हरयाणवी लोक गीत इन हिंदी

हरयाणवी Lok Geet In Hindi

Gk Exams at  2018-03-25

GkExams on 12-02-2019

गाँधी पर हरयाणवीझूलण आल़ी | लोकगीत|झूलण आल़ी | लोकगीत|झूलण आल़ी | लोकगीत|झूलण आल़ी | लोकगीत - म्हारा हरियाणा संकलन झूलण आल़ी बोल बता के बोलण का टोटा
झूलण खातर घाल्या करैं सैं पींग सामण में
मीठी बोली तेरी सै जणो कोयल जामण में
तेरे दामण में लिसकार उठै चमक रिहा घोटा
झूलण आल़ी बोल बता के बोलण का टोटा
लरज लरज कै जावै से योह जामण की डाली
पड़ के नाड़ तुडा लै तैं रोवै तन्नै जामण आली
तेरे ढुंगे पै लटकै काला नाग सा मोटा
झूलण आल़ी बोल बता के बोलण का टोटा
मोटी मोटी अंखियां के माह डोरा स्याही का
के के गुण मैं कहूं तेरी इस नरम कलाई का
चन्द्रमा सा मुखड़ा तेरा जणों नूर का लोटा
झूलण आल़ी बोल बता के बोलण का टोटा



Comments

आप यहाँ पर हरयाणवी gk, गीत question answers, general knowledge, हरयाणवी सामान्य ज्ञान, गीत questions in hindi, notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।
आपका कमेंट बहुत ही छोटा है



Register to Comment