पाहुल प्रणाली क्या है

पाहुल Pranali Kya Hai

Pradeep Chawla on 04-09-2018

गुरु गोविन्द ने ‘पाहुल प्रणाली’ को आरम्भ किया। इस प्रणाली में दीक्षित होने वाले व्यक्ति को ‘खालसा’ कहा गया। ‘खालसा पंथ’ की स्थापना गुरु गोविन्द सिंह ने 1699 ई. में की। उनके धर्म में दीक्षित होने वाले व्यक्ति को 'पंच ककार'- केश, कंघा, कृपाण, कच्छ और कड़ा ग्रहण करना पड़ता था। उनके द्वारा नाम के अंत में ‘सिंह’ शब्द का प्रयोग प्रारम्भ हुआ। गुरु गोविन्द ने ‘दसवें बादशाह का ग्रंथ’ नामक एक पूरक ग्रंथ का संलकन किया। एक धर्मोन्मत्त अफ़ग़ान ने 1707 ई. के अन्त में गोदावरी नदी के निकट नांदेर नामक स्थान पर गुरु गोविन्द सिंह को छुरा मार दिया, जिससे उनकी मृत्यु हो ग



Comments Rashmi on 21-06-2020

Pahul pranali kya hai

Gk question on 29-12-2019

Gk ka question

Student on 06-10-2019

Bhai question Ka answer de na

मनोज on 12-05-2019

पाहुल



Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment