डेविड रिकार्डो का वितरण सिद्धांत

David Records Ka Vitarann Sidhhant

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 24-10-2018

1500 और 1750 के बीच अधिक अर्थशास्त्रिया वणिकवाद की वकालत करते थे जो अन्य देशों के साथ एक व्यापार अधिशेष चलाकर बुलियन पाने के उद्देश्य के लिए अंतरराष्ट्रीय व्यापार के विचार को बढ़ावा देती थी। रिकार्डो ने इस विचार को चुनौती दी कि व्यापार का उद्देश्य सोना या चांदी जमा करने के लिए मात्र था। रिकार्डो उद्योग विशेषज्ञता और मुक्त व्यापार के पक्ष में थे। उन्होंने सरल गणित का उपयोग करते हुए साबित करने का प्रयास किया कि नि: शुल्क अंतर्राष्ट्रीय व्यापार के साथ संयुक्त उद्योग विशेषज्ञता हमेशा सकारात्मक परिणाम का उत्पादन करता है। इस सिद्धांत को पूर्ण लाभ की अवधारणा पर विस्तार किया।


रिकार्डो ने यह तर्क दिया कि व्यापार से आपसी राष्ट्रीय लाभ है भले ही एक देश अपनी व्यापारिक समकक्ष से हर क्षेत्र में ज्यादा अधिक प्रतिस्पर्धी है और एक राष्ट्र को केवल उन उद्योगों पर ध्यान देना चाहिए जहां उनका एक तुलनात्मक लाभ था।रिकार्डो के तुलनात्मक लाभ के सिद्धांत एक राष्ट्रीय स्तर पर उद्योग और व्यापार नीति के अस्तित्व को मानता है। यह अनुमान नहीं करता कि व्यापार निर्णय व्यवहार्यता या लाभ के आधार पर उद्यमियों द्वारा स्वतंत्र रूप से किया जाना चाहिए।


रिकार्डो ने एक साधारण संख्यात्मक उदाहरण का उपयोग करते हुए साबित करने का प्रयास किया कि अंतर्राष्ट्रीय व्यापार हमेशा फायदेमंद है। पॉल सैमुएलसन ने रिकार्डो के इंग्लैंड और पुर्तगाल के बीच व्यापार की संख्यात्मक उदाहरण में प्रयुक्त संख्या को "चार जादुई संख्या" का नाम दिया।



Comments Kaushal on 07-02-2019

रिकाँर्डो का प्रकाशित पुस्तक क्या है

Sanjana on 26-09-2018

रिकार्डो का वितरण सिध्दात



आप यहाँ पर डेविड gk, रिकार्डो question answers, general knowledge, डेविड सामान्य ज्ञान, रिकार्डो questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Total views 830
Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment