गर्भवती गाय की पहचान

Garbhwati Gaay Ki Pehchan

Gk Exams at  2018-03-25


Go To Quiz

Pradeep Chawla on 12-05-2019

केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिक इन दिनों भैंस की घरेलू प्रेग्नेंसी जांच किट तैयार करने में लगे हुए हैं। किट तैयार करने में उन्हें काफी हद तक सफलता भी मिल चुकी है। इस किट के माध्यम से पशुपालकों को भैंस के गर्भाधान के एक माह के भीतर ही उसके गर्भवती होने का पता चल जाएगा और पशुपालक अपने घर पर ही बिना अस्पताल जाए भैंस के की गर्भ जांच कर सकेंगे। अनुसंधान केंद्र के विज्ञानी पिछले दो सालों से इस प्रोजेक्ट पर लगे हुए थे। पिछले दो साल की मेहनत के बाद केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिक भैंस की प्रेग्नेंसी जांच किट को तैयार के नजदीक पहुंच गए है।

अब घर बैठे ही जांच सकेंगे भैंस या गाय के गर्भवती होने की स्थिति

केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिक इन दिनों भैंस की घरेलू प्रेग्नेंसी जांच किट तैयार करने में लगे हुए हैं। किट तैयार करने में उन्हें काफी हद तक सफलता भी मिल चुकी है। इस किट के माध्यम से पशुपालकों को भैंस के गर्भाधान के एक माह के भीतर ही उसके गर्भवती होने का पता चल जाएगा और पशुपालक अपने घर पर ही बिना अस्पताल जाए भैंस के की गर्भ जांच कर सकेंगे। अनुसंधान केंद्र के विज्ञानी पिछले दो सालों से इस प्रोजेक्ट पर लगे हुए थे। पिछले दो साल की मेहनत के बाद केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिक भैंस की प्रेग्नेंसी जांच किट को तैयार के नजदीक पहुंच गए है।

Bansidhar | ETV Haryana/HP

Updated: February 22, 2015, 7:42 AM IST

केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिक इन दिनों भैंस की घरेलू प्रेग्नेंसी जांच किट तैयार करने में लगे हुए हैं। किट तैयार करने में उन्हें काफी हद तक सफलता भी मिल चुकी है। इस किट के माध्यम से पशुपालकों को भैंस के गर्भाधान के एक माह के भीतर ही उसके गर्भवती होने का पता चल जाएगा और पशुपालक अपने घर पर ही बिना अस्पताल जाए भैंस के की गर्भ जांच कर सकेंगे। अनुसंधान केंद्र के विज्ञानी पिछले दो सालों से इस प्रोजेक्ट पर लगे हुए थे। पिछले दो साल की मेहनत के बाद केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र के वैज्ञानिक भैंस की प्रेग्नेंसी जांच किट को तैयार के नजदीक पहुंच गए है।



इस शोध में लगे वैज्ञानिक का कहना है कि कहना है कि भैंस का गर्भ की जांच करना एक बहुत बड़ी चुनौती है। वर्तमान समय में भैंस के गर्भ का पता लगाने के लिए 60 से 70 दिनों तक इंतजार करना पड़ता है। यह एक बहुत बड़ी प्रक्रिया है। यदि इस दौरान भैंस गर्भवती ना हुई तो पशुपालकों को काफी नुकसान उठाना पड़ता है और उन्हें फिर से 21 दिन तक पशुपालकों को इंतजार करना पड़ता है।



पशुपालकों की परेशानी को देखते हुए ही केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र ने भैंस की घरेलू प्रेग्नेंसी जांच किट तैयार करने का शोधकार्य दो साल पहले शुरु किया था। इसमें गर्भवती होने से पहले और बाद में भैंस के मूत्र का सावधानीपूर्वक अध्ययन किया गया। इसमें गर्भ के दौरान मूत्र में विशेष किस्म का प्रोटीन मिलना एक बड़ी सफलता के रुप में देखा जा सकता है।



केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र हिसार में भैंस की प्रेग्नेंसी जांच किट के शोध कार्य अपने अंतिम चरण में है। केंद्र के डायरेक्टर का कहना है कि शोध कार्य का आधा भाग पूरा कर लिया गया है। शेष कार्य भी जल्द पूरा कर लिया जाएगा। सरकार द्वारा इस शोध कार्य के लिए अनुदान राशि उपलब्ध करवाई गई थी, लेकिन अब केंद्र प्राइवेट पार्टनर की तलाश कर रहा है-जो ये किट बनाकर बाजार में बेच सके।



केंद्रीय भैंस अनुसंधान केंद्र हिसार और राष्ट्रीय डेयरी अनुसंधान संस्थान करनाल द्वारा तैयार की जा रही भैंस और गाय की प्रेग्नेंसी जांच किट पशुपालकों के लिए वरदान साबित होगी। इससे पशुपालकों को समय पर प्रेग्नेंसी का पता घर बैठे चल जाने से उन्हें काफी राहत मिलेगी। वर्तमान समय में पशुपालको को भैंस की प्रेग्नेंसी स्थिति की जानकारी लेने के लिए बार-बार पशु अस्पतालों के चक्कर लगाने पड़ते है। इससे न केवल पशुपालकों का समय खराब होता हैं, बल्कि उन्हें आर्थिक नुकसान भी उठाना पड़ रहा है।



Comments दो महिना गाभिन होने पर कैसे जाचे on 12-05-2019

8873830939



आप यहाँ पर गर्भवती gk, गाय question answers, पहचान general knowledge, गर्भवती सामान्य ज्ञान, गाय questions in hindi, पहचान notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।

Comment As:

अपना जवाब या सवाल नीचे दिये गए बॉक्स में लिखें।

Register to Comment