संविधान दिवस माहिती मराठी

Samvidhan Diwas माहिती MaRaathi



GkExams on 25-11-2022


संविधान दिवस (Constitution Day : 26th November) : प्रतिवर्ष पुरे भारत में 26 नवंबर को संविधान दिवस मनाया जाता है। इस अवसर पर संसद भवन से लेकर सभी सरकारी संस्थाओं में तरह तरह के कार्यक्रम आयोजित किए जाते हैं। वहीं इस दिन के इतिहास व महत्व का जिक्र करने के लिए भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया जाता है।

Samvidhan-Diwas-माहिती-MaRaathi


संविधान दिवस पर भाषण :




सबसे पहले आप - मंच पर चढ़ते ही बाबा साहब के शानदार कोट्स से सभी को संविधान दिवस (Constitution Day Speech In Hindi) की बधाई दें। इसके बाद मंच पर उपस्थित प्रधानाचार्य महोदय, अतिथिगण व सभा में उपस्थित सभी छात्रों का अभिवादन करें और बेहिचक पूरे जोश व उत्साह के साथ अपने भाषण को लोगों के सामने पेश करें।


नमस्कार,


सभी को सुप्रभात, सुनील चौधरी यहां पर उपस्थित आदरणीय मुख्य अतिथि महोदय, प्रधानाचार्य महोदय समस्त विद्वान् गुरुजनों को तहे दिल से धन्यवाद देना चाहता हूं कि मुझे आज संविधान दिवस (Essay on constitution day) पर भाषण देने का शुभ अवसर प्राप्त हुआ है जैसा कि आप जानते हैं कि आज हम सभी लोग संविधान दिवस के उपलक्ष में इकट्ठा हुए हैं।


आप सभी जानते हैं आजादी के बाद देश (constitution day of india) का संचालन करने के लिए एक व्यवस्था की जरूरत थी, जिसमें कानून व्यवस्था, शासन व्यवस्था के नियम हों और हर नागरिक को सम्मान मिले व मानवीय मूल्यों का सम्मान हो।


दोस्तों हमारा भारत एक लोकतांत्रिक देश (who made constitution of india) है जो भारतीय संविधान के अनुसार चलता हैं। जिसके मुताबिक देश का प्रत्येक नागरिक एक समान है कोई छोटा और ना ही कोई बड़ा है और कानून से और संविधान से बड़ा देश में कोई नहीं है सभी को संविधान और कानून का पालन करना होगा।


आप सभी की बेहतर जानकारी के लिए बता दे की दुनिया के 60 देशों के संविधान (making of indian constitution) को पढ़ने के बाद हमारा संविधान तैयार किया गया। संविधान सभा में कुल 389 सदस्य थे, जिसमें 12 महिलाएं शामिल थी। 26 नवंबर 1949 को संविधान सभा ने वर्तमान संविधान को विधिवत रूप से अपनाया, वहीं 26 नवंबर 1950 को संविधान पूर्ण रूप से लागू किया गया।


दोस्तों भारत का संविधान काफी बहुमूल्य और वक्त के अनुरूप काफी उपयोगी था क्योंकि भारत के साथ कई ऐसे देश है जो याद हुए और उनका संविधान भी बनाया गया लेकिन उन्होंने बार-बार बदलना पड़ा। लेकिन भारत का संविधान आज भी उसी तरह है जैसा पहले था और हमारा देश तेजी के साथ विकास के रास्ते पर हो पाया है।


उसके पीछे की सबसे बड़ी वजह है कि हमारा संविधान क्यों किस भारतीय संविधान में सभी धर्म और जाति वर्ग के लोगों को एक नजर से देखा गया है किसी के साथ कोई भी भेदभाव नहीं किया गया है। यही वजह है कि भारत में लोकतंत्र की जड़े तेजी के साथ खेल रही है तो उसके पीछे संविधान की ताकत है।


इसलिए मैं देश के प्रत्येक नागरिक से अनुरोध करूंगा कि वह भारतीय संविधान का समान और आदर करें। यही बात कहकर मैं अपना भाषण समाप्त करूंगा , धन्यवाद !!




सम्बन्धित प्रश्न



Comments

आप यहाँ पर संविधान gk, दिवस question answers, मराठी general knowledge, संविधान सामान्य ज्ञान, दिवस questions in hindi, मराठी notes in hindi, pdf in hindi आदि विषय पर अपने जवाब दे सकते हैं।

Labels: , , , , ,
अपना सवाल पूछेंं या जवाब दें।




Register to Comment