पोर्टफोलियो प्रणाली 1861

Portfolio Pranali 1861

Pradeep Chawla on 13-10-2018


भारतीय परिषद अधिनियम 1861

  • भारत मेँ पहली बार प्रतिनिधिक संस्थाओं की शुरुआत हुई ताकि यह व्यवस्था की जा सके कि विधायी कार्यो के समय गवर्नर जनरल की कार्यकारी परिषद मेँ गैर सरकारी सदस्योँ के रुप में कुछ भारतीय भी शामिल हों।
  • इससे मुंबई और मद्रास प्रेसीडेंसी को विधायी शक्तियां प्राप्त हुईं, जिसके फलस्वरुप विकेंद्रीकरण की प्रक्रिया का सूत्रपात हुआ।
  • पोर्टफोलियो प्रणाली को संवैधानिक मान्यता मिली।
  • इससे गवर्नल जनरल को परिषद में सुचारु कार्य व्यवहार करने के लिए नियम निरुपण की शक्ति प्राप्त हुई।



Comments Sunil mewada on 07-08-2021

Portfolio system kyu laya gya

Uttam kr on 30-09-2020

Circular motion me acceralation aur speed me antar

Atish chauhan on 22-08-2020

केंद्र शासित प्रदेश का निर्माण क्यों किया किया?
और कैसे किया गया?
कब किया गया?

Chandramani kumar patel on 29-07-2020

is ke dwara decentralization ki prakriya ka sutra pat हुवा

Pushpendra on 21-04-2020

प्रश्नo- लार्ड केनिंग ने पोर्टफोलियो प्रणाली लागू की इसका मुख्य उद्देश्य किया था-?

RANJEET on 24-02-2020

Portfolio parnali kab lagu ki gai


Tumeshwar on 13-11-2019

Vibhago ko bata gaya jisme ek sadsya ko ek se adhik vibhag diya ja sakte ho.
Karn - jokhimo ko kam karne kam sahi tarika se ho

Portfoliyo pranli on 13-11-2019

Portfoliyo pranali samjyr

Ram on 01-09-2019

Portfolio Pranali kya hai Iske bare mein vistar se samjhaye

Srishti on 02-08-2019

Portfolio pranali kya hai

tejendra sahu on 12-05-2019

port folio pranali kya hai



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment