वीर रस की परिभाषा उदाहरण

Veer Ras Ki Paribhasha Udaharan

Gk Exams at  2020-10-15

Pradeep Chawla on 12-05-2019

वीर रस- सहृदय के ह्रदय में स्थित उत्साह नामक स्थायी भाव का जब विभाव, अनुभाव और संचारी भाव से संयोग हो जाता है तब वीर रस की निष्पत्ति होती है । जैसे-

वह खून कहो किस मतलब का
जिसमें उबाल का नाम नहीं ।
वह खून कहो किस मतलब का
आ सके देश के काम नहीं ।
अथवा
छोड़ों मत अपनी आन, सीस कट जाए ,
मत झुको अनय पर ,भले व्योम फट जाए ।
दो बार नहीं यमराज कंठ धरता है,
मरता है जो, एक ही बार मरता है।
तुम स्वयं मरण के मुख पर चरण धरो रे !
जीना हो तो मरने से नहीं डरो रे !



Comments कोमल on 19-08-2020

वीर रस की परिभाषा

Dhirendra on 18-02-2020

Veer ras ka udharan

Md noorain raza on 18-02-2020

Multi yagye Ki kahani saral rup se

Veer rash ka udharn on 17-02-2020

Veer rash ka all udharn easy

Mushid on 12-02-2020

Veer Ras ka paribhasha sahit udaharan

पंचलाइट कहानी का उददेशय on 27-01-2020

पंचलाइट कहानी का उददेशय


Vishal Biswas on 17-12-2019

Veer Ras ka udaharan bataiye

shahid on 29-07-2019

sabsha pahla kon sa dash ajad hua

Kajal Kumari on 12-05-2019

Veer Ras kese Katha hai ? Udharna

Jiya thakur on 23-02-2019

Veer ras ka easy example and uska mtlv sahit

Sakshi on 11-02-2019

Veer ras ka short example

Ram Ram bhaiya on 11-02-2019

वीर रस उदाहरण


Ram on 11-02-2019

Veer ras ka. Short. Example

Vishakha on 10-02-2019

Veer ras ka easy example

Vikas Rajput on 30-09-2018

Beer Ras Ke udharan short

PAWAN on 27-09-2018

Veer ras ki pribhasha aur Ugandan fs

Ram on 31-08-2018

Bhibats rasa ka udaran

Prempal singh on 14-08-2018

Veet ras k udharan dijiyega




Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment