उपमा अलंकार का 10 उदाहरण

Upma Alankar Ka 10 Udaharan

GkExams on 12-05-2019

उपमा अलंकार क्या होता है :- उपमा शब्द का अर्थ होता है – तुलना। जब किसी व्यक्ति या वस्तु की तुलना किसी दूसरे यक्ति या वस्तु से की जाए वहाँ पर उपमा अलंकार होता है।
जैसे :- सागर -सा गंभीर ह्रदय हो ,

गिरी -सा ऊँचा हो जिसका मन।
उपमा अलंकार के अंग :-
उपमेय

उपमान

वाचक शब्द

साधारण धर्म

उदहारण पहचान
हाय  फूल सी कोमल बच्ची , हुई राख की ढेरी  थी।बच्ची की कोमलता फूल के समान बताया है
यह देखिये , अरविन्द – शिशु वृन्द कैसे सो रहे।शिशु को फूल के समान माना गया है।
मुख बाल रवि सम  लाल होकर ज्वाला – सा हुआ  बोधित।मुख के लाली को सूर्य के समाना बताया है
नदियां जिनकी यशधारा सी बहती है अब निशि -वासरनदी के धारा को यश बहाने वाला बताया है
पीपर पात सरिस मन डोलापीपल के पत्तों के समान मन के डोलने का वर्णन
उतर रही है संध्या सुंदरी परी सीसंध्या को परी के रूप में चित्रित किया है

उपमा अलंकार के उदाहरण – Upma alankar ke udahran –

उदहारण पहचान संकेत
मखमल के झूले पड़े हाथी सा टीलाटीले की तुलना हाथी से की गई है।
तब बहता समय शिला सा जम जायेगासमय को पत्थर सा जमने के लिए कहा गया है
सहसबाहु सम रिपु मोरा।शत्रु को सहत्रबाहु के सामान माना है
चाँद की सी उजली जालीचांद के समान ऊजली बताया गया है
वह दीपशिखा सी शांत भाव में लीनदीप से उठने वाली ज्वाला के समान शांत बताया है
कमल सा कोमल गात सुहानागाल के कोमलता की तुलना कमल पुष्प से की है
कोटि कुलिस सम वचन तुम्हारा।
एही सम विजय उपजा न दूजा
दिवस का समय ,मेघ आसमान से उतर रही है ,

वह संध्या सुंदरी सी ,धीरे धीरे।

संध्या के समय के दृश्य को परी के समान कहा है
सिंधु सा विस्तृत और अथाह एक निर्वासित का उत्साहनिर्वाचित होने के उत्साह को सिंधु नदी के समान विस्तृत बताया है
असंख्य कीर्ति रश्मियों विकीर्ण दिव्य दाह सी।
निर्मल तेरा अमृत के सम उत्तम है

मृदुल वैभव की रखवाली सी

चंवर सदृश दोल रहे सरसों के सर अनंतसरसों के पौधे चंवर की भांति डोल रहे हैं
पट पिट मानहुँ तड़ित रूचि सूचि नौमी जनक सुतांवर
नभ मंडल छाया मरुस्थल सा दल बाँध के अंधड़ आवे चला।
अति मलिन वृषभानुकुमारी ,अधोमुख रहति ,उरध नहीं चितवत , ज्यों गथ हारे थकित जुआरी ,छूटे चिहुर बदन कुम्हिलानो , ज्यों नलिनी हिमकर की मारी
कुन्द इन्दु सन देह , उमा रमन वरुण अमनचंद्रमा के समान दमकता देह बताया गया है।
माँ सरीखी अभी जैसे मंदिरों में चढ़कर खुशरंग फूल
नीलोत्पल के बीच सजाये मोती से आंसूं के बून्दकमल पुष्प के बीच ओस की बूंदे आंसू के समान प्रतीत हो रही है।
वेदना बोझिल सीवेदना को बोझिल के समान माना है।
हो भरष्ट शील के से शतदल
हरिपद कोमल कमल सेईश्वर के चरण कोमल कमल पुष्प जैसे बताया है
स्वान  रूप संसार हे
लघु तरनि हंसिनी सी सुन्दरनदी के तट को हंस के समान माना है

उपमा अलंकार के अन्य उद्धरण भी पढ़ें –

उदहारणपहचान संकेत
भूली सी एक छुअन बनता हर जीवित छण
मुख बाल रवि सम होकर ज्वाला सा बोधित हुआबालक का मुख सूर्य के समान लाल बौद्धित हो रहा है



Comments 0 on 27-08-2021

Bhrantiman alankar उदाहरण

Swarn on 07-06-2021

अनुप्रास अलंकार

Jigyasa Yadav on 07-01-2021

I like this

Nisha on 17-12-2020

Upma alankar ke udaharan 10

Chhavi on 31-08-2020

Upma alankar ke 10 udahdharan

Hariom on 14-02-2020

npn trajistar up board out


Anil on 07-02-2020

Ati malin varshbahnu Kumari adhmukh Rohit urd nhi chitvat jyon gath haare thakit juaari chute nikal badan kumhilano jyon nlini hiskar ki mari
Translate in hindi

Alankar 10_10 example saare ke on 18-01-2020

Mujhe yeh work abhi complete karna hai

Dk on 09-10-2019

Upma alankar le 10 examples

Vishesh yadav on 12-05-2019

उपमाअलंकारके
महतवपूणृउदाहरण

Raj on 12-05-2019

What is erthquake

Nishchay on 12-05-2019

Upma alankar ke 10 udharan


isha siddiqi on 12-05-2019

upma alankar ke 10 udharan in hindi

RupAk alankar ka udharan on 11-02-2019

RupAk alankar ka udharan

Deepak Kumar on 07-02-2019

Yamak alankar Ka udharan

Mikes kumar Mikes kumar on 13-09-2018

Fun ka panthi m alGlad Jon sa h

very,att on 27-08-2018

muhk,mayank,sang,manju,manhoher

thainkyou on 22-08-2018

aplike sgan


Harshita on 20-08-2018

Madhur mridu manjun mukhi muskan me konsa alankar hai please bataiye



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment