आंतरिक और बाह्य अर्धचालक

Aantarik Aur Bahya Ardhchalak

Pradeep Chawla on 18-10-2018

निज अर्धचालक (Intrinsic Semiconductor in hindi):

अर्धचालक जिसमें कोई भी अशुद्धियां या अपद्रव्य ना मिला हो उसे निज अर्धचालक कहते हैं। इस प्रकार शुद्ध जर्मेनियम तथा सिलिकॉन अपनी प्राकृतिक अवस्था में निज अर्धचालक हैं।

2. बाह्य अर्धचालक (Extrinsic Semiconductor in hindi):

निज अर्धचालकों की वैद्युत चालकता बहुत कम होती है। परंतु यदि किसी ऐसे पदार्थ को बहुत थोड़ी सी मात्रा, जिसकी संयोजकता 5 अथवा 3 हो, शुद्ध जर्मेनियम अथवा सिलिकॉन क्रिस्टल में अशुद्धि के रूप में मिश्रित करते है तो क्रिस्टल की चालकता काफी बढ़ जाती है।


मिश्रित करने की प्रक्रिया को डोपिंग (Doping) कहते हैं। ऐसे अशुद्ध अर्धचालक को बाह्य अर्धचालक कहते हैं।


बाह्य अर्धचालक दो प्रकार के होते हैं-

n-टाइप अर्धचालक (n-type Semiconductor in hindi):

जब किसी जर्मेनियम अथवा सिलिकॉन क्रिस्टल में पांच संयोजकता वाला अपद्रव्य परमाणु मिलाया जाता है तो तो वह जर्मेनियम के एक परमाणु को हटाकर उसका स्थान ले लेता है।


अपद्रव्य परमाणु के पांच संयोजक इलेक्ट्रानों में से 4 इलेक्ट्रान अपने चारों ओर स्थित जर्मेनियम के चार परमाणुओं के एक-एक संयोजक इलेक्ट्रॉन के साथ सहसंयोजक बंध बना लेते हैं। 5 वां संयोजक इलेक्ट्रॉन अपद्रव्य के परमाणु से अलग हो जाता है तथा क्रिस्टल के भीतर मुक्त रूप से चलने लगता है।


यही इलेक्ट्रान और आवेश वाहक का कार्य करता है करता। इस प्रकार शुद्ध जर्मेनियम में अपद्रव्य मिलाने से मुक्त इलेक्ट्रॉनों की संख्या बढ़ जाती है अर्थात क्रिस्टल की चालकता बढ़ जाती है।


इस प्रकार के अशुद्ध जर्मेनियम क्रिस्टल को n-टाइप अर्धचालक कहते हैं क्योंकि इसमें आवेश वाहक (मुक्त इलेक्ट्रॉन) ऋणात्मक होते हैं। अपद्रव्य परमाणुओं को दाता परमाणु परमाणु परमाणु कहते हैं क्योंकि ये क्रिस्टल को चालक इलेक्ट्रॉन प्रदान करते हैं।






Comments ME4Jc67DDkAOO4583 on 05-08-2021

Rajan rathotr

Ashok on 24-06-2021

Write a short note on organic charge transfer complex

Anshu on 18-10-2020

Cristalin solid kya hai

Rgggg on 19-02-2020

Explain intrinsic and extrinsic semiconductor material with and type

Sulochana on 03-01-2020

Doping me kitna ashuddhi milate hai

Ravi shanker Prasad on 19-12-2019

Biyer chhalakata aantrik ardhchalak ke paribhasha ko bataen bhaiya ardhchalak do Prakar ke hote hain and type ardhchalak P type ardhchalak donon ka definition bataen


Dalchand patel on 14-08-2018

What is defrent is been pure and in pure semiconductor



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment