शत्रु को परेशान करने के टोटके

Shatru Ko Pareshan Karne Ke टोटके

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 30-10-2018


शत्रु पर विजय पाने के यह उपाय हैं –


1) बजरंग बली की आराधना – शत्रु को परेशान या पीड़ित करने के टोटके में एक अन्यतम टोटका है बजरंग बली की आराधना | आप प्रतिदिन स्नानोपरांत हनुमान बाण का पाठ करें सात वार प्रतिदिन |


2) प्रतिदिन लड्डू का प्रसाद लगाए बजरंगबली को और प्रार्थना करें शत्रु से मुक्ति पाने की |


3) 5 लौंग ले और देशी कपूर ले | अब इन्हें मिलाकर साथ में जलाए पूजा स्थल पर | बाहर निकलते समय इसी भष्म का तिलक लगाएं | ईश्वर आपकी मनोकामना पूर्ण करेंगें |


4) आपको अगर कोई परेशान कर रहा है बिना कारण, तो शौचालय में शौच करते वक्त वहीं पर बैठे-बैठे उस व्यक्ति ( जो आपको परेशान कर रहा है ) का नाम लिखें वहीं से पानी लेकर | अब शौच निवृत्ति बाद निकलते समय नाम लिखे हुए स्थान पर ठोकर मारे तीन बार बाए पैर के द्वारा | पर सावधान….यह ध्यान रहे कि अकारण ही इस प्रयोग को न किया जाए वरना लाभ के बदले हानि की ही संभावना प्रबल है |


5) तंत्र मंत्र शत्रु शमन के टोटके में एक अन्य टोटका है — एक भोजपत्र पर नाम अंकित करें अपने शत्रु का लाल चंदन द्वारा | अब इसे डिब्बी भरे शहद में डुबोकर दे और छुपा कर रख दें |


6) शत्रु पर विजय पाने के उपाय में अन्यतम है ..चावल ( 40 दाने ) और काली दाल ( 38 दाने ) ले | अब इन्हें किसी गड्ढे में दबा दें मिलाकर | इसके ऊपर रस निचोड़े नींबू का | ध्यान रहे रस निचड़ते वक्त अपने शत्रु के नाम का स्मरण करते रहें लगातार | आपका शत्रु पराजित होगा ही होगा |


7) अकारण ही आपको कोई परेशान कर रहा है तो अपने शत्रु को परेशान पीड़ित करने के टोटके में यह टोटका भी बहुत कारगर सिद्ध हुआ है | टोटका है –एक मोर पंख लें | अब शनिवार या मंगलवार की रात्रि को अपने दुश्मन के नाम को लिखे बजरंगबली के शीश पर चढ़े हुए सिंदूर से | अब इसे अपने पूजा स्थान पर रखे सारी रात | दूसरे दिन सुबह जल्दी उठकर बहते हुए पानी में उस मोर पंख को प्रवाहित कर दे नहाने के पहले | कैसा भी शत्रु क्यों न हो शांत हो जाएगा |


8) शनिवार की रात को लौंग ले सात की संख्या में | अब अपने शत्रु का नाम लेते हुए उस लवंग पर फूंक मारे (21 वार ) | दूसरे दिन अर्थात रविवार को अग्नि में भस्म कर दें इन्हें | इस क्रिया को दोहराएं सात बार लगातार | शत्रु शांत हो जाएगा | लेकिन, सावधानी रखें ! ..बिना मतलब किसी को परेशान करने के लिए या किसी के प्रति बुरे विचार को रखते हुए इसे ना करें | ..वरना खुद के ही अहित की संभावना हो सकती है |


9) इसके अलावा शत्रु को पीड़ित या परेशान करने के लिए या शत्रु पर विजय प्राप्त करने के कुछ मंत्र भी हम आपके लिए लेकर आए हैं | सूर्योदय के पूर्व जाप करें इस मंत्र का | जाप एकांत और शांतिपूर्ण वातावरण में होना चाहिए | श्रद्धा और पूर्ण विश्वास के सहित प्रतिदिन इस मंत्र का जाप करें और चमत्कार देखें | मंत्र है–” नृसिंहाय विद्महे ,वज्र नखाए धी महि तन्नो नृसिंह प्रचोदयात् “


10) अमावस्या या रविवार की रात को दक्षिण की तरफ मुहँ कर आसन बिछाकर बैठे | अब अपने सामने एक काले वस्त्र को


बिछाए | इस पर काली की मूर्ति या तस्वीर रखकर उनकी पूजा करें | अब सिंदूर से एक निबूं पर अपने दुश्मन का नाम अंकित करें | थोड़े से और सिंदूर को तिल या सरसों के तेल में डाल दे | इसे अच्छे से मिला ले | अब संकल्प की कामना करें | इसके बाद रुद्राक्ष की माला लें और नीचे दिए गए मंत्र का जाप करें 11 माला | साथ ही साथ प्रत्येक माला की समाप्ति पर उड़द का दाना नींबू के ऊपर डालें | इसके साथ यह कल्पना करते हुए कि काली मां आपके विरुद्ध रचे गए शत्रु के जाल को खत्म कर रही है | जप की समाप्ति के बाद नींबू को मटकी( मिट्टी की) या लोटा ( तांबा ) में डाल दे | अब जिस वस्त्र पर मां को स्थापित किया गया था उस वस्त्र से मटकी या लोटे के मुंह को बांध दें | मां से प्रार्थना करें कि वह आपके विरोधियों को नष्ट करें | सारी क्रिया समाप्ति के बाद इस मटकी को जमीन में रात को ही दबा दें | अब तुरन्त वहां से वापस अपने घर चले जाएं | लेकिन ध्यान रहे अब मुड़कर ना देखे पीछे | घर पहुंचते ही सबसे पहले स्नान आदि से निवृत हो | इस मंत्र और टोटके से आपके दुश्मन के षड्यंत्र का विफल होना निश्चित ही है जिसे आपके शत्रु ने रचा है आपके विरूद्ध | मंत्र है – “क्रीं क्रीं शत्रु नाशिनी क्रीं क्रीं फट”


11) प्रति नवरात्रि नीचे दिए गए मंत्र का जाप करें ( 11 माला) | जप की समाप्ति के बाद हवन करें, मंत्र सिद्ध हो जायेगा | अब प्रतिदिन एक माला इस मंत्र का जाप करें |


मंत्र है -”ॐ क्लीं सर्व बाधा प्रशमनंत्रेलोक्यस्याखिलेश्वरी | एवमेव त्वया कार्यमस्मद्दैरि विनाशनम् क्लीं नमः |”


12) “सर्व मंगल मांगल्ये शिवे सर्वार्थ साधिके | शरण्ये त्र्यंबके देवी नारायणी नमोस्तुते ||”


इस मंत्र का जाप अचानक से उपस्थित हुए संकट से छुटकारा पाने में सहायक है | इसका जाप मानसिक रुप से भी किया जा सकता है|



Comments Raghvendra pratap on 22-01-2019

Satru



आप यहाँ पर परेशान gk, टोटके question answers, general knowledge, परेशान सामान्य ज्ञान, टोटके questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment