‘ मनुष्य जाति की कीर्ति को चिर स्थाई रखने हेतु या तो उसका इतिहास है या उसके कीर्ति स्तम्भः । उपरोक्त भाव को प्रदर्शित करती है यह राजस्थानी कहावत ?

‘Manushya Jati Ki Kirti Ko Chir Sthayi Rakhne Hetu Ya To Uska Itihas Hai Ya Uske Kirti Stambh: । Uprokt Bhav Ko Pradarshit Karti Hai Yah Rajasthani Kahawat ?


A. नाव अतिड़ा ने मतिड़ सूं रहवे
B. अगस्त ऊंग्यों मेह पूग्यों
C. असली तो औगाण तजै , गुण न तजै गुलाब
D. उदलतियां नै किस दायला मिलै

Go Back To Quiz

Join Telegram


Comments

आप यहाँ पर कीर्ति gk, चिर question answers, स्थाई general knowledge, रखने सामान्य ज्ञान, उसका questions in hindi, कीर्ति notes in hindi, स्तम्भः pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।


इस टॉपिक पर कोई भी जवाब प्राप्त नहीं हुए हैं क्योंकि यह हाल ही में जोड़ा गया है। आप इस पर कमेन्ट कर चर्चा की शुरुआत कर सकते हैं।

Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment