड़क बनाई जा सकती थी। हीराकुण्ड की झील एशिया की सबसे बड़ी मानवनिर्मित झील है।इसका उद्देश्य बाढ़ नियंत्रण एवं विद्युत उत्पादन करना है



Comments

आप यहाँ पर हीराकुंड gk, बांध question answers, उड़ीसा general knowledge, हीराकुंड सामान्य ज्ञान, बांध questions in hindi, उड़ीसा notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment