उदय शंकर भट्ट का जीवन परिचय

Uday Shankar Bhatt Ka Jeevan Parichay

Pradeep Chawla on 13-10-2018

उदयशंकर भट्ट के विद्वान सुप्रसिद्ध व थे। उनका जन्म में हुआ।

कृतियाँ

(काव्य)

तक्षशिला, राका, मानसी, विसर्जन, अमृत और विष, इत्यादि, युगदीप, यथार्थ और कल्पना, विजयपथ, अन्तर्दर्शन : तीन चित्र, मुझमें जो शेष है।

नाट्य-साहित्य

विक्रमादित्य, दाहर, सगर विजय, कमला, अंतहीन अंत, मुक्तिपथ, शक विजय, नया समाज, पार्वती, विद्रोहिणी अम्बा, विश्वामित्र, मत्स्यगंधा, राधा, अशोक-वन-बन्दिनी, विक्रमोर्वशीय, अश्वत्थामा, गुरु द्रोण का अन्तर्निरीक्षण, नहुष निपात, कालिदास, संत तुलसीदास, एकला चलो रे, क्रांतिकारी, अभिनव एकांकी नाटक, स्त्री का हृदय, आदिम युग, तीन नाटक, धूमशिखा, पर्दे के पीछे, अंधकार और प्रकाश, समस्या का अंत, आज का आदमी

(उपन्यास)

वह जो मैंने देखा, नए मोड़, सागर, लहरें और मनुष्य, लोक-परलोक, शेष-अशेष



Comments Uday Shankar ki rachnaen on 05-06-2020

Uday Shankar bhatt ki rachnaen

Khokhar Anikkhan nasibkhan on 29-07-2019

Shri udaysankar bhatt ji ki aekanki parde ke piche.. Ka katha vastu kya he uska sarans bataiye?

Naye mehamanrevati ka charichitran on 12-05-2019

Vishvanath ka charichitrn

manisha kujur manisha kujur on 18-08-2018

udaysankar bhatt ka jivan prichay



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment