डिंगल और पिंगल भाषा

Dingal Aur Pingal Bhasha

Pradeep Chawla on 15-10-2018


पिंगल' और 'डिंगल' दोनों ही शैलियों के नाम हैं, भाषाओं के नहीं। 'डिंगल' इससे कुछ भिन्न भाषा-शैली थी। यह भी चारणों में ही विकसित हो रही थी। इसका आधार पश्चिमी राजस्थानी बोलियाँ प्रतीत होती है। 'पिंगल' संभवतः 'डिंगल' की अपेक्षा अधिक परिमार्जित थी और इस पर 'ब्रजभाषा' का अधिक प्रभाव था। इस शैली को 'अवहट्ठ' और 'राजस्थानी' के मिश्रण से उत्पन्न भी माना जा सकता है। 'पृथ्वीराज रासो' जैसी रचनाओं ने इस शैली का गौरव बढ़ाया।

काव्य शैली



Comments Honey deo on 12-01-2022

डिंगल शब्द किस अपभ्रंश से विकसित हुआ ?

lucky Kushwah ji on 08-04-2021

sorry likhar dika do bina hindi bina math bas hindi ka ek akshar Anna chaiye Ri

Aman tiwari on 14-09-2020

Dingal Bhasha ka prayog kab hua kis kal mein hua

Dharmendra Kumar prajapati on 09-09-2020

डिंगल और पिंगल भाषा का प्रयोग किस काल में हुआ

Yusuf on 04-06-2020

Dingal pingal bhasa ka prayog kis kal mein hua

Radha on 02-06-2020

Dingal pingal bhasha ka use kis kaal m hua


Rais Ahmad Abbasi on 13-02-2020

Dingal pingal bhasa kis kal me piryog hua

Vashu Garg on 07-02-2020

डिंगल पिंगल भाषा का प्रयोग किस काल में हुआ

Abhishek jain on 31-01-2020

डिगल पिंगल भाषा का प्रयोग किया काल में हुआ था

Chhotelal Saini on 19-11-2019

डिंगल और पिंगल में कौनसी भासा हैं
dingal pingal mein kaun si Bhasha hai



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment